Shweta Tiwari Wins Custody: श्वेता तिवारी ने कहा वर्किंग सिंगल पैरेंट पर आप सवाल नहीं कर सकते हैं, जीती बच्चे की कस्टडी

Shweta Tiwari Wins Custody: श्वेता तिवारी ने कहा वर्किंग सिंगल पैरेंट पर आप सवाल नहीं कर सकते हैं, जीती बच्चे की कस्टडी Shweta Tiwari Wins Custody: श्वेता तिवारी ने कहा वर्किंग सिंगल पैरेंट पर आप सवाल नहीं कर सकते हैं, जीती बच्चे की कस्टडी

SheThePeople Team

01 Oct 2021

Shweta Tiwari Wins Custody - श्वेता तिवारी का काफी लम्वे समय से इनके बेटे रियांश को लेकर हस्बैंड अभिनव कोहली के साथ केस चल रहा था। हाई कोर्ट ने फाइनली अब इनके बेटे की कस्टडी श्वेता को दे दी है। कोर्ट ने अभिनव को एक हफ्ते में 2 घंटे के लिए बच्चे से मिलने की परमिशन दी है। श्वेता इस जजमेंट से बहुत खुश हैं।

अभिनव कोहली ने श्वेता के खिलाफ क्या पेटिशन फाइल की थी?


अभिनव ने इनके खिलाफ एक पेटिशन फाइल की थी और उस में लिखा था कि श्वेता एक बिजी एक्ट्रेस हैं और इनके पास इतना वक़्त नहीं है कि यह अपने बेटे का ध्यान रख पाएं। श्वेता का कहना है जब आप एक सिंगल पैरेंट हो और आप जीने के लिए काम करते हो तब आप पर कोई सवाल नहीं उठा सकता है। इन्होंने यह भी बताया कि इन्होंने रेयांश और अभिनव को आपस में मिलने से कभी भी नहीं रोका है लेकिन इन पर गलत इल्जाम लगाए गए थे। अभिनव श्वेता को एक बुरी माँ दिखा रहे थे जो अपने बच्चे का ख्याल नहीं रख सकती हैं।

श्वेता का कहना है कि अभिनव इनको बार बार ब्लैकमेल करते हैं और उनकी इमेज ख़राब करने की धमकी देते हैं। श्वेता ने बॉलीवुड बबल चैनल को बताया कि अभिनव ने उन से कहा है ” कि एक औरत का नाम ख़राब करना बहुत आसान होता है और इसके लिए सिर्फ एक पोस्ट ही काफी होती है। सिर्फ एक पोस्ट में आप पूरे तरीके से बर्बाद हो सकते हो। ”

श्वेता तिवारी के पहले पति कौन हैं?


श्वेता ने इस से पहले भी इनके पहले पति राजा चौधरी से तलाक ले लिए था। ये हमेशा से अपनी दिक्कतों के बारे में खुलकर बात करती आयी हैं। ये सभी को बताती हैं कि शादी के वक़्त और शादी के बाद क्या क्या दिक्कतें होती हैं। इनके पहले पति के साथ इनकी एक बेटी भी है जिसका नाम पलक है और उसकी जल्दी ही पहली डेब्यू फिल्म भी आने वाली है। एक्ट्रेस की शादी अभिनव से 2013 में हुई थी।

श्वेता ने पलक को क्या सिखाया है?


श्वेता ने अपनी बेटी पलक को सिखाया कि ” आप हमेशा किसी भी वायलेंस के बारे में खुलकर बोलें। अगर तुम अपने लिए नहीं लड़ोगे तो दुनिया तुम्हारा यकीन नहीं करेगी। जो भी मेरे साथ हुआ है और जो भी मैंने सहा है में चाहती हूँ कि तुम उस से सीखो।” श्वेता की बेटी ने कम उम्र में बहुत कुछ सहा है और श्वेता चाहती हैं वो इस से सीखें।

अनुशंसित लेख