पीसीओएस एक ऐसा डिसऑर्डर है यह सिंड्रोम है जिसके दौरान महिलाओं के पीरियड इर्रेगुलर हो जाते हैं या फिर उनको मेंस्ट्रुएशन बिल्कुल भी नहीं होता। ऐसे में पीसीएस के दौरान महिलाओं को अपनी सेहत का ध्यान ज्यादा रखना होता है। आइए जानते हैं PCOS में क्या करें और क्या नहीं करना चाहिए –

PCOS में क्या करें?

1. डाइट का रखें ध्यान

पीसीओएस के दौरान आपकी डाइट आपके स्वास्थ्य पर सबसे ज्यादा असर डालती है। ऐसे में आपको अपनी डाइट में यह चीजें जरूर लानी चाहिए-

  • हाई फाइबर वेजिटेबल्स जैसे ब्रोकली गोभी इत्यादि
  • प्रोटीन जो आपको मछली हरी सब्जियों से मिल सकता है,
  • Anti-inflammatory खाना खाइये जैसे मसाले और टमाटर।
  • इन्फ्लेमेशन कम करने के लिए टमाटर पालक बादाम अखरोट इत्यादि खा सकते हैं।
  • हाई फाइबर वेजिटेबल्स के लिए आप पत्तेदार सब्जियां ज्यादा खाएं।

2. व्यायाम करें

आपके शरीर में इंसुलिन की मात्रा नॉर्मल लोगों के मुकाबले ज्यादा होती है इस कारण आपको अच्छी तरह व्यायाम और फिजिकल मूवमेंट करते रहना चाहिए।

3. स्ट्रेस को करें कम

पीसीओएस के ऐसे कई सारे लक्षण हैं जिनके कारण आपको स्ट्रेस हो सकता है तो कोशिश करें कि आप खुद को शांत रखें और स्ट्रेस कम करने के लिए योगा व मेडिटेशन का इस्तेमाल करें।

PCOS में ये ना करें

1. डाइट में ना मिलाये ये चीज़े

  • रिफाइंड कार्बोहाइड्रेट से भरपूर फूड से ज्यादा से ज्यादा दूर रहे जैसे व्हाइट ब्रेड,
  • मीठा खाने से परहेज करें,
  • प्रोसेस्ड मीट और रेड मीट ना खाएं।

2. स्मोकिंग से दूर रहें

अगर आप स्मोकिंग करती हैं और आप पीसीओएस से भी गुजरती हैं तो आपको आज ही स्मोकिंग बंद करने चाहिए । पीसीओएस के मरीजों को स्मोकिंग करने से दिल की बीमारियों और डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है।

3. मेडीकेशन ढंग से ना लेना

पीसीओएस के दौरान दवाइयों को इरेगुलर तरीके से लेना और भी ज्यादा खतरनाक हो सकता है इसलिए कोशिश करें कि आप अपने सभी दवाइयां चाहे वह बर्थ कंट्रोल पिल हो या और कुछ, समय पर ही लें।

तो यह थे पीसीओएस में करने वाले जरूरी काम।

Email us at connect@shethepeople.tv