Relationship Boundaries: रिलेशनशिप में बॉउंड्रीस ज़रूरी क्यों हैं

Relationship Boundaries: रिलेशनशिप में बॉउंड्रीस ज़रूरी क्यों हैं Relationship Boundaries: रिलेशनशिप में बॉउंड्रीस ज़रूरी क्यों हैं

Monika Pundir

12 Aug 2022

कहा जाता है कि रिलेशनशिप में घुसना आसान है पर उसे मेंटेन करना मुश्किल, और यह सच भी है। रोमांटिक रिलेशनशिप में बाउंड्री या हदें बनाना और मेंटेन करना मुश्किल हो सकता है। हम डरते हैं कि हमारे कुछ कहने पर कहीं हमारे पार्टनर को ठेस न पहुंचे। हम सोचते हैं की यह छोटी बात है और इसे जाने दिया जा सकता है। पर रिलेशनशिप में बाउंड्री बनाना और मेंटेन करना बहुत ही ज़रूरी है।

रिलेशनशिप में बॉउंड्रीस ज़रूरी क्यों हैं?                          

1. झगड़े काम होते हैं

जब हम रिलेशनशिप के शुरुआत में ही अपने और अपने रिलेशनशिप के हदें तय कर लेते हैं, इससे झगड़ों का मौका कम हो जाता है। मैं यह नहीं कह रही की आप एक दिन बैठें और अपने रिलेशनशिप का एक कॉन्ट्रैक्ट तैयार करें। जी नहीं। बस जब उस टॉपिक पर बात हो तो अपनी हदें और अपने उम्मीदें स्पष्ट कर दें।

2. आपको फॉर ग्रांटेड नहीं लिया जाता                                     

जब आप अपने रिलेशनशिप के हदें और बौंदरीस सेट करते हैं, और उनको माना जाता है, उनका सम्मान किया जाता है, आपको समझ आता है की आपका फ़ायदा नहीं उठाया जा रहा है। आपका इस रिलेशनशिप में सम्मान होता है। आपके पार्टनर आपका और आपके इच्छा और बअउंडरीस का सम्मान करते हैं।

अगर आप किसी चीज़ के लिए अपने बौंडरीज़ स्पष्ट कर देते हैं, पर उसके बावजूद उनका उलंघन होता है, आपको अपने पार्टनर के साथ या तो इस बारे में सीरियस चर्चा करनी होगी, या उस रिलेशनशिप से अपने आप को दूर करना होगा। जो व्यक्ति आपका सम्मान नहीं करता आपको उस व्यक्ति और उस रिलेशनशिप में नहीं रहना चाहिए। अगर ऐसी चीज़ों को नज़रअंदाज़ किया जाए, वे बाद में बड़े समस्याओं का कारण बनते हैं।

3. क्रोध और पश्तावा की जगह कम हो जाती है                      

जब आप अपने रिलेशनशिप में बॉउंडरीज़ सेट करते हैं, और अपने पार्टनर के बौंडरीज़ के बारे में जानते हैं, आपस में झगड़े, क्रोध, पश्तावा और ऐसी नेगेटिव इमोशंस की जगह नहीं बचती है। अगर आपके पार्टनर को पता है की आपको कोई चीज़ नापसंद है, वे वह चीज़ नहीं करेंगे या ऐसे करेंगे की आपको ठेस न पहुंचे। वैसे ही अगर आपको पता है कि आपके पार्टनर की क्या हदें हैं, आप उन्हें सम्मान करने के लिए रास्ता निकालेंगे। 

4. आत्म विश्वास और सम्मान बढ़ता है                    

जब हम अपने लिए बौंडरीज़ बनाते हैं, हमारे आत्म विश्वास को प्रोत्साहन मिलता है। हम अपने इच्छाओं को स्पष्ट रूप से ज़ाहिर करना सीखते हैं। आप अपने जीवन के नियंत्रण में होते हैं। हैल्थी बॉउंडरीज़ आपके खासियत को बरकरार रखने में मदद करता है, जिससे आपका आत्म विश्वास बढ़ सकता है।

बॉउंड्रीस कैसे सेट करें?              

  • “ना” बोलना सीखें                                                         

हम में से बहुत लोगों के लिए “ना” बोलना मुश्किल हो सकता है। किसी को ठेस पहुंचाने से बचने के लिए, हम खुद को असुविधा में डालने को तैयार होते हैं। पर चाहे बात एक गिलास शराब की हो, या कोई और, अगर आप वह नहीं करना चाहते, तो “नहीं” बोल दें।

  • अपने पार्टनर के बॉउंड्रीज़ को स्वीकार करें                                            

अक्सर ऐसा होता है की हम अपने बौंडरीज़ तो याद रखते हैं, पर दुसरे के हदों पर सवाल उठाते हैं या भूल जाते हैं। यह बहुत ही गलत है। जब आप अपने पार्टनर का, या किसी भी व्यक्ति के बौंडरीज़ को स्वीकार करेंगे, और सम्मान करेंगे, वे खुद भी आपके बौंडरीज़ का सम्मान करेंगे।

  • खुल कर बात करें                                                                        

अगर आपको कुछ पसंद नहीं है तो आपको इस बारे में खुल कर बात करना होगा। आपके पार्टनर आपका मन नहीं पढ़ सकते। आपको अपने बौंडरीज़ को शब्दों में कहने के लिए डरना या झिझकना बिलकुल भी नहीं चाहिए। आपको अपने जीवन पर अधिकार है, और आप उसे कैसे जीना चाहते हैं यह आप पर निर्भर करता है।

  • उस टॉपिक पर बात होने से ही अपने बॉउंड्रीज़ स्पष्ट कर दे                                  

अपने रिलेशनशिप में जल्दी बौंडरीज़ सेट कर देना ज़रूरी है। अक्सर हम ऐसे कहानियाँ सुनते हैं की एक पार्टनर को कोई खाने की चीज़ बिलकुल पसंद नहीं थी, पर क्योंकि दूसरा उसे प्यार से बनता था, वह उसे खा लेता था और ख़ुशी व्यक्त करता था। 

कुछ चीज़ों के लिए यह ठीक है, पर जो चीज़ आपके लिए ज़रूरी है, उसके लिए ऐसा न करें। नाटक न करें की आपको कुछ पसंद है, अगर असलियत में आपको नहीं पसंद। यह शराब, स्मोकिंग, PDA, सेक्स में कुछ, या कुछ भी हो सकता है।

अनुशंसित लेख