ब्लॉग

14 साल की इंडो-अमेरिकन उद्यमी तारीनी डांग से मिलिये

Published by
Farah

चौदह वर्षीय तारीनी कौर डांग एक असली उदाहरण है कि अगर बच्चें कुछ करना चाहते है तो वो उसे हासिल भी कर लेते है. एक उद्यमी, लेखक और एक उद्यमी पूंजीपति, आठवीं कक्षा की यह लड़की बहुत कुछ हासिल कर चुकी है जो लोग हासिल नही कर पाते है.

तारीनी यंग अमेरिकन-इंडियान एवार्ड जीतने वाली सबसे कम उम्र की हैं, जिसे उन्हें अमेरिका में  भारतीय राजदूत नवतेज सरना ने दिया. उन्होंने एक पुस्तक ‘द यंग एस्पिरिंग इंटरप्रेन्योर’ भी लिखी- जिसका प्रस्ताव इंटेल कैपिटल प्रेसिडेंट वेंडेल ब्रूक्स द्वारा लिखा गया है. इसमें स्टैनफोर्ड प्रोफेसर चक एस्ले, इंटेल के मुख्य विविधता अधिकारी बारबरा व्हाई, ओरेकल पूर्व प्रेसिडेंट रे लेन, टीआईई ग्लोबल के पूर्व अध्यक्ष वेंक शुक्ला और लेखक लिंडा स्विंडलिंग के उदाहरण शामिल हैं. इसके अलावा तारीनी ने शीर्ष सम्मेलनों में भी बात की है, जैसे कि गूगल लॉन्चपैड फीमेल फाउंडरर्स समिट, कोलिज़न कान्रें हस, टीईई इन्फलेक्ट, एटीईए इत्यादि.

तारीनी के माता-पिता, सिलिकॉन वैली में आप्रवासी भारतीय है और दोनों ही पीएचडी हैं. वह अक्सर अपने पिता के साथ प्रौद्योगिकी सम्मेलनों में जाती थीं और उसी से उनका रुख उद्यमिता की ओर हो गया. उसने SheThePeople.TV को बताया, “मैं हर साल टियिकॉन के लिये कई सालों से जाती थी. 2018 में पहली बार टियिकॉन में मैं एक स्पीकर बनी. ”

वह 10 साल की उम्र तक काफी यात्री भी कर चुकी है. वह पहले ही 10 देशों की यात्रा कर चुकी है, यही कारण है कि वह खुद को “ग्लोबल ट्रेवलर” कहती है.

इतनी कम उम्र में, उसने अपनी फर्म – डांग कैपिटल – मूल रूप से एक वीसी फर्म शुरू करने का फैसला किया. उसने बताया कि वह एक उद्यमी क्यों बन गई,

“मैं दूसरों को अपने उद्यमों को बढ़ाने और नौकरियां बनाने में मदद करना चाहती हूं. यही कारण है कि, मैंने डांग कैपिटल बनाया. मैं एलिजाबेथ गैलबट और पॉकेट सन से भी प्रेरित हूं जिन्होंने विविधता स्टार्टअप में निवेश करने के लिए सोगल वेंचर्स की शुरुआत की.”

कम उम्र में शुरू करने के अपनी स्वयं के फायदे और नुकसान है और डांग को भी चुनौतियों का सामना करना पड़ा. प्रारंभिक चुनौती यह थी जब लोगों को उन पर भरोसा नही था कि वह इतनी कम उम्र में उद्यमी बन सकती है. वह बताती है, “कोई भी मानने को तैयार नही था कि मैं एक उद्यमी या वेंचर कैपिटल बन सकती, एक लड़की और एक युवा होने के नाते. सभी ने अनुभव की कमी के बारे में बात की लेकिन किसी ने ज्ञान और योग्यता (उम्र के बावजूद) के बारे में बात नहीं की. मैं सिलिकॉन वैली में थी इसके बावजूद मुझे लिंग पूर्वाग्रह का भी सामना करना पड़ा. ”

उनकी अन्य पहलों में मिलियन चैंप शामिल हैं, जिसका मक़सद अनिवार्य रूप से एक मिलियन युवा उद्यमियों के पूल का निर्माण करना है. तारीनी ने कहा, “मुझे विश्वास है कि केवल उद्यमी दुनिया की सबसे बड़ी समस्याओं को हल कर सकते हैं. तो, मैं 1 मिलियन युवा उद्यमियों को बनाने के मिशन में हूं.”

वह युवा बच्चों को उद्यमिता भी सिखाती है. डांग ने मिलियन चैंप बनाते समय अपनी पुस्तक लिखी. उन्होंने महसूस किया, “कुछ मौलिक चीज़ों की कमी थी.  बच्चे कदम चल कर सीखते हैं! बच्चों के लिए उद्यमशीलता सीखने के लिए कोई अच्छी किताब उपलब्ध नहीं थी या संरचित तरीका नहीं था. इसलिए, मैंने एक युवा व्यक्ति के दृष्टिकोण से एक पुस्तक लिखने का फैसला किया. ”

ऐसे युवा उद्यमी होने पर, तरीनी ने कहा, “मैं वास्तव में विपरीत महसूस करती हूं! मेरा मानना है कि उद्यमिता प्राथमिक विद्यालय में एक आवश्यक पाठ्यक्रम होना चाहिए. यदि आप कम उम्र में एक नया उद्यम बनाने की भावना पैदा करते हैं, तो मैं शर्त लगाती हूं कि दुनिया न केवल आर्थिक रूप से बल्कि सामाजिक रूप से भी एक बेहतर जगह होगी. हम नई उम्र के निर्माताओं को पैदा करेंगे,  न केवल बुकवार्म. मुझे लगता है कि केवल उद्यमशीलता दुनिया को बराबरी पर ला सकती है! उम्र सिर्फ एक संख्या है. आप किसी भी उम्र में बहुत कुछ प्राप्त कर सकते हैं, आप ही सीमा तय कर सकते हैं.”

यह पूछे जाने पर कि क्या वह अपने साथियों से अलग महसूस करती है, तारीनी ने कहा, “नहीं, मैं नहीं हूं. मैं एक विनम्र किशोरी हूं जो दूसरों की मदद करने में आगे आ रही है. मेरे बारे में एकमात्र चीज यह है कि मैं हार नहीं मानती और मैं लंबे समय तक विषय के साथ रहती हूं. मेरी माँ ने मुझे किसी विषय के बारे में बात करने की बजाय बताया कि उस पर अमल करुं. ”

“मुझे रोबोट बनाने का पूरा विचार, जो मानव कार्यों को संचालित और निष्पादित कर सकता है बहुत ही अच्छा लगता है. मैं एक दिन अपना एक व्यक्तिगत रोबोट रखना चाहती हूं जो मेरे सभी सांसारिक कार्यों को करेगा!”

तारीनी के माता-पिता ने शुरुआत से उद्यमिता के लिए उसके फैसले का समर्थन किया. वास्तव में, वह महसूस करती है कि दुनिया के हर माता-पिता को अपने बच्चों को उद्यमिता के बारे में बात करनी चाहिये और इसके लिये उन्हें 30 मिनिट हर दिन रखने चाहिये.

अंतरराष्ट्रीय मंचों पर बोलने के अलावा, तारीनी ने ‘ला ला लेंड’ नामक एक टीवी शो पर एलन मस्क की बहन तोस्का मस्क के साथ प्रस्तुती दी है. और वह रोबोटिक्स में भी रूचि रखती है.

उसने बताया, “रोबोटिक्स ने मुझे 7 वीं कक्षा में आकर्षित किया, क्योंकि मुझे रोबोट बनाने का पूरा विचार मिला जो मानव कार्यों को संचालित और निष्पादित कर सकता है. मैं एक दिन एक व्यक्तिगत रोबोट चाहती हूं जो मेरे सभी सांसारिक कार्यों को करेगा!”

अब जबकि पूरी दुनिया तारीनी के सामने नज़र आ रही है, वह “युवाओं (22 वर्ष से कम आयु) और महिलाओं (किसी भी उम्र) में निवेश के लिए डांग कैपिटल नामक एक वेंचर कैपिटल फंड बनाना चाहती है.”

“मैं दुनिया को ऐसा बनाना चाहती हूं जो महिलाओं को समान रूप से सम्मान दें. मैं चाहती हूं कि हर जवान लड़की सपना देखें क्योंकि मेरी मां ने मुझे सिखाया था कि सपने देखने वाली लड़कियां ऐसी महिला बनती है जिनके पास विज़न होता हैं! “

Recent Posts

Tapsee Pannu & Shahrukh Khan Film: तापसी पन्नू और शाहरुख़ खान कर रहे साथ में फिल्म “Donkey Flight”

इस फिल्म का नाम है "Donkey Flight" और इस में तापसी पन्नू और शाहरुख़ खान…

19 hours ago

Raj Kundra Porn Case: शिल्पा शेट्टी के पति ने कहा कि उन्हें “बलि का बकरा” बनाया जा रहा है

पोर्न रैकेट चलाने के मामले में बिज़नेसमैन राज कुंद्रा ने शनिवार को एक अदालत में…

21 hours ago

हैवी पीरियड्स को नज़रअंदाज़ करना पड़ सकता है भारी, जाने क्या हैं इसके खतरे

कई बार महिलाओं में पीरियड्स में हैवी ब्लड फ्लो से काफी सारा खून वेस्ट हो…

21 hours ago

झारखंड के लातेहार जिले में 7 लड़कियां की तालाब में डूबने से मौत, जानिये मामले से जुड़ी ज़रूरी बातें

झारखंड में एक प्रमुख त्योहार कर्मा पूजा के बाद लड़कियां तालाब में विसर्जन के लिए…

21 hours ago

झारखंड: लातेहार जिले में कर्मा पूजा विसर्जन के दौरान 7 लड़कियां तालाब में डूबी

झारखंड के लातेहार जिले के एक गांव में शनिवार को सात लड़कियां तालाब में डूब…

22 hours ago

This website uses cookies.