सेक्स के दौरान आपको सिर्फ प्रेगनेंसी से बचने के लिए ही नहीं बल्कि सेक्शुअली ट्रांसमिटेड बीमारियों से बचने के लिए भी कॉन्ट्रासेप्टिव का इस्तेमाल करना चाहिए। ऐसे कई कॉन्ट्रासेप्टिव है जो आपको प्रेगनेंसी से तो बचाते हैं लेकिन सेक्शुअली ट्रांसमिटेड बीमारियों से नहीं। तो आइए जानते हैं इन STD कॉन्ट्रासेप्टिव के बारे में:

STI और STD कॉन्ट्रासेप्टिव

1. कंडोम

कंडोम एक तरह का कॉन्ट्रासेप्टिव मेथड होता है जो कि आदमी अपने पीनस पर पहनते हैं। यह अकेला कॉन्ट्रासेप्टिव मेथड है जो आपको प्रेगनेंसी के साथ-साथ एसबीआई और एसटीडी से भी बचाता है।

इसलिए हमेशा सेक्स के दौरान अपने पार्टनर को कंडोम पहनने के लिए ज़रूर कहें।

2. इंटरनल कंडोम

इंटरनल कॉन्डम महिलाओं के वजाइना के अंदर पहना जाता है। इससे इंटरकोर्स के दौरान एसटीडी का खतरा कम होता है।

यह बड़ी ही अचंभित बात है की एसटीडी से बचने के लिए आपको सिर्फ और सिर्फ कंडोम पर ही विश्वास करना होगा।

3. बर्थ कंट्रोल पिल्स नहीं बचाती STDs से

अक्सर लोग अनवांटेड प्रेगनेंसी से बचने के लिए बर्थ कंट्रोल पिल्स तो खा लेते हैं लेकिन यह जाने वाली बात है कि आपको यह पिल्स एसटीडी से नहीं बचा सकते हैं।

मार्केट में जितने भी प्रकार के कॉन्ट्रासेप्टिव मौजूद है वह सभी सिर्फ प्रेगनेंसी से आप का बचाव कर सकते हैं लेकिन STD और STI से बचने के लिए आपको हर तरह की सावधानी बरतनी होगी।

4. सेक्स से पहले पार्टनर की सेक्स हिस्ट्री जानें

जब भी आप किसी के साथ सेक्सुअल रिलेशनशिप बनाते हैं तो कोशिश करें कि आप अपने पार्टनर के सेक्सुअल हिस्ट्री के बारे में जरूर जानें।

अगर उन्हें किसी भी प्रकार का STI या STD पहले से ही है तो आप इसकी जानकारी पहले से ही पाकर इससे बच सकते हैं।

याद रखें कि एसटीडी और एस टी आई आपके शरीर के लिए हानिकारक होने के साथ-साथ आपके लिए जानलेवा भी हो सकते हैं। इसलिए हमेशा ही पार्टनर की सेक्सुअल हिस्ट्री के बारे में जानें और सावधानी बरतें।

Email us at connect@shethepeople.tv