Red Flags In Female Friendship: कब समझें रिश्ता हो चुका है खत्म

Red Flags In Female Friendship: कब समझें रिश्ता हो चुका है खत्म Red Flags In Female Friendship: कब समझें रिश्ता हो चुका है खत्म

Swati Bundela

19 Aug 2022

लड़कियों के जीवन में फीमेल फ्रेंडशिप्स बहुत अहम् हैं। ऐसे दोस्त जिनके साथ आप गंभीर हो सकते हैं, मज़ाक कर सकते हैं, या आपको ईमानदार राय देगा, इन्हें अपनी ज़िन्दगी में रखना बहुत ज़रूरी है। पर हर दोस्त अच्छा हो यह ज़रूरी नहीं है। इस ब्लॉग में पढ़े फीमेल फ्रेन्शिप्स के कुछ रेड फ्लैग्स, जिन्हें हमें ध्यान में रखना चाहिए।

फीमेल फ्रेंडशिप्स में रेड फ्लैग्स:

1. रूप पर लगातार कमेंट

अगर आपके दोस्त आपके रूप, लुक्स या आपके कपड़ों के चॉइस पर बार बार कमेंट करते हैं, जिससे आपको कॉन्शियस लगता है, यह एक रेड फ्लैग है। महिलाओं को सोशल मीडिया, समाज और अनरियलिस्टिक बॉलीवुड ब्यूटी स्टैंडर्ड्स पहले से ही परेशान और इनसेक्योर बना देते हैं। हमे अपने दोस्त से भी नेगटिव कमेंट्स की कोई ज़रूरत नहीं है।

जो मित्र आपको अपने बारे में नेगेटिव महसूस करने पर मजबूर करें, ऐसे दोस्तों से दूर रहना बेहतर है।

2. आपको थेरेपिस्ट के तरह प्रयोग करना 

दोस्त एक दुसरे के मदद और मन हल्का करने के लिए ही होते हैं। लेकिन ऐसे दोस्त भी होते हैं जो आपको सिर्फ मुश्किल के समय याद आते हैं। ऐसे लोग आपको “वेंटिंग” के लिए प्रयोग करते हैं। वे आपको अपना फ्री का थेरेपिस्ट बना लेते हैं, पर ख़ुशी के समय आपको अक्सर भूल जाते हैं या आपके साथ समय बिताने पर उत्सुक नहीं होते। यह एक रेड फ्लैग है।

आपको अपने दोस्तों के मेंटल स्पोर्ट के लिए अवश्य रहना चाहिए, लेकिन उनका थेरेपिस्ट नहीं बनना चाहिए। आप ऐसे दोस्त को एक अच्छे थेरेपिस्ट के पास जाने की सलाह दे सकते हैं।

3. लगातार नेगेटिव होना 

हर व्यक्ति के ज़िन्दगी में ख़ुशी और दुःख के पल बारी बारी से आते हैं। कुछ लोग ऐसे होते हैं जो ख़ुशी या नॉर्मल समय में भी उस नेगेटिव इमोशन को पकड़ कर रखते हैं। वे जब भी आपसे मिलते हैं या बातचीत करते हैं तो नेगेटिव बातें ही करते हैं। ऐसे लोग आपका एनर्जी कम कर देते हैं। इन दोस्तों से दूर रहना चाहिए।

4. सीक्रेट्स न रखना 

अगर आप अपने किसी दोस्त पर भरोसा कर के उन्हें अपनी कुछ सीक्रेट या पर्सनल बात बताते हैं, और कुछ दिन बाद पाते है की आपके जान पहचान के लोगो को यह पता चल गया तो यह एक रेड फ्लैग है। आपका भरोसा तोड़ने वाले व्यक्ति के साथ आपको नहीं रहना चाहिए। आपके पीठ पीछे बात करने वाले और आपके पर्सनल बातें शेयर करना ठीक नहीं है।

5. ज़्यादा “ईमानदार” होना 

मई यह नहीं कह रही की ईमानदार होना गलत है, या आपके दोस्त को आपसे झूठ बोलना चाहिए ताकि आप खुश रहे। पर कुछ लोग ईमानदारी और सचाई की आढ़ में क्यों वचन बोलते हैं। वे ईमानदारी का बहाना दे कर आपसे ऐसी बातें कहेंगे जो आपको चूब जाये, और यहाँ तक की आपको अपने बारे में नेगेटिव महसूस होने लगे। ऐसे लोग टॉक्सिक होते हैं। सच को भी मीठे तरीके से, बिना किसी का दिल दुखाए कहा जा सकता है।

अनुशंसित लेख