वैक्सिनेशन के आने के बाद हर जगह लोगों को वैक्सीन लगाने की व्यवस्था बनाई जा रही है जिसमें अलग अलग टर्म में अलग अलग लोगों को वैक्सीन लगाई जायेगी। ऑस्ट्रेलिया में phase 1a के बाद phase 1b शुरू होने को है और सभी को ये जानना है कि किन बिमारियों के लोगों को वैक्सिनेशन हो सकती है और किन्हें नहीं। लोगों के ऑस्ट्रेलिया में  वैक्सिनेशन क्राइटेरिया से जुड़े काफी सवाल हैं जिनके जवाब कुछ इस प्रकार हैं-

1. क्या हाई ब्लड प्रेशर के लोगों को वैक्सीन दी जायेगी  ?

अगर हाई ब्लड प्रेशर को रोकना संभव नहीं है तो हाँ, वैक्सीन दी जायेगी। अगर आप दो या दो से ज्यादा मेडिकेशन पर हैं तो आपको वैक्सीन  phase 1b में दी जायेगी।

2. मैं एक कैंसर पेशेंट रह चुका हूँ तो क्या मुझे वैक्सीन लग सकती है  ?

हाँ अगर आप पिछले 5 सालों में ब्रेस्ट कैंसर पेशेंट रह चुके हैं तो आपको वैक्सीन लगाई जायेगी।

3. किडनी पेशेंट को वैक्सीन लगेगी  ?

किडनी के उन पेशेंट को वैक्सीन लगाई जायेगी जिनका eGRF 44ml/min से कम है। पर हल्के या छोटे किडनी बीमारी के लोगों को phase 1b में वैक्सीन नहीं लगाई जायेगी।

4. क्या क्रोनिक इंफ्लैमैट्री कंडीशन के लोगों को भी वैक्सीन दी जा सकती है ?

हाँ, क्रोनिक इंफ्लैमैट्री कंडीशन के लोगों को वैक्सीन लगेगी जिनमें शामिल हैं systemic lupus erythematosus, rheumatoid arthritis इत्यादि जैसी बिमारियां।

5. मुझे मिग्रेन की समस्या है तो क्या मुझे वैक्सीन लगेगी  ?

नहीं, न्यूरोलॉजिकल कंडीशन के लोगों को phase 1b के अंदर वैक्सीन नहीं लगेगी।

ऑस्ट्रेलिया में वैक्सिनेशन के नये phase शुरू होने की तैयारियां भी चल रही हैं जिसमें शामिल होंगे phase 2a और phase 2b. इन दोनों phase में वैक्सीन लगवाने के लिए लोगों के लिए फिर नये वैक्सिनेशन क्राइटेरिया बनेंगे और वैक्सिनेशन की प्रक्रिया शुरू होगी।

हालांकि ये वैक्सिनेशन जल्द ही दुनिया भर में अपनी रफ्तार को तेज कर ही लेगी पर तब तक हमें कोरोना से बच के रहना होगा। आप घर में रहें और स्वस्थ रहें ।

Email us at connect@shethepeople.tv