Eye care tips: कैसे करें अपनी सुन्दर आँखों की देखभाल

Eye care tips: कैसे करें अपनी सुन्दर आँखों की देखभाल Eye care tips: कैसे करें अपनी सुन्दर आँखों की देखभाल

Monika Pundir

06 Jun 2022

मनुष्य अपने शरीर के सभी अंगों को स्वस्थ रखने और सुन्दर बनाने के लिए तरह तरह के तरीके अपनाता है लेकिन देखा गया है कि लोग जिन आंखों से इस सुन्दर दुनिया को निहारते है अक्सर उन्हीं आँखों के मामले में बहुत लापरवाही बरतते है जिसकी वजह से आपकी आँखों को कई प्रकार की समस्याएं हो सकती है। 

अपनी आँखों को स्वस्थ रखने के लिए अपनाने वाली 10 आदतें:

1.आँखें रगड़ना- जब आप आँखें रगड़ते है तो आप भूल जातें है कि आपके हाथों पर कितनी सारी धूल, मिट्टी, गन्दगी और अनगिनत कीटाणु होते है, और जब आप अपने हाथों से अपनी आँखें रगड़ते है तो हाथों की सारी गन्दगी और कीटाणु आपकी आँखों में चले जाते है जिसकी वजह से आपको इन्फेक्शन जैसी समस्या हो सकती है। इसलिए आँखों को बार बार हाथों से छूने और रगड़ने से बचे। 

2. हाथ धोना- दिन में न जाने कितनी बार आप अपनी आँखों को अपने गंदे हाथों से छूते होंगे कभी कांटेक्ट लेंस लगाने के लिए तो कभी मेकअप करने के लिए। इसलिए हाथों को बार-बार धोने का अभ्यास भी अपनी दिनचर्या में शामिल करें। 

3. हाइड्रेट- जिस प्रकार आपके शरीर के अन्य अंगों को पानी और नमी की जरुरत होती है ठीक उसी प्रकार आपकी आंखों को भी हाइड्रेशन की जरूरत होती है। पानी की कमी से आपकी आंखें सूखने लगती है जिसकी वजह से आपकी आँखें धंसी हुई, पीली और बेजान लगने लगती है। आमतौर पर शरीर हाइड्रेटेड रहने से आंखें भी हाइड्रेटेड रहती हैं, पर अगर आपके आँखों में पावर है, आँखों में हवा लगती है, लम्बे समय तक AC या ठन्डे, सूखे क्लाइमेट में रहते हैं तो आपकी आँखे सूख सकती है, जिससे पावर आने या बढ़ने की संभावना होती है, इसलिए ड्राई आईज लगातार एक सप्ताह से ज़्यादा होने से आँख के डॉक्टर के सुझाव से ऑय ड्रॉप्स का प्रयोग करें।

4. धूप से बचाव-  आँखों के लगातार सूर्य के संपर्क में आने के कारण सूर्य से निकलने वाली अल्ट्रा वॉइलेट किरणों के कारण आपकी आँखों को मोतियाबिंद जैसी बीमारी का खतरा बढ़ सकता है और इससे कॉर्निया सनबर्न और फोटोकेरटाइटिस जैसी समस्या भी हो सकती है। इसलिए अपनी आँखों की देखभाल के लिए सनग्लासेस का इस्तेमाल अवश्य करें। अगर आप पावर वाले चश्मे पहनते हैं और उसके बिना बाहर नहीं जा सकते, तो फोटोक्रोमेटिक लेंस, यूवी प्रोटेक्शन लेयर, आदि चुने।

5. पौष्टिक आहार- भरपूर मात्रा में फल, हरी सब्जी और दूध का इस्तेमाल करें। गहरे हरे रंग की सब्जियों में एंटीऑक्सीडेंट होते है जो आँखों को स्वस्थ रखने में सहायता करती है इसके अलावा मछली को भी आप अपने आहार में शामिल कर सकते हैं। मछली में ओमेगा-3 जैसे फैटी एसिड होते होते है जिसका सेवन करने से मैकुलर डिजनरेशन जैसी समस्या होने का खतरा कम हो सकता है।

6. शराब और धूम्रपान- शराब पीने और धूम्रपान करने से भी आपकी आँखों को मोतियाबिंद और ब्लाइंड फॉल (अंध पतन) जैसी समस्या हो सकती है इसके अलावा धूम्रपान ऑप्टिक नसों को भी नुकसान पहुंचा सकता है जिसकी वजह से आपकी आँखों की देखने की क्षमता कम हो सकती है। 

7. कम्फर्टेबले वर्कप्लेस- अगर आप कोई ऐसा काम करते है जहां पर आपको कंप्यूटर पर काम करना पड़ता हो तो कंप्यूटर स्क्रीन को अपनी आखों से लगभग एक हाथ जितनी दूरी पर रखें इससे आपकी आँखों पर तनाव कम पड़ता है और कभी भी लैपटॉप या मोबाइल पर लेट कर काम न करे। हमेशा रौशनी से भरपूर जगह पर बैठ कर कंप्यूटर पर कार्य करे काम प्रकाश आपकी आँखों पर चश्मे चढाने का कारण बन सकती है। 

8. मेकअप- आँखों पर जरुरत से अधिक मेकअप करने से बचे और यदि मेकअप करना ही है तो केमिकल मुक्त मेकअप आइटम्स का ही इस्तेमाल करें क्युकी मेकअप करने से आपकी आखों में एलर्जी भी हो सकती है।  आँखों के मेकअप के लिए इस्तेमाल किये गए ब्रुशों को अच्छी तरह से साफ़ करके रखे। रात को सोने से पहले हमेशा अपना मेकअप हटाए और आँखों को थोड़ी स्पेशल केयर दें। 

9. एक्सरसाइज- कम्प्यूटर स्क्रीन पर काम करने से आपकी आखें रूखी और बेजान नज़र आने लगती है उनमे पहले जैसी चमक नहीं रहती।  इसलिए सुबह शाम आँखों की कुछ हल्की- फुल्की एक्सरसाइज को अपनी आदतों में शामिल करें। 

10. भरपूर नींद- आपके शरीर के बाक़ी सभी हिस्सों की तरह ही आपकी आँखों को भी पर्याप्त आराम की जरुरत होती है। इसलिए रात को समय पर सो कर एवं पर्याप्त नींद लेकर अपनी आंखों को भरपूर आराम दें ।

अनुशंसित लेख