Social Media हमारे लिए वरदान है या अभिशाप?

Social Media हमारे लिए वरदान है या अभिशाप? Social Media हमारे लिए वरदान है या अभिशाप?

Swati Bundela

17 May 2022

सोशल मीडिया यानी वह प्लेटफार्म जहां हम इंटरनेट व एप्स जैसे फेसबुक, इंस्टाग्राम, टि्वटर, आदि की सहायता से दुनिया के किसी भी कोने में बैठ कर, बिना शारीरिक संपर्क में आए दूसरे लोगों को जान सकते हैं, उनसे बातें कर सकते हैं। यह हमें पूरे देश दुनिया की खबरों से भीअवगत कराता है। हर सिक्के के 2 पहलू होते हैं इसी तरह सोशल मीडिया जितना लाभदायक है उतना ही हानिकारक भी।

सोशल मीडिया लाभदायक?

1. दूर दुनिया को जोड़ता है

सोशल मीडिया हमें घर बैठे ही दूर दुनिया को जानने का मौका देता है। हम इसकी सहायता से अपने दोस्त रिश्तेदार से वीडियो कॉल पर बात नहीं कर सकते हैं। हमें सफर करके किसी से मिलने जाने की जरूरत नहीं है क्योंकि हम दूर रहकर भी उनसे सारी बातें कर सकते है और उन्हे देख रहा भी सकते हैं।

2. कलाओं का प्रदर्शन

हम सोशल मीडिया की सहायता से अपनी कलाओं को निखार सकते हैं और उनका प्रदर्शन कर लोगों का ध्यान अपनी तरफ आकर्षित करके पैसा भी कमा सकते हैं। हजारों लाखों लोगों को इसे सोशल मीडिया ने रोजगार उपलब्ध कराया है।

3. मनोरंजन

यह लोगों के मनोरंजन के लिए बहुत ही सस्ता और अच्छा विकल्प है। यह लोगों का तनाव दूर करने में भी उनकी सहायता करता है। यह लोगों को अपने नए नए फीचर्स (जैसे इंस्टाग्राम में रील्स) से अपनी और आकर्षित करता है और उनका उत्साह बढ़ाता है।

सोशल मीडिया हानिकारक कैसे?

1. आदत लग जाना

सोशल मीडिया का प्रयोग करते करते लोगों को इसकी आदत हो जाती है उसके बिना रह नहीं पाते हैं और अपना ध्यान कहीं और जल्दी केंद्रित भी नहीं कर पाते हैं।

2. साइबर क्राइम

ऑनलाइन के नाम पर ज्यादा जानकारी ना होने के कारण कई लोग साइबर क्राइम, फ्रॉड, आदि का शिकार हो जाते हैं। सोशल मीडिया अकाउंट हैक हो सकते हैं और किसी व्यक्ति की पर्सनल जानकारियां भी लीक हो सकती हैं इसलिए सोशल मीडिया का उपयोग करते वक्त सावधानी जरूर बरते।

3. झूठी अफवाहों का फैलना

सोशल मीडिया पर कोई भी झूठी अफवाह बहुत तेजी से फैल कर लोगों को भड़काने का काम करती है और उन्हें बेवकूफ बनाती है। हमें इन झूठी अफवाहों से सावधान रहना चाहिए।

4. वक्त की बर्बादी

सोशल मीडिया चलाने में लोग इतना डूब जाते हैं कि उन्हें वक्त का ध्यान ही नहीं रहता और कभी-कभी तो वे चाह कर भी खुद को रोक नहीं पाते और अपना कीमती वक्त सोशल मीडिया में बर्बाद कर देते हैं। इसी को सोशल मीडिया की लत कहते हैं।

अनुशंसित लेख