पानी में अंतर – आजकल हम जब भी बहार जाते हैं बोटले का पैक करा हुआ पानी पीते हैं, जब हम घर पर होते हैं तब हम घर के फ़िल्टर का पानी पीते हैं और कई बार हम आजकल मिनरल वाटर भी लेने लगे हैं। लेकिन क्या आपको सभी पानी का फर्क पता है ? क्या आप जानते हैं कि इन पानी में क्या अंतर होता है।

हम जब ये पैक करा हुआ पानी पीते हैं तब सोचते हैं कि ये हमारी सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। बोटले का जो पानी होता है वो फिल्ट्रेशन प्रक्रिया के बाद पैक होकर मिलता है इसके कारण इसके कई फायदेमंद चीज़ें भी नहीं मिलती हैं जैसे कि कुछ फायदेमंद चीज़ें जैसे कि मिनरल्स और नुट्रिएंट्स। एक तरीके से ये खुले पानी से अच्छा होता है क्योंकि इस में कोई भी कीटाडु और बैक्टीरिया का खतरा नहीं रहता है।

मिनरल वाटर क्या होता है ?

आजकल बहुत से पानी को फ़िल्टर करने के बाद उस में कुछ मिनरल्स और नुट्रिएंट्स मिला देते हैं जिसे हम मिनरल वाटर कहते हैं। इसके अलावा इस में लोग कभी कभी कई विटामिन्स भी मिला देते हैं जिस से कि इस में फ्लेवर्स आ जाते हैं और पानी टेस्टी लगने लगता है।

पानी का साफ़ करना क्यों जरुरी होता है ?

पानी जो हमारी मोटर से या बोर से आता है वो जमी की कई लेयर्स अंदर से आता है। और ये न जाने कितने सालों पुराना होता है इसलिए इसको साफ़ करके पीना बहुत ज्यादा जरुरी होता है।

पानी इतना जरुरी क्यों होता है ?

पानी हमारे जीने के लिए सबसे जरुरी चीज़ होती है और कई लेयर अंदर से आता है। एक बार जो पानी इस्तेमाल करलिया जाये वो दोबारा नहीं किया जा सकता है इसलिए इसको कम से कम खर्च करना और बचाना बहुत जरुरी होता है।

नेचुरल मिनरल वाटर क्या होता है ?

नेचुरल मिनरल वॉटर वो होता है जो किसी ने भी हाँथ से टच न किया हो और कई फेमस और नैचुरली साफ़ किया हुआ पानी होता है। ये पानी इंडिया की अलग अलग जगह के हिसाब से अलग अलग जगह पर पाया जाता है और इसके अलग अलग फायदे होते हैं। इसका टेस्ट भी अलग अलग जगह के हिसाब से अलग अलग होता है कहीं मीठा कही नार्मल तो कहीं कुछ और तरीके का।

Email us at connect@shethepeople.tv