दुनिया भर में हर साल लाखों लोग सेक्सुअल ट्रांसमिटेड बीमारियां होने के कारण अपनी जान दे देते हैं। अक्सर लोगों को सेक्सुअली बिमारियों के नाम पर सिर्फ HIV – AIDS के बारे में ही पता है जबकि अनप्रोटेक्टेड सेक्स के कारण बहुत सी बीमारियां हो सकती हैं जिनके लक्षण अलग हो सकते हैं।

आइये जानते हैं कि HIV के अलावा अन्य सेक्सुअली ट्रांसमिटेड बीमारियां कौन सी हैं ?

1. क्लेमीडिया (chlamydia)

ये बीमारी एक अलग किस्म के  बैक्टीरिया के संक्रमण के कारण होती है।

लक्षण (ये बेहद देर में दिखने शुरू होते हैं)

  • सेक्स या पेशाब के दौरान दर्द होना
  • वजाइना या पीनस से हरा या पीला डिस्चार्ज होना
  • शरीर के निचले हिस्सों में दर्द रहना

परिणाम(अगर इसका इलाज शुरू नहीं हुआ तो आपको परिणाम देखने को मिल सकते हैं)

  • यूरेथरा या टेस्टिकल में इंफेक्शन,
  • बांझपन इत्यादि

इसका इलाज एंटीबायोटिक्स का सेवन से संभव है इसलिए जब भी आपमें ऐसे लक्षण मिलें तो डॉक्टर को ज़रूर दिखाएं।

2. सिफिल्स (syphilis)

यह भी एक बैक्टीरियल इंफेक्शन है।

लक्षण

  • शुरुआत में आपको कई जगह दर्द होगा जो आपके जेनिटल, एनस या मुँह में शुरू हो सकता है।
  • कुछ समय बाद आपको रैशेज, थकान, बुखार, सिर दर्द, जोड़ों में दर्द इत्यादि देखने को मिलेंगे।
  • वजन घटना
  • बालों का झड़ना।

परिणाम

  • दृष्टि खोना, सुनने की क्षमता खतम होना, मेमोरी लॉस
  • मानसिक बीमारियां
  • दिमाग में संक्रमण
  • दिल की बीमारियां
  • मौत

अगर इसका शुरुआती समय में इलाज हो गया तो इसका ट्रीटमेंट हो सकता है वरना इसके परिणाम घातक हो सकते हैं।

3. Gonorrhea

यह भी एक बैक्टेरियल इंफेक्शन है।

लक्षण : अक्सर लोगों में इसके लक्षण नहीं दिखते पर अगर दिख रहें हैं तो वो हो सकते हैं –

  • वजाइना या पीनस से सफेद, पीला, हरा डिस्चार्ज
  • जेनिटल के आसपास खुजली
  • गले में दर्द
  • सेक्स या पेशाब के दौरान दर्द
  • पहले से ज्यादा पेशाब

परिणाम

  • बांझपन
  • इंफेक्शन इत्यादि

इसका इलाज भी शुरुआती समय में संभव है जो कि एंटीबायोटिक्स से होता है।

यह सार्वजनिक रूप से एकत्रित जानकारी है। यदि आपको किसी विशिष्ट सलाह की आवश्यकता है तो कृपया डॉक्टर से परामर्श करें – disclaimer
Email us at connect@shethepeople.tv