Advertisment

Small Jeans Pockets: महिला के फैशन को कण्ट्रोल करने का तरीका?

author-image
Monika Pundir
एडिट
New Update

महिलाओं ने क्या किया है, अपनी जींस में गहरी जेब के लायक नहीं होने के लिए जिसमें वे अपने फोन और चाबियां रख सकती हैं और सामने के दरवाजे से बाहर निकल सकती हैं जैसे कि यह कोई बड़ी बात नहीं है?

Advertisment

यहां तक ​​​​कि जब कपड़े हमें जेब देते हैं तो वे इतने छोटे होते हैं, आप मुश्किल से अपनी उंगलियों को उनके अंदर फिट कर सकते हैं। ऐसा क्या है जो डिजाइनरों को महिलाओं को उनके निचले कपड़ों की जेब में थोड़ा बड़ा स्थान देने से रोकता है? क्या छोटी जेब का यह चलन पुरानी धारणा से उपजा है कि महिलाओं को अपने साथ पर्स या चाबियां नहीं रखनी होती हैं, क्योंकि यह ऐसी चीज है जिसका उनके पुरुष साथी ध्यान रखेंगे? या कि सभी महिलाएं पर्स ले जाती हैं, तो अपने कपड़ों में अतिरिक्त कपड़ा डालने की जहमत क्यों उठाते हैं?

फैशन: एक पुरुष-प्रधान इंडस्ट्री

पुरुष-प्रधान फैशन इंडस्ट्री काम के बजाय सौंदर्य को तवज्जो देना जारी रखता है क्योंकि उनकी प्रियोरिटी लाभ और रुझान है। जब महिलाओं के कपड़ों की बात आती है तो कोई आराम के बारे में नहीं सोचता। महिलाओं के लिए कपड़े डिजाइन करते समय इस बात पर ध्यान दिया जाता है कि कैसे कपड़े शरीर को सबसे अच्छी तरह से लपेटते हैं, न कि डिजाइन कितना व्यावहारिक है। लेकिन फिर, क्या हम अकेले ही डिजाइनरों और ट्रेंडसेटर्स को दोष दे सकते हैं? आपूर्ति मांग पर भी निर्भर करती है। जो सवाल उठता है, क्यों कई महिलाएं अभी भी कार्यक्षमता पर सौंदर्य का चयन करना जारी रखती हैं? और समाज उन महिलाओं के साथ कैसा व्यवहार करता है जो फैशन के रुझान पर कार्यक्षमता का चयन करती हैं?

Advertisment

जो महिलाएं पुरुषों के वर्ग से जींस खरीदना चुनती हैं क्योंकि वे उन्हें अधिक व्यावहारिक या आरामदायक लगती हैं, तुरंत "टॉम बॉयज़" या "झल्ली" के रूप में लेबल किया जाता है। उन्हें बताया जाता है कि उनकी जींस या पैंट खराब फिटिंग की हैं, और वे मोटी दिखती हैं। इसलिए यदि आप आकर्षक और स्टाइलिश के रूप में लेबल होना चाहते हैं, तो आपके पास बिना जेब वाले पैंट पहनने के अलावा कोई अन्य विकल्प नहीं है, या एक दिन जींस की एक जोड़ी की तलाश में बिताएं जो स्टाइलिश और गहरी जेब दोनों है। लेकिन यह इतना कठिन नहीं होना चाहिए।

कपड़ों में कासुअल सेक्सिस्म

जब तक हम महिलाओं की इच्छा की वस्तु होने के बारे में रूढ़िवादिता को दृढ़ करना जारी रखते हैं, तब तक हम एक समान समाज का निर्माण नहीं कर सकते हैं। हर कोई इस बात पर ध्यान केंद्रित करता है कि एक महिला कैसी दिखती है, बजाय इसके कि वह क्या चाहती है। 

कैपिटलिज्म (पूंजीवादी) नुकसान और लाभ

अगर महिलाओं के पास जेब नहीं है तो उन्हें सामान रखने के लिए कुछ चाहिए होगा, और वहां हमने एक "कुछ" से 51.25 अरब डॉलर का इंडस्ट्री बनाया है। इसलिए, पूंजीवाद ने न केवल महिलाओं को उस स्थान तक आसान पहुंच से वंचित कर दिया जहां वे अपना सामान रख सकती हैं, बल्कि उन्हें इसके लिए अतिरिक्त पैसे खर्च करने पड़े।

फैशन
Advertisment