महाराष्ट्र में लॉकडाउन  – महाराष्ट्र स्टेट में COVID-19 के केसेस को रोकने के लिए 1 जून तक लॉकडाउन को बड़ा दिया गया है । गुरुवार को जारी हुए सरकारी आदेश में कहा गया है कि प्रतिबंध “चैन को तोड़ने” की तारीख के सुबह 7 बजे तक रहेगा। महाराष्ट्र में प्रवेश करने वालों के लिए जरुरी है नेगेटिव आरटीपीआर परीक्षण जैसे नए रुल्स भी शामिल थे।

महाराष्ट्र में कोरोना के क्या हालात हैं ?

महाराष्ट्र का लॉक डाउन वैसे तो 15 मई तक ख़त्म होने की उम्मीद थी। लेकिन कोरोना के मामलों में महाराष्ट्र सबसे आगे चल रहा है। यहाँ पर रोजाना करीब 50,000 केसेस देखे जाते हैं। इसके टोटल केसेस भी 52 लाख पार कर चुके हैं और यहाँ 78,000 लोगों की डेथ हो चुकी है।

लॉकडाउन में क्या क्या बंद रहेगा और क्या चालू ? महाराष्ट्र में लॉकडाउन

1. दूध का लेना और ट्रांसपोर्ट होना और बनना रहेगा चालू बिना किसी रोक के।

2. एयरपोर्ट और पोर्ट सर्विसेज चालू रहेंगी वो भी दवाइयां और उनसे जुडी चीज़ों को ट्रांसपोर्ट करने के लिए।

3. कार्गो कैरियर्स में दो लोग से ज्यादा लोगों की परमिशन नहीं दी जाएगी।

4. इसके अलावा लोकल DMA के अपने अपने एरिया के हिसाब से रूल्स रहेंगे।

राज्य में टीकाकरण

राज्य में टीकाकरण कार्यक्रम चल रहा है और लागू किए जा रहे मॉडल को सभी लोगों भी सराहा है। बुधवार को, राज्य सरकार ने घोषणा की कि वह सीमित स्टॉक के कारण 18-44 आयु वर्ग के कोवाक्सिन टीका को बंद कर रही है, केवल कोविशिल्ड जब तक कि अगली सूचना तक उपयोग के लिए उपलब्ध नहीं है।

कोरोना की दूसरी लहर हमारे सर पर है ऐसे में न जाने कितने ही लोग ऑक्सीजन की कमी से और मेडिकल बेड की कमी से मर रहे हैं। कोरोना वायरस की बीमारी में अधिकतर लोग सांस लेने में दिक्कत महसूस करते हैं। इसलिए लोगों को हर फैमिली में इस कोरोना के मुश्किल वक़्त में पल्स ऑक्सीमीटर रखना चाहिए। सभी लोग कोरोना के सभी नियमों को मानते रहें डबल मास्क लगाएं, सैनिटाइज़र लगते रहें और घर से बाहर न निकलें।

Email us at connect@shethepeople.tv