Vaginal Discharge: वजाइनल डिस्चार्ज को रोकने के लिए जाने घरेलू टिप्स

हम देखते हैं कि बहुत सारी महिलाओं को वजाइनल डिस्चार्ज होता है और कुछ महिलाओं को इतना ज्यादा डिस्चार्ज होता है कि वह उससे बहुत ही ज्यादा परेशान रहती हैं। आइए जानते हैं फाइनल डिस्चार्ज को रोकने के कारगर घरेलू टिप्स इस हैल्थ संबंधी ब्लॉग के जरिए

Amrita Kumari
19 Jan 2023
Vaginal Discharge: वजाइनल डिस्चार्ज को रोकने के लिए जाने घरेलू टिप्स

Vaginal Discharge

Vaginal Discharge: महिलाओं को वाइट डिस्चार्ज होता है। डिस्चार्ज होने के कारण महिलाओं के कमर और पेट में चौबीसों घंटे दर्द रहता हैं। वह दर्द से परेशान रहती है और तरह-तरह की दवाइयां खाती है ताकि उनका दर्द ठीक हो जाए, लेकिन उन्हें पता नहीं होता कि यह दर्द वजाइनल डिस्चार्ज की वजह से हो रहा है। इसके लिए हमें उचित डॉक्टर को दिखाना चाहिए। इस दर्द को नजरअंदाज कर देना महिलाओं की सबसे बड़ी भूल होती है क्योंकि इससे ल्यूकोरिया जैसी बीमारियों का भी सामना करना पड़ जाता है जो आगे चलकर कैंसर का भी रूप ले सकता है। इसलिए जरूरी है की इसका उचित उपचार कराया जाए। 

हम आपको बताने जा रहे हैं कुछ ऐसे टिप्स के बारे में जिससे वजाइनल डिसचार्ज को रोका जा सकता है तो आइए देखते हैं ऐसे घरेलू उपाय जिसके इस्तेमाल से आपको वजाइनल डिस्चार्ज से राहत मिलेगी।

1.अमरूद के पत्तों से मिलेगा फायदा

आपको सुनने में बड़ा ही आश्चर्यजनक लगता होगा। लेकिन यह सच है कि अमरूद की तरह ही अमरूद के पत्ते में भी पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं। अगर आप वजाइनल डिस्चार्ज से बहुत ही ज्यादा परेशान है तो आप अमरूद के पत्ते को तोड़कर उसे गर्म पानी में उबालें और उसे थोड़ी देर ठंडा होने के लिए छोड़ दें। फिर उसको दिन में लगभग दो से तीन बार रोजाना पिए , आपको तुरंत ही राहत मिलेगी और आपको जल्द ही फर्क नजर आएगा।

2. तुलसी 

तुलसी के पत्तों का इस्तेमाल लगभग हर बीमारियों  से बचने के लिए किया जाता है । हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे का बहुत ही बड़ा महत्व है। तुलसी के पौधे के अंदर कुछ ऐसे पौष्टिक तत्व के साथ औषधि गुण पाए जाते हैं जो हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही ज्यादा अच्छे होता है। अगर आप वजाइनल डिसचार्ज से बहुत ही ज्यादा परेशान हैं तो आप तुलसी के पौधे को उबालकर उसे मिक्सी में पीसकर और उसके अंदर शहद मिलाकर दो टाइम इसका सेवन करें। आपको वजाइनल डिसचार्ज के दौरान होने वाले दर्द से राहत मिलेगी और वजाइनल डिसचार्ज का होना भी धीरे-धीरे कम हो जाएगा।

3. मेथी के बीज

मेथी का प्रयोग हम भोजन बनाने के समय करते हैं। क्या आपको पता है कि मेथी के प्रयोग से भी हमारा वजाइनल डिसचार्ज बंद हो सकता है? जी हां, आइए जानते हैं कि मेथी को कैसे इस्तेमाल करें, जिससे वजाइनल डिसचार्ज की समस्या दूर हो जाए। सबसे पहले आप मेथी के बीज को लीजिए और उसे पानी में फुला दीजिए और अगले दिन सुबह खाली पेट उस मेथी के चार दाने को खाइए। आपको तुरंत ही फर्क नजर आएगा।

4. आंवले का सेवन

हम सभी जानते हैं कि आंवले के अंदर विटामिन C पाया जाता है। विटामिन C का महत्व हमारे लिए बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है। Vitamin C के प्रयोग से हमारा शरीर स्वस्थ रहता है और हमें सभी प्रकार की बीमारियों से छुटकारा मिलता है। मजे की बात तो यह है कि, आंवले का प्रयोग आप किसी तरह से कर सकते हैं। आप कच्चा आंवला भी खा सकते है और उसकी मिठाई बना कर भी खा सकते हैं। उसका जूस बनाकर भी पी सकते हैं। आप किसी भी तरह से आंवले का इस्तेमाल कर सकते है। यह आपके लिए बहुत ही ज्यादा फायदेमंद होगा और वाइट डिस्चार्ज को कम करने में भी मदद करेगा। 

Read The Next Article