कोरोनावायरस की दूसरी लहर अपने साथ कई परेशानियां लाई है, साथ ही कोविड-19 के रोगियों के लिए जटिलताएं पैदा कर रही है। इनमें से एक गैंग्रीन का खतरा है, जो कोविड-19 रोगियों के लिए गंभीर खतरा साबित हो सकता हैं।

गैंग्रीन क्या है ?

गैंग्रीन एक स्थिति है जिसमें खून का प्रवाह कम होने के कारण त्वचा के टिशू मर जाते हैं। टिशू की क्षति अक्सर त्वचा के छोरों में होता है। यह पैर की उंगलियों, अंगों, मांसपेशियों के ऊतकों और गंभीर अंगों को प्रभावित करते हैं।

गैंग्रीन का ग्रोथ संक्रमण के कारण होता है इसलिए शरीर में जल्दी फेल सकता है।

डॉक्टर का क्या कहना है ?

दिल्ली के एक डॉक्टर के अनुसार गैंग्रीन त्वचा उत्तक संक्रमण (skin tissue infection) है, जो 2019 के लक्षणों में से एक हो सकता है। डॉक्टर का यह भी कहना है कि कुछ मरीजों में गैंग्रीन के लक्षण श्रवण के लक्षण से पहले देख रहे हैं।

दिल्ली के 65 उम्र के आदमी में लक्षण देखा गया है।अध्ययन के मुताबिक 65 वर्षीय कोई भी अन्य स्वास्थ्य समस्या नहीं थी। लेकिन गैंग्रीन के लक्षण दिखाने से पहले अंगों के पास कमजोरी और थ्रोम्बोटिक दर्द की शिकायत की थी। एडिमा, खराब नाड़ी, मलिनकिरण जैसे लक्षण भी देखे गए थे। रोगी को स्टेरॉयड और एंटीबायोटिक दवाओं का उपयोग कर उपचार पर रखने के बाद भी कोविड-19 से संक्रमित होने से रोगी ने दम तोड़ दिया।

डॉक्टरों का लक्षण देख मानना ​​है कि COVID-19 के साथ गैंगरीन का जोखिम सामान्य से कहीं अधिक गंभीर हो सकता है।

गैंगरिन से किन मरीजों को है खतरा ?

गैंग्रीन का खतरा डायबिटीज मोटापा, खराब ब्लड प्रेशर , अधिक शराब का सेवन, धूम्रपान और अन्य संवहनी रोगों सहित, जो शरीर में सूजन को बढ़ाते हैं या शरीर में रक्त की आपूर्ति को बाधित करते हैं, उन्हें इसे ज्यादा खतरा है।

हालांकि जिन लोगों को शरीफ से जुड़ी कोई परेशानी नहीं  है, उन्हें भी का खतरा है। यह चोट के परिणामस्वरूप भी विकसित हो सकता है और स्वस्थ रक्त प्रवाह को बाधित करता है।

Email us at connect@shethepeople.tv