20 Sexiest Dialogues जो हमें माँ से सुनने मिलते हैं

20 Sexiest Dialogues जो हमें माँ से सुनने मिलते हैं 20 Sexiest Dialogues जो हमें माँ से सुनने मिलते हैं

Swati Bundela

28 May 2022

Sexiest Dialogues: मां के मुंह से हर दिन सुने जाने वाले 20 सेक्सिस्ट ताने, जो हमारा दिल दुखाते हैंबचपन से लेकर आज तक मेरी मां ने मुझे यह बात कभी भूलने ही नहीं दी कि मैं एक लड़की हूं और लड़की होने से मां का मतलब मेरी जिम्मेदारियों से परिचय कराना था।

ऐसा नहीं है की मां मेरे बारे में गलत सोचती है पर हमारे समाज में पैट्रिआर्की इस तरह से समाई हुई है कि वो न सिर्फ मर्दों बल्कि औरतों में भी आसानी से देखने को मिलती है और इसका उपाय सिर्फ एक ही है कि ज्यादा से ज्यादा इन चीजों पर बात की जाए। जिससे लोगों में जागरूकता आ सके..

1. सब खाया करो वर्ना लोग कहेंगे बेटी को सिर पर चढ़ा कर रखा है

मेरे खाने से मेरे अच्छे और खराब होने का जजमेंट देने का हक किसने दिया इस समाज को? ज्यादा नखरे वाली लड़की होगी तो कोई शादी नहीं करेगा इसलिए चुप चाप जो मिले वो खा लेना चाहिए?  बिल्कुल भी नहीं..

2. पापा के सामने ऐसे पैर फैला कर मत बैठो 

क्या हम अपने घर में परिवार वालों के सामने भी अपने कंफर्ट जोन में नहीं रह सकते? क्या घर में भी कैसे बैठना जैसी छोटी चीजें छोड़ी नहीं जा सकती? क्या ये हमारे भाइयों को भी सिखाया जाता है? नहीं ना फिर हमें क्यों? हम भी तो इंसान है।

3. तुम हमारी बेटी नहीं बेटा हो

मैं बेटी हूं ये बात गर्व की नहीं हो सकती है क्या? मैं एक प्राउड बेटी हूं.. मुझे बेटा कहना बंद करिए।

4. इतना छोटा टॉप मत पहनो लोग क्या कहेंगे

कपड़ों से जज होना हम लड़कियों के लिए कोई नई बात नही है पर जब हमारी खुद की मां ही हमें ऐसे बोलती है तो बहुत बुरा लगता है।

5. भाई से तो बोल रही हो पति से भी खाना बनवाएगी 

क्यों नहीं? पति या भाई खान क्यों नहीं बना सकते ? क्यों खाने की जिम्मेदारी सिर्फ मेरी ही हो ? खाना कब से किसी एक जेंडर का काम हो गया ?

6. सास ससुर के सामने हमारी नाक कटवायेगी

अगर मैं अपने फैसले खुद लेती हूं, अपने हिसाब से जीती हूं तो इसमें नाक कहां से  कट रही है ? क्या अपनी खुशी से जिंदगी जी सकूं ये मेरे पेरेंट्स नहीं चाहते ?

7. औरतों को तेज आवाज में बात नहीं करना चाहिए

हमारे समाज को धीरे बोलने वाली लड़कियां इतनी पसंद है की उन्होंने अच्छी लड़कियों का दायरा ही बना दिया धीरे बोलना.. जो की गलत है।

8. बेटियां तो पराया धन होती है

पहली बात तो मैं धन नहीं हूं और दूसरी बात की पराई तो बिल्कुल भी नहीं हूं.. मेरे पेरेंट्स का घर मेरा भी घर है जितना की मेरे भाई का

9. पढ़ाई लिखाई सब ठीक है पर खाना बनाना सीख लो

21वी सदी में भी औरतों के जीवन में पढ़ाई से ज्यादा महत्व खाना बनाने को दिया जाता है, क्या हमारी पढ़ाई उतनी ही जरूरी नही है जितनी हमारे भाई की?

10. ऐसे फेमिनिस्ट वाली बातें करोगी तो कोई लड़का शादी नहीं करेगा

क्या अपने अधिकारों पर बात करना गलत है ? क्या कोई लड़का सिर्फ इसलिए हमसे शादी नहीं करेगा की हम अपनी जिंदगी अपनी तरह से जीना चाहते है? और अगर कोई लड़का ऐसा सोचता है तो चाहिए ही नही वो लड़का..

11. अच्छी लड़कियां लड़कों से दोस्ती नहीं करती है

हमारे समाज की हिसाब से अच्छी लडकी वो है जो चार दिवारी में रहे और लड़कों से बात ना करे, जो लड़की लड़कों से बात करते हैं उसे चरित्रहीन बना दिया जाता है।

12. तुम्हारे उम्र की सब लड़कियों को शादी हो गई और तुम्हे पता नही कब तक पढ़ाई करनी है

मेरी पढ़ाई , मेरी जॉब, मेरी अचीवमेंट तब तक इंपोर्टेंट नहीं है जब तक मैं शादी नहीं कर लेती ? क्या एक मर्द मेरी अचीवमेंट की चाभी बनेगा?

13. जहां जाना है शादी के बाद पति के साथ जाना

मेरे लिए आजादी की चाभी बनेगा एक आदमी जिससे मेरी शादी होगी और उसके पहले मेरी खुद को कोई आजादी नहीं है ?

14. शादी के पहले रेड लिपस्टिक मत लगाया करो

हम सब जानते हैं कि हमारे माएं हमें रेड लिपस्टिक  लगाने से क्यों मना करती है। क्योंकि उनके हिसाब से प्रॉस्टिट्यूट रेड लिपस्टिक लगाती हैं।

15. टीचर या बैंक की जॉब कर लो वो तुम्हारे फ्यूचर के लिए भी सेफ रहेगा

हम लड़कियों को हमेशा बताया जाता है कि करियर ऐसा चुनो जिसने शादी के बात तुम घर और जॉन दोनो मैनेज कर सको पर सवाल ये है की हमें ही दोनों संभालने की जिम्मेदारी क्यों उठानी है?

16. देर रात तक घर से बाहर मत रहा करो

यह सेंटेंस सिर्फ मां का कंसर्न नही होता है इसमें छिपा होता है समाज द्वारा दिया जाना वाला कैरेक्टर सर्टिफिकेट की लडकी इतनी देर तक बाहर है जरूर कुछ गलत ही वजह होगी।

17. पीरियड्स में मंदिर में बिल्कुल मत जाना

हमारे समाज की एक गलत मानसिकता है की पीरियड्स एक अशुद्ध चीज है और मंदिर एक शुद्ध और पवित्र जगह.. पर सवाल यह है की वो चीज जिससे दुनिया बसी है वो अशुद्ध कैसे हुआ? क्या ये साइड एक पितृसत्तात्मक सोच नही है?

18.  मेंस्ट्रुअल कप शादी के पहले मत यूज करो

एक तो हमारे समाज में औरतों को लेकर इतनी गलत धारणाएं हैं वहीं लोगों को लगता है की लडकी अगर कप उसे कर रही है तो पक्का वर्जिन नही होंगी जबकि कप का आपकी वर्जिनिटी से कोई लेना देना ही नहीं है।

19. शरीर का ध्यान दो अपने

अभी से मोटी हो जाओगी तो लड़का मिलने में दिक्कत होगीअपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना जरूरी है अच्छी बात भी है पर मैं कैसे दिखती हूं, कैसा फिगर है, और लड़का कैसे पसंद करेगा हमेशा हमें इस बात पर फोर्स किया जाता है जो कि गलत है।

20. बाल छोटे और कलर कराने की बिल्कुल जरूरत नहीं है

अच्छी लड़कियों के मायने इतने सारे बना दिए हैं गए की अगर एक आम लड़की छोटे बालों में दिखे तो फटाक से जजमेंट आ जाता है अरे उसने बाल कलर कराए हैं। वैसे टाइप की लडकी है..

अनुशंसित लेख