Red Flags In Workplace जो आपको बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए

आज से पहले आपने red flags रिलेशनशिप में सुना होगा, दोस्ती में सुना होगा, लेकिन हम आपको बता दें रेडफ्लेक्स हमारे काम करने की जगह पर भी होते हैं, तो आइए जानते हैं कुछ रेड फ्लैग्स के बारे में जो वर्कप्लेस पर होते हैं इस ब्लॉग में-

Vaishali Garg
16 Nov 2022
Red Flags In Workplace जो आपको बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए

Red Flags In Workplace

Red Flags In Workplace: कैरियर के मामले में लोग बहुत ज्यादा सावधानी बरतते हैं, कोई भी नहीं चाहता कि इतना पढ़ा-लिखा होने के बाद कैर्रिएर सिक्योर ना हो, फिर चाहे कोई भी प्रोफेशन हो। जॉब सिक्योरिटी बहुत मायने रखने लग जाती है, लेकिन कई बार ऐसा होता है, कि हम अपनी जॉब के अंदर हंड्रेड परसेंट देते हैं, लेकिन उसका रिजल्ट अच्छा नहीं आ पाता है, जॉब छोड़ने से पहले हमें हमारे जॉब सेक्शन में कई सारे रेडफ्लेक्स देखने को मिलते हैं, जिनको कई बार हम नजरअंदाज कर देते हैं, लेकिन वही रेड फ्लैग होते हैं, जो हमें बताते हैं, कि आगे हमारी जोब सिक्योर रहने वाली है या नहीं, आइए जानते हैं कुछ ऐसी ही रेड फ्लैग साइंस के बारे में।

Red Flags In Workplace -



1. ओपिनियन इग्नोर

जॉब सेक्शन के अंदर कई बार ऐसा होता है, कि हमारे बीच किसी बात की चर्चा चल रही होती है, और हमारे ओपिनियन पूछे जाते हैं ,और जब हम अपना ओपिनियन देते हैं तो उसको इग्नोर कर दिया जाता है, यह एक बेड साइन है और इसको रेडफ्लेग साइन कहा जा सकता है, जिससे हमें महसूस होने लगता है, कि यहां हमारी कोई वैल्यू नहीं है, और हम बहुत उदास महसूस करने लगते हैं।

2.खास स्किल का न होना

जब हमारे पास कोई खास नई स्किल नहीं होती, तो लोग हमें एक बैकवर्ड एम्प्लॉय समझ लेते हैं, और आज के जीवन में कई सारी शार्ट टर्म स्किल्स डेवलप है, जिससे हम हर बार कोई नई स्किल डेवेलोप सकते हैं, और अपनी एंप्लोई के सामने अपने आप को वैल्युएबल बना सकते हैं, आमतौर पर आगे बढ़ते रहने के लिए हमें हमेशा किसी नई स्किल को अपने अंदर डिवेलप करना बहुत जरूरी है।

3. कलीग के साथ दोस्ती ना होना

आज के जीवन को देखा जाए तो फ्रेंडशिप होना अहम भूमिका निभाता है, किसी के साथ आगे बढ़ने के लिए अगर हमारे ऑफिस सेक्टर के अंदर हमारी किसी के साथ दोस्ती नहीं होती है, तो हम बहुत डाउन फील करने लगते हैं, और ऐसा लगता है, कि हमारे लिए कोई भी नहीं है, जिसकी वजह से हम कई बार उदास ही बने रहते हैं,जो एक रेड फ्लैग साइन है जितना हो सके हमें अपने कलेगस के साथ कनेक्शन बनाना चाहिए, और उनसे फ्रेंडशिप बढ़ाने की कोशिश करनी चाहिए।

4.इंक्रीमेंट न होना

कोई भी कंपनी हर साल अपने एंपलॉयर्स का इंक्रीमेंट करती है, अगर ऐसे में कोई कंपनी आपके ऊपर ध्यान नहीं दे रही है, आपका इंक्रीमेंट नहीं करती है, तो मान लीजिए वह आपको अपना खास नहीं मानती है, यह एक रेड फ्लैग साइन है, आपको उसी वक्त समझ जाना चाहिए कि यह कंपनी अब आपके लिए ठीक नहीं है, और ऐसे में आप चाहे तो कंपनी स्विच भी कर सकते हैं।

अनुशंसित लेख