Karthik Purnima (Dev Diwali 2022) में शारिरीक कष्ट, धन वृधी, व्यापार में सफलता, विवाह बाधा आदि के लिए जरूर करें यह खास उपाय

Vaishali Garg
07 Nov 2022
Karthik Purnima (Dev Diwali 2022) में शारिरीक कष्ट, धन वृधी, व्यापार में सफलता, विवाह बाधा आदि के लिए जरूर करें यह खास उपाय

Karthik Purnima dev diwali 2022

Karthik Purnima: कार्तिक पूर्णिमा को देव दिवाली भी कहा जाता है। ऐसी मान्यता है की इस रात्री सभी देवी देवता स्वर्ग से काशी नगरी आकर दीपक जलाते हैं और पवित्र नदियों ( गंगा , यमुना , सरस्वती ) में स्नान करते हैं। आई आज के इस ब्लॉग में जानते हैं कार्तिक पूर्णिमा पर कुछ खास उपाय  राजा सचदेवा जी द्वारा।

Karthik Purnima: कार्तिक पूर्णिमा पर कहाँ जलायें दीपक

1. आप अपने घर के मुख्य द्वार पर दायें और बायें
2. पानी की टंकी के पास
3. रसोई के नल के पास 
4. पीपल के पेड पर 
5. आंगन में   
6. माँ तुलसी के पोधे पर 
7. मन्दिर में 
8. घर के ब्रहमस्थान पर मिटी के बर्तन में गांगाजल और जल मिलाकर उसमे फलोटींग दीये जलायें।

Karthik Purnima: विवाह बाधा दूर करने के लिए कार्तिक पूर्णिमा पर करें ये उपाय

जिन लड़कों के विवाह में बाधा आ रही है वो लड़के कार्तिक पूर्णिमा के दिन भगवान विष्णु जी भगवान को सेहरा अर्पित करें और विवाह बाधा दूर करने के लिये मनोकामना करें।

जिन लड़कियों के विवाह में बाधा आ रही है वो लड़कियां कार्तिक पूर्णिमा के दिन माँ लक्ष्मी को लाल रंग की साडी और श्रृंगार का सामान अर्पित करें और विवाह बाधा दूर करने के लिये मनोकामना करें।

Karthik Purnima: जॉब में सफलता पाने के लिए कार्तिक पूर्णिमा पर करें ये उपाय 

जॉब में सफलता पाने के लिए कार्तिक पूर्णिमा पर भगवान गणेश जी माहाराज के मन्दिर में पेठे (सिताफल) का दान करें और जॉब में सफलता के लिये मनोकामना करें।

Karthik Purnima: धन वृधी के लिये कार्तिक पूर्णिमा पर करें ये उपाय

धन वृधी के लिये कार्तिक पूर्णिमा पर घर की उतर दिशा में कुबेर जी और माँ लक्ष्मी की फोटो / मूर्ती लगायें।

Karthik Purnima: व्यापार में सफलता पाने के लिए कार्तिक पूर्णिमा पर करें ये उपाय

व्यापार में सफलता पाने के लिए कार्तिक पूर्णिमा पर खीर बनवाकर  अपने साथ काम करने वालों के साथ मिलजुल कर व्यापरिक स्थल पर खायें लाभ मिलेगा।

Karthik Purnima ( dev diwali 2022): शारिरीक कष्ट दूर करने के लिए कार्तिक पूर्णिमा पर करें ये उपाय

शारिरीक कष्ट दूर करने के लिए कार्तिक पूर्णिमा पर दूर्गा सप्तषती का पाठ करें और माँ दूर्गा की अराधना ज़रूर करें।

अनुशंसित लेख