HIV Transmission Myths : HIV संक्रमण से जुड़े मिथ्स और फैक्ट्स ज़रूर जानें

Swati Bundela
03 Jul 2021
HIV Transmission Myths : HIV संक्रमण से जुड़े मिथ्स और फैक्ट्स ज़रूर जानें

एचआईवी मुख्यत सेक्सुअली ट्रांसमिट होने वाला वायरस होता है जिसके कारण किसी भी व्यक्ति के शरीर में उसका इम्यून सिस्टम कमज़ोर होने लगता है और वह आखिर में एड्स का शिकार हो सकता है। कई लोग HIV और AIDS को एक ही मानते हैं जबकि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है तो आइए जानतें हैं HIV संक्रमण मिथ्स क्या होते हैं?

HIV संक्रमण मिथ्स


1. एचआईवी सिर्फ सेक्स से फैलता है


लोगों का मानना होता है कि एचआईवी सिर्फ सेक्सुअली एक्टिव होने से ही फैलता है जबकि ऐसा नहीं है।

फैक्ट : hiv वायरस शरीर में मां से बच्चे तक, किसी एचआईवी संक्रमित व्यक्ति के लिए इस्तेमाल की गई सुई या इंजेक्शन का असंक्रमित में लगने से, इंफेक्टेड ब्लड के कॉन्टैक्ट में आने से और सेक्स के दौरान फैल सकता है।

2. एचआईवी छूने से संक्रमित होता है


अगर आप ये सोचते हैं कि किसी एचआईवी के मरीज को छूने से आपको भी एचआईवी हो सका हुआ तो आप गलत हैं।

फैक्ट: HIV संक्रमण सिर्फ सेक्स, ब्लड ट्रांसपोर्टेशन, प्रेगनेंसी, ब्रेस्टफीडिंग इत्यादि से ही हो सकता है।

3. एचआईवी और एड्स एक ही होते हैं


कई लोग ऐसे अमानते हैं कि एचआईवी और एड्स दोनों एक ही बीमारी के दो नाम हैं।

फैक्ट : नहीं, एचआईवी और एड्स में काफी बड़ा अंतर है और वो यह है कि HIV एक वायरस है जो संक्रमित हो सकत है और AIDS एक बीमारी है जो HIV के कारण होती है।

AIDS हर HIV से संक्रमित व्यक्ति को नहीं होता है लेकिन हर एड्स की बीमारी वाले इंसान को HIV संक्रमण होता है।

4. HIV संक्रमित व्यक्ति को देख कर ही पहचाना जा सकता है


ऐसा कभी भी पॉसिबल ही नहीं हो सकता है कि आप बिना पहले से जानें किसी एचआईवी से पीड़ित व्यक्ति को देख कर ही उसके संक्रमण के बारे में बता दें।

फैक्ट : एचआईवी वायरस व्यक्ति के शरीर को पहले अंदर से कमज़ोर करना शुरू करता है जिसके कारण उसके चेहरे पर थकावट, पीलापन इत्यादि देखने को मिल सकता है लेकिन ऐसा कोई सिंबल नहीं होता जिससे आप एचआईवी संक्रमित को देख कर पहचान सकें।

तो ये थे एचआईवी संक्रमण से जुड़े कुछ मिथ्स जिनपर आप भूल कर भी विश्वास नहीं करें।

अनुशंसित लेख