कर्नाटका में मासिक धर्म वाली महिलाओं को टीकाकरण देने से किया इनकार

Swati Bundela
03 Jul 2021
कर्नाटका में मासिक धर्म वाली महिलाओं को टीकाकरण देने से किया इनकार

देशभर में जहां सरकार ने सभी के लिए वैक्सीन अनिवार्य कर दिया है। वही कर्नाटक में चौंकाने वाली घटना सामने आई है। जहां मासिक धर्म वाली महिलाओं को कोविड -19 टीकाकरण नहीं लगाया जा रहा है। वैक्सीनेशन सेंटर का कहना है कि पीरियड्स के दिनों में वैक्सीन लगाने से कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। महिलाओं को टीकाकरण से इनकार


मानसिक धर्म के 5 दिन बाद लगेगा वैक्सीन


रिपोर्ट के अनुसार एक्टिविस्ट विद्या पाटिल ने कहा कि रायचूर में कुछ स्वास्थ्य कार्यकर्ता मासिक धर्म वाली महिलाओं को टीकाकरण केंद्रों से वापस भेज दिया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि महिलाओं को मासिक चक्र के पूरा होने के 5 दिनों के बाद जाब के लिए वापस आने के लिए कहा गया है। इसी तरह की घटनाएं रायचूर, बेलगावी और बीदर जिलों से भी हुई हैं।


कहा वैक्सीन लगाने से हो सकती है समस्या


हेल्थ वर्कर्स का कहना है कि पीरियड के वक्त वैक्सीन लगाने से ज्यादा खून निकलने और थकान की समस्या हो सकती हैं। इसीलिए उन्हें मासिक धर्म समाप्त होने तक प्रतीक्षा करनेेे के लिए कहा है।

वही सरकारी निकायों के ऐसे कोई भी आदेश देने की बात को रायचूर के डिप्टी कमिश्नर आर वेंकटेश कुमार ने नकार दिया। उन्होंने कहा कि कोई भी किसी भी स्वास्थ परेशानी के साथ वैक्सीन लगा सकती है।


पीरियड के दौरान वैक्सिंग से नहीं है नुकसान


कोविड -19 वैक्सीन के बारे में मिथकों और गलत सूचनाओं के कारण ऐसी बात फैल रही है। इस मिथकों के कारण कई महिला पीरियड के दौरान वैक्स लगाने से डर रही हैं। डॉक्टर और कार्यकर्ता का कहना है कि किसी भी दिक्कत और कोई भी व्यक्ति के लिए वैक्सीन सुरक्षित है। इस मामले में कोई सच्चाई नहीं है कि पीरियड के दौरान टीके हानिकारक होंगे।

हालांकि टीके की खुराक से कुछ ना भर कि हल्की परेशानियां हो सकती है। लेकिन इसे लंबे समय तक कोई खतरा नहीं होगा।

महिलाओं को टीकाकरण से इनकार

अनुशंसित लेख