सेक्स से जुड़ी बातें सोसाइटी में अक्सर कम ही होतीं हैं पर धीरे धीरे समय के साथ चीजों को सोचने के तरीकों में बदलाव आ रहा है। लोग अब सेक्स से जुड़ी बातों पर खुल कर अपने विचार प्रस्तुत करते हैं। इसके साथ साथ हम सेक्सुअल रिलेशनशिप और प्रोब्लेम्स पर भी बातें करते हैं। तो आइये आज बात करते हैं फोरप्ले मिथ्स के बारे में –

1. ये ज़रूरी नहीं है

लोगों में ना जाने ये बात क्यों फैली हुई है कि सेक्स के पहले ना पार्टनर की मर्ज़ी की ज़रूरत है और ना फोरप्ले की।

फोरप्ले ज़रूरी है क्योंकि इससे आपको आपके पार्टनर के साथ बिन छुए मस्ती करने का मौका मिलेगा और वो धीरे धीरे अच्छा महसूस करेंगे।

2. सिर्फ सेक्स करने से पहले ही करें

फोरप्ले सिर्फ सेक्स से पहले ही ज़रूरी नहीं है। आप बिस्तर के बाहर भी फोरप्ले कर सकते हैं जैसे –

  • अपनी आँखों से उनकी और प्यार और सेक्सी तरीके से देखना
  • उनको कुछ मीठा या प्यारा कहना
  • उनके शरीर की तारीफ करें
  • उनके बालों के साथ खेलें इत्यादि

3. ओरल सेक्स और फोरप्ले एक ही हैं

ओरल सेक्स और फोरप्ले अलग अलग हैं। फोरप्ले के सभी मिथ्स में ये मिथ सबसे ज्यादा प्रचलित है।

फोरप्ले में आपके जेनिटल की ज़रूरत नहीं होती। आप बिना छुए भी अपने पार्टनर को उत्सुक बना सकते हैं और इसको ही फोरप्ले कहते हैं।

4. पुरुषों को फोरप्ले की ज़रूरत नहीं होती

ऐसा माना जाता है कि फोरप्ले की ज़रूरत बस औरतों को ही होती है जबकि आदमियों को भी फोरप्ले की पूरी ज़रूरत होती है।

5. बार बार एक ही तरीका इस्तेमाल करें

आप फोरप्ले के दौरान बार बार एक ही तरीके से पार्टनर को न छुएं क्योंकि एक ही तरीके से छूने पर उस स्किन को सेंसेशन नहीं होगी।

फोरप्ले सेक्स को बेहतर बनाता है इसलिए आप सेक्स से पहले फोरप्ले का इस्तेमाल ज़रूर करें और हाँ, अपने दिमाग से फोरप्ले मिथ्स को बाहर निकाल दीजिये।

Email us at connect@shethepeople.tv