अक्सर औरतों में  मास्टरबेशन को उनकी फर्टिलिटी से जोड़कर देखा जाता है। लोगों का मानना होता है की औरतों की फर्टिलिटी उनके masturbation से जुड़ा होता है। तो आइये जानते हैं औरतों की फर्टिलिटी और मास्टरबेशन का एक दूसरे से क्या संबंध है और क्या सच मुच मास्टरबेशन फर्टिलिटी पर असर डालता है  –

औरतों की फर्टिलिटी और मास्टरबेशन में संबंध –

1. मास्टरबेशन का असर फर्टिलिटी पर नहीं पड़ता

  • मास्टरबेशन आपको बाँझ या आपकी फर्टिलिटी को नहीं रोकता।
  • साथ ही भले ही आपका जेनिटल, जेंडर, उम्र कुछ भी हो, पर मास्टरबेशन से फर्टिलिटी पर कोई असर नहीं पड़ता।
  • बल्कि मास्टरबेशन आपके शरीर के लिए सिर्फ फायदेमंद होता है।

2. मास्टरबेशन का हार्मोन लेवल पर असर

मास्टरबेशन से हमारे शरीर में कई प्रकार के हैप्पी हारमोंस रिलीज होते हैं जो कि हमारे स्ट्रेस को कम करते हैं और हमें आराम देते हैं जैसे-

  • डोपमाइन – ये आपके दिमाग से जुड़ा होता है और आपके दिमाग को आराम देता है।
  • एंडोरफिंस् – एंड और फिर आपके शरीर में दर्द से राहत देता है और स्ट्रेस को भी कम करता है।
  • ऑक्सीटोसिन – यह एक तरह का लव हार्मोन होता है जो आपकी सोशल बॉन्डिंग अच्छी बनाता है।
  • टेस्टोस्टेरोन – ये आपका सेक्सुअल स्टामिना अच्छा बनाता है।
  • Prolactin – यह आपके मूड को अच्छा बनाता है और इमिनी सिस्टम को तंदुरुस्त रखता है।

3. मास्टरबेशन और ओव्यूलेशन

ओवुलेशन तब होता है जब आपकी ओवरी से एग रिलीज होता है और वह एक स्पर्म के आने का इंतजार करता है।

पुरुषों में orgasm के दौरान एजकुलेशन होता है जिससे semen रिलीज़ होते हैं और उससे conception मुमकिन है।

पर औरतों में ओव्यूलेशं के लिए orgasm की ज़रूरत नहीं होती। तो मास्टरबेशन से ओव्यूलेशं पर कोई फर्क नहीं पड़ता।

4. पीरियड्स पर मास्टरबेशन का असर

मास्टरबेशन पीरियड्स में होने वाले दर्द को कम करने का काम करता है। इसके अलावा मास्टरबेशन और कोई असर नहीं डालता है।

पूरी तरह से औरतों की फर्टिलिटी और मास्टरबेशन के बीच कोई संबंध नहीं होता।

यह सार्वजनिक रूप से एकत्रित जानकारी है। यदि आपको किसी विशिष्ट सलाह की आवश्यकता है तो कृपया डॉक्टर से परामर्श करें – disclaimer

Email us at connect@shethepeople.tv