COVID-19 संकट के चलते स्कूल्स को 10 महीनों तक बंद रखा गया। अब जैसे-जैसे सभी चीजें खुल रही हैं, और सब कुछ ‘न्यू नॉर्मल’ की तरफ़ बढ़ रहा है। तो इस बीच स्कूल्स को खोलने का भी फ़ैसला लिया गया और आज पंजाब, महाराष्ट्र और मणिपुर के स्कूल खोले गए। आज से पहले दिल्ली, राजस्थान, वेस्ट बंगाल, कर्नाटक, बिहार, ओडिशा, असम, झारखंड, मिजोरम और केरल में स्कूल खोले जा चुके हैं। स्कूलों को खोलने के साथ कोविड-19 गाइडलाइंस का सख्ती से पालन किया गया।

महाराष्ट् :

आज महाराष्ट्र के ठाणे जिले में, ग्रामीण क्षेत्रों के स्कूल्स को कक्षा 5वीं से 12वीं के लिए खोला गया। एक आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार, जिला संरक्षक मंत्री एकनाथ शिंदे ने आश्रम विद्यालयों सहित सभी माध्यमों के स्कूलों को फिर से खोलने के निर्देश जारी किए थे। महाराष्ट्र के बाकी क्षेत्रों में पिछले सप्ताह 5वीं से 8वीं कक्षा तक के स्कूलों को खोला गया।

महाराष्ट्र में लगभग 20,13,353 कोरोनावायरस के मामले दर्ज किए गए हैं, जिनमें से अब तक 50,862 लोगों की मौत हो चुकी है।

पंजाब :

आज पंजाब में कक्षा 3 और 4 के लिए सभी स्कूलों को फिर से खोल दिया गया। इस महीने की शुरुआत में राज्य सरकार ने कक्षा 5वीं से 12वीं के लिए स्कूलों को फिर से खोल दिया था। स्कूल में बच्चों को भेजने के लिए, अभिभावकों को पहले एक लिखित सहमति देनी पड़ी। लिखित सहमति प्रदान करना आवश्यक था, वरना बच्चों को स्कूल में जाने की इजाजत नहीं थी। स्कूल का समय सुबह 10 बजे से दोपहर 3 बजे तक रहा। कक्षा 1 और 2 के छात्रों को 1 फरवरी से कक्षाएं लेने की अनुमति दी जाएगी।

पंजाब में लगभग 172,218 कोरोनावायरस के मामले दर्ज किए गए हैं, जिनमें से अब तक 5,571 लोगों की मौत हो चुकी है।

मणिपुर :

आज से मणिपुर में सभी स्कूल और कॉलेज को फिर से खोल दिया गया। स्कूल्स केवल कक्षा 9वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए ही फिर से खोले गए। सभी शैक्षणिक संस्थानों को COVID-19 मानक संचालन प्रक्रिया (SOP) का सख्ती से अनुपालन करने के लिए निर्देशित किया गया। 15 जनवरी को मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह की अध्यक्षता में राज्य मंत्रिमंडल की बैठक में यह फैसला किया गया था।

मणिपुर में लगभग 29,000 कोरोनावायरस के मामले दर्ज किए गए हैं, जिनमें से अब तक 369 लोगों की मौत हो चुकी है।

Email us at connect@shethepeople.tv