Lohri 2023:5 मजेदार लोकगीत जो लोहड़ी सेलिब्रेशन में चार चांद लगा देंगे

भांगड़ा करते ही मन के अंदर एक अलग ही प्रकार का उल्लास जागृत हो जाता है। पंजाबी गाना बजते ही हम अपने आप ही भांगड़ा डांस करने में रम जाते है। जाने अधिक जानकारी इस ब्लॉग में-

Vaishali Garg
13 Jan 2023
Lohri 2023:5 मजेदार लोकगीत जो लोहड़ी सेलिब्रेशन में चार चांद लगा देंगे

Lohri 2023

Lohri 2023: लोहड़ी पंजाब, हरियाणा, दिल्ली में मनाए जाने वाला बहुत ही प्रसिद्ध त्योहार है। जो हर वर्ष 13 जनवरी मकर संक्रांति के एक दिन पहले बड़े ही धूम धाम से मनाया जाता है। लोहड़ी के दिन आग जलाकर उसकी परिक्रमा किया जाता है। बहुत सारी पंजाबी महिलाएं आग के चारो तरफ इकट्ठा होके गिद्दा और भांगड़ा करती है। आप सब तो जानते ही होंगे की पंजाब में भांगड़ा के बिना तो किसी त्यौहार की कल्पना भी नहीं कर सकते है। 

भांगड़ा करते ही मन के अंदर एक अलग ही प्रकार का उल्लास जागृत हो जाता है। पंजाबी गाना बजते ही हम अपने आप ही भांगड़ा डांस करने में लग जाते है। अगर हम गिद्धा की बात करें तो गिद्धा पंजाब के लोक गीतों में से एक गीत है जो वहां की स्त्रियां हर एक त्यौहार, शादी में गया करती हैं। गिद्धा के गीतों से मन में एक अलग ही प्रकार की भावना जागृत होती है। अगर पंजाब की संस्कृति जानना है तो आपको गिद्दा जरूर सुनना चाहिए। आइए जानते हैं की लोहड़ी के त्यौहार में किस-किस प्रकार के गाने गाए जाते हैं?

1.बल्ले बल्ले

बल्ले बल्ले यह शब्द सुनते ही मन में अनेकों प्रकार का हर्ष अनुभव होता है और मन मचल जाता है। हम अपने आप को डांस करने से नहीं रोक पाते हैं। इस गाने के गायक फिरोज खान और सरबजीत कौर हैं, जिनकी मधुर आवाज में लोगों के अन्दर  प्रेम की भावना जागृत हो जाती है। इस गाने की बिना लोहड़ी का त्यौहार अधूरा सा लगता है।

2. सुंदर मुंडरिए हो

यह गाना पंजाब में बहुत समय पहले से ही प्रचलित है। इस लोक गीत को पंजाब के सारे त्योहारों में गाया जाता है। इस गीत को सुनते ही मन के अंदर एक अलग प्रकार का आनंद अनुभव होता है। यह गीत महान दुल्ला भट्टी  को समर्पित किया जाता है जिन्होंने दो लड़कियां सुंदरी और  मुंदरी को ट्रैफिकिंग होने से बचाया था।


3. मसान लेया

यह प्रसिद्ध गीत मसान लेया के सुप्रसिद्ध लोक गायक राज घुमन द्वारा गाया गया था। इस गीत को गाते समय महिलाएं चमकीली सूट पहनती है और साथ में अपने फुलकारी की चुन्नी ओढ़ के झूम झूम के डांस करती हैं। उनकी डांस को देखकर सबका मन हर्षित या प्रफुल्लित हो जाता है और हम सबका का मन उस गाने को सुनते ही रम जाता है।

4. लोदी

इस गाने की गायिका स्वयं लता मंगेशकर जी हैं तो आप सबको अंदाज लग ही गया होगा कि इस गाने को सुनते ही मन के अंदर कितना आनंद महसूस हो रहा होगा। लता जी के गाने सुनते ही मन प्रफुल्लित होने के साथ-साथ मन में शांति अनुभव होता है। लोहरी के  इस प्रसिद्ध त्योहार में लता जी के गाने सुनकर हम सब झूम जाते है।

Read The Next Article