नेशनल मेंटल हेल्थ सर्वे 2015-16 के अनुसार, 150 मिलियन भारतीयों को अपने मेंटल हेल्थ संबंधित प्रॉब्लमस की देखभाल करने की जरूरत है। थेरेपी का विचार असामान्य नहीं है। थेरेपी के लिए सामान्य होना महत्वपूर्ण है ताकि हम साइकोलॉजिस्ट पर जाते वक़्त सहज महसूस कर सकें, जैसे कि हम अपनी  फिजिकल इलनेस के लिए डॉक्टर के पास जाते हैं।

image

जानिए थेरेपी के बारे में 4  मिथक 

मिथ – थेरेपी केवल “गंभीर” मेंटल इलनेस वाले लोगों के लिए है

थेरेपी केवल उन लोगों के लिए रिजर्व्ड नहीं है जिनके पास “गंभीर” मानसिक स्वास्थ्य मुद्दें हैं। हालांकि यह गंभीर बीमारियों से जूझ रहे लोगों के लिए एक इनवेल्युएबल रिसोर्स  है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप मदद नहीं मांग सकते। ज्यादातर थेरेपिस्ट आपको आने के लिए इनकरेज करेंगे यदि आप सीरियस लाइफ चेंजेस से गुजर रहे हैं।

मिथ – अगर मैं एक बार जाता हूं, तो मुझे हमेशा के लिए जाते रहना होगा

थेरेपी आपके कंफर्ट के बारे में है। जबकि ज्यादातर थैरेपिस्ट  आपको कुछ समय के लिए नियमित रूप से उनसे मिलने का आग्रह करेंगे। आपको अपने डर को टेक ओवर नहीं करने देना है। बार बार प्रयास (try) करने से घबराए नहीं, इसमें समय लग सकता है, एक ऐसा थेरेपी ढूंढने में जिसके साथ आप कंफर्टेबल फील करें।

और पढ़ें – क्या आपके आस पास कोई डिप्रेस्ड है ? जानिए डिप्रेशन के 7 लक्षण

मिथ – यह मेरे बचपन के बारे में सिर्फ बातें करना और बात करना है

फिल्मों ने थेरेपी को एक खराब रेपुटेशन दी है। थेरेपी आपके पास्ट के बारे में बिल्कुल नहीं है। यह आपके प्रेजेंट के बारे में है। थैरेपिस्ट केवल worldly एडवाइस नहीं देते हैं; वे  प्रैक्टिकल एडवाइस देते हैं। वे आपको अपनी परेशानियों का हल खोजने के लिए गाइड करते हैं, सही गलत की पहचान कराते है।

मिथ – मैं अकेले अपनी प्रॉब्लम सॉल्व कर सकता हूं

कई बार हम स्ट्रेस, एंजाइटी, लो मुड, का सामना करते हैं और इन प्रॉब्लम्स को खुद ही सॉल्व कर लेते हैं। लेकिन कभी-कभी, हम खुद अपनी प्रॉब्लम सॉल्व करने में फेल हो जाते हैं। अगर आप अपने सिम्टम्स को बिगड़ते हुए देखते हैं, तो शायद यह मदद पाने का समय है। मदद मांगने में कोई शर्म नहीं है। थेरेपी अक्सर इमोशनली और व्यवहार (behavioral) प्रॉब्लम को दूर करने के लिए सबसे तेज़, सबसे इफेक्टिव रास्ता है।

और पढ़ें – शमिता शेट्टी ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद डिप्रेशन से उनकी लड़ाई के बारे में बताया

Email us at connect@shethepeople.tv