ब्लॉग

जानिए थेरेपी के बारे में 4 मिथ्स

Published by
Isha Rawat

नेशनल मेंटल हेल्थ सर्वे 2015-16 के अनुसार, 150 मिलियन भारतीयों को अपने मेंटल हेल्थ संबंधित प्रॉब्लमस की देखभाल करने की जरूरत है। थेरेपी का विचार असामान्य नहीं है। थेरेपी के लिए सामान्य होना महत्वपूर्ण है ताकि हम साइकोलॉजिस्ट पर जाते वक़्त सहज महसूस कर सकें, जैसे कि हम अपनी  फिजिकल इलनेस के लिए डॉक्टर के पास जाते हैं।

जानिए थेरेपी के बारे में 4  मिथक 

मिथ – थेरेपी केवल “गंभीर” मेंटल इलनेस वाले लोगों के लिए है

थेरेपी केवल उन लोगों के लिए रिजर्व्ड नहीं है जिनके पास “गंभीर” मानसिक स्वास्थ्य मुद्दें हैं। हालांकि यह गंभीर बीमारियों से जूझ रहे लोगों के लिए एक इनवेल्युएबल रिसोर्स  है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप मदद नहीं मांग सकते। ज्यादातर थेरेपिस्ट आपको आने के लिए इनकरेज करेंगे यदि आप सीरियस लाइफ चेंजेस से गुजर रहे हैं।

मिथ – अगर मैं एक बार जाता हूं, तो मुझे हमेशा के लिए जाते रहना होगा

थेरेपी आपके कंफर्ट के बारे में है। जबकि ज्यादातर थैरेपिस्ट  आपको कुछ समय के लिए नियमित रूप से उनसे मिलने का आग्रह करेंगे। आपको अपने डर को टेक ओवर नहीं करने देना है। बार बार प्रयास (try) करने से घबराए नहीं, इसमें समय लग सकता है, एक ऐसा थेरेपी ढूंढने में जिसके साथ आप कंफर्टेबल फील करें।

और पढ़ें – क्या आपके आस पास कोई डिप्रेस्ड है ? जानिए डिप्रेशन के 7 लक्षण

मिथ – यह मेरे बचपन के बारे में सिर्फ बातें करना और बात करना है

फिल्मों ने थेरेपी को एक खराब रेपुटेशन दी है। थेरेपी आपके पास्ट के बारे में बिल्कुल नहीं है। यह आपके प्रेजेंट के बारे में है। थैरेपिस्ट केवल worldly एडवाइस नहीं देते हैं; वे  प्रैक्टिकल एडवाइस देते हैं। वे आपको अपनी परेशानियों का हल खोजने के लिए गाइड करते हैं, सही गलत की पहचान कराते है।

मिथ – मैं अकेले अपनी प्रॉब्लम सॉल्व कर सकता हूं

कई बार हम स्ट्रेस, एंजाइटी, लो मुड, का सामना करते हैं और इन प्रॉब्लम्स को खुद ही सॉल्व कर लेते हैं। लेकिन कभी-कभी, हम खुद अपनी प्रॉब्लम सॉल्व करने में फेल हो जाते हैं। अगर आप अपने सिम्टम्स को बिगड़ते हुए देखते हैं, तो शायद यह मदद पाने का समय है। मदद मांगने में कोई शर्म नहीं है। थेरेपी अक्सर इमोशनली और व्यवहार (behavioral) प्रॉब्लम को दूर करने के लिए सबसे तेज़, सबसे इफेक्टिव रास्ता है।

और पढ़ें – शमिता शेट्टी ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद डिप्रेशन से उनकी लड़ाई के बारे में बताया

Recent Posts

ऐश्वर्या राय की हमशक्ल ने सोशल मीडिया पर मचाया तहलका, जानिए कौन है ये लड़की

आशिता सिंह राठौर जो हूँबहू ऐश्वर्या राय की तरह दिखती है ,इंटेरटनेट पर खूब वायरल…

38 seconds ago

आंध्र प्रदेश सरकार 30 लाख रुपये की नगद राशि के इनाम से पीवी सिंधु को करेगी सम्मानित

शटलर पीवी सिंधु को टोक्यो ओलंपिक में ब्रॉन्ज़ मैडल जीतने पर आंध्र प्रदेश सरकार देगी…

41 mins ago

Justice For Delhi Cantt Girl : जानिये मामले से जुड़ी ये 10 बातें

रविवार को दिल्ली कैंट एरिया के नांगल गांव में एक नौ वर्षीय लड़की का बलात्कार…

1 hour ago

ट्विटर पर हैशटैग Justice For Delhi Cantt Girl क्यों ट्रैंड कर रहा है ? जानिये क्या है पूरा मामला

दक्षिण-पश्चिम दिल्ली में दिल्ली कैंट के पास श्मशान के एक पुजारी और तीन पुरुष कर्मचारियों…

2 hours ago

दिल्ली: 9 साल की बच्ची के साथ बलात्कार, हत्या, जबरन किया गया अंतिम संस्कार

दिल्ली में एक नौ वर्षीय लड़की का बलात्कार किया गया, उसकी हत्या कर दी गई…

3 hours ago

रानी रामपाल: कार्ट पुलर की बेटी ने भारत को ओलंपिक में एक ऐतिहासिक जीत दिलाई

भारतीय महिला हॉकी टीम ने सोमवार (2 अगस्त) को तीन बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को…

17 hours ago

This website uses cookies.