दिन प्रतिदिन सेक्स टॉयज का प्रचलन बढ़ता जा रहा हैं। लेकिन भारत में अभी भी सेक्स टॉयज पर खुलकर बात नहीं की जाती है क्योंकि सेक्स टॉय का इस्तेमाल करना भारत में गैर कानूनी अपराध माना जाता है। लेकिन क्या खुदकी सेटिस्फैक्शन और प्लैजर के बारे में सोचना गलत है ?आइए जानते है सेक्स टॉयज के बारे में कुछ जरूरी बातें। सेक्स टॉयज को कैसे यूज़ करे 

सेक्स टॉयज क्या है?

सेक्स टॉयज का इस्तेमाल सेक्स का आनंद लेने के लिए किया जाता है। यह एक छोटे या बड़े खिलौने के जैसा दीखता है जिसमें डिल्डो(dildo)और वाइब्रेटर(vibrator) महिलाओं के लिए बनाया जाता है जो ज्यादातर पेनिस के शेप का होता है। इसे महिलाएँ अपनी वजाइना में insert करके चाहे तो अपने पार्टनर के साथ या पार्टनर के बिना भी जब चाहे सेक्स का आनंद ले सकती हैं।

वहीं पुरुषों के लिए सेक्स टॉयज महिलाओं की वजाइना के रूप में डिजाइन किए गए होते हैं। वे भी महिलाओं की तरह इन टॉयज का इस्तेमाल करके जब चाहे सेक्स एन्जॉय कर सकते हैं। यह टॉयज बहुत मददगार साबित होते हैं जब आप सिंगल हों या अपने पार्टनर से दूर हों, जैसे की लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप।

सेक्स टॉयज को कैसे यूज़ करे ?

  • ये टॉयज मोबाइल फोन की तरह चार्ज किए जा सकते हैं या फिर कुछ सेल के जरिए भी चलते हैं जो vibrating या non-vibrating हो सकते हैं।
  • इसमें कोई दो राय नहीं है कि सेक्स टॉयज का इस्तेमाल रियल सेक्स जैसे ही प्लेजर ही देते हैं लेकिन यह आपके अनुभव पर भी निर्भर करता है।
  • सेक्स टॉयज के इस्तेमाल में किसी दूसरे साथी की जरूरत नहीं होती लेकिन अगर किसी को सिर्फ अपने पार्टनर के साथ ही सेक्स करना पसंद है, तो उन्हें सेक्स टॉयज से रियल सेक्स जैसा प्लेजर नहीं मिल पाता है।
  • सेक्स का आनंद लेने के लिए कभी-कभी रिश्ते में कुछ नयापन लाना जरूरी होता है लेकिन साथ ही जरूरी सावधानियों का भी ध्यान रखना चाहिए।
  • यह ध्यान रखें कि सेक्स टॉयज का इस्तेमाल बहुत ज्यादा या लगातार न करें क्योंकि यह इसकी आदत बना सकता है।
  • इसके अलावा, इन टॉयज का इस्तेमाल अपने पार्टनर के साथ सेक्स के दौरान किया जाए, तो यह रिश्ते को और भी ज्यादा मजबूत बना सकता है।
Email us at connect@shethepeople.tv