ब्लॉग

मेडिसिन के क्षेत्र की 4 अग्रणी भारतीय महिलायें

Published by
Farah

भारत में स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र भी अन्य उद्योगों की तरह परंपरागत रूप से पुरुषों का वर्चस्व वाला रहा है. हालांकि बीते हुए कुछ वर्षों में कई भारतीय महिलाओं ने चिकित्सा क्षेत्र में विशेष रूप से बाल चिकित्सा, प्रसूति विज्ञान और स्त्री रोग विज्ञान में अच्छा काम किया है.  इन महिलाओं ने न सिर्फ स्वास्थ्य उद्योग में बदलाव लाया है बल्कि इन्होंने इस क्षेत्र में दूसरी महिलाओं के लिये रास्ते खोल दिये है. हम आपको चार महिलाओं के बारे में बता रहे है:

डॉ सावित्री श्रीवास्तव

डॉ सावित्री श्रीवास्तव बाल चिकित्सा और कोइजेनिटल हार्ट रोग, फोर्टिस एस्कॉर्ट्स हार्ट इंस्टीट्यूट और रिसर्च सेंटर, नई दिल्ली की निदेशक हैं. और इन्होंने इस सूची में जगह बनाई है उसका कारण यह है कि डॉ सावित्री भारत की पहली चिकित्सक था जिन्होंने अत्यधिक जटिल बैलून मिट्रल वाल्वोटोमी प्रक्रिया की थी. वह भारत में बाल चिकित्सा और जन्मजात हृदय रोगों को बगैर शल्य चिकित्सा की करने वाली पहली डॉक्टर भी थी.

डॉ नंदिनी मुंडकुर

एक बाल रोग विशेषज्ञ के तौर पर डॉ मुंडकुर ने बाल विकास सम्बन्धी विकारों की प्रारंभिक पहचान और हस्तक्षेप  में बहुत अच्छा काम किया है और इस क्षेत्र में बड़ी सफलता हासिल करने में कामयाब रही है. वह इंटरनेशनल चिल्डन पीस काउंसिल की निदेशक भी हैं जहां पर वह देश भर के बच्चों के लिए सामाजिक भावनात्मक शिक्षण कार्यक्रमों को चला रही है. डॉ. मुंडकुर सेंटर फार चाइल्ड डेवलपमेंट एंड डिसेबिलिटी की संस्थापक भी हैं.

डॉ. इंदिरा इंदुजा

एक भारतीय स्त्री रोग विशेषज्ञ, प्रसव चिकित्सक और बांझपन विशेषज्ञ, डॉ इंदुजा हमारे देश के सबसे जाने माने डॉक्टरों में से एक है. उन्होंने भारत की पहली टेस्ट ट्यूब बेबी का जन्म कराया साथ ही मेनोपाज़ और ओवेरियन रोगियों के लिए ओसाइट डोनेशन तकनीक भी विकसित की. वह गैमेटे इंट्राफ्लोपियन ट्रांसफर (जीआईएफटी) तकनीक को विकसित करने वाली और जीआईएफटी बेबी को जन्म देने वाली पहली डाक्टर हैं.

डॉ कामिनी राय

डॉ इंदुजा की तरह, डॉ राव भी देश में सहायक प्रजनन के क्षेत्र में अग्रणी डाक्टर में से एक हैं. बीएसीसी (बैंगलोर असिस्टेड कॉन्सेप्शन सेंटर) की चेयरपर्सन और मेडिकल डायरेक्टर डॉ कामिनी देश की पहली महिला डाक्टर थी जिन्होंने एसआईएफटी बच्चे की डिलीवरी की और दक्षिण भारत के पहले वीर्य बैंक की स्थापना भी इन्होंने ही की थी. 34 वर्षों के अनुभव के साथ डॉ राव प्रजनन से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर महिलाओं की मदद कर रही है और इस क्षेत्र में बदलाव लाने वाली डाक्टर साबित हो रही है.

Recent Posts

गहना वशिष्ठ का वीडियो सोशल मीडिया पर हुआ वायरल : इंस्टाग्राम पर नग्न होकर दर्शकों से पूछा कि क्या यह अश्लीलता है?

गंदी बात अभिनेत्री गहना वशिष्ठ (Gehana Vasisth) की एक इंस्टाग्राम लाइव वीडियो सोशल मीडिया पर…

1 hour ago

बच्चों को कोरोना कितने दिन तक रहता है? लांसेट स्टडी में आए सभी जवाब

कोरोना की तीसरी लहर जल्द ही शुरू होने वाली है और एक्सपर्ट्स का ऐसा कहना…

2 hours ago

गहना वशिष्ठ वायरल वीडियो : कैमरे के सामने नग्न होकर दर्शकों से पूछा कि क्या वह अश्लील लग रही है ?

वशिष्ठ ने कैमरे के सामने नग्न होकर अपने दर्शकों से पूछा कि क्या वह अश्लील…

2 hours ago

अक्षय कुमार और लारा दत्ता की फिल्म बेल बॉटम (Bell Bottom) से जुड़ीं 10 बातें

इस फिल्म में एक्ट्रेस लारा दत्ता इंदिरा गाँधी का किरदार निभा रही हैं और अक्षय…

2 hours ago

दिल्ली कैंट गर्ल रेप केस: राहुल गाँधी बच्ची के परिवार से मिलने पहुंचे

परिवार से मिलने के कुछ समय बाद, गांधी ने हिंदी में ट्वीट किया और कहा…

3 hours ago

बेल बॉटम ट्रेलर : ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा लारा दत्ता ट्रांसफॉर्मेशन (Bell Bottom Trailer)

दत्ता ट्रेलर में पहचान में न आने के कारण ट्विटर पर ट्रेंड कर रही हैं।…

3 hours ago

This website uses cookies.