ब्लॉग

डांस मेरी ज़िन्दगी है, मदरहुड मेरी ताक़त है: स्मिती पांडे

Published by
Ayushi Jain

स्मीति पांडे, जिनका जन्म और पालन पोषण उत्तर प्रदेश के एक छोटे से शहर में हुआ था, अब व्रोकला, पोलैंड में रहती हैं। उनकी जर्नी किसी रोलर कोस्टर से कम नहीं है, क्योंकि उन्होंने जीवन में बहुत से बदलाव देखे हैं। एक बात जो उनके साथ – साथ हर जगह थी वह नृत्य के प्रति उनका प्यार था। शीदपीपल  ने नृत्य, अपने स्टूडियो, मातृत्व और  के जुनून के बारे में स्मृति पांडे से बात की।

आपका जन्म और पालन-पोषण उत्तर प्रदेश में हुआ। जब महिलाओं के स्वतंत्र होने की बात आई, तो आपके बचपन ने आपकी विचार प्रक्रिया को कैसे बदला?

सौभाग्य से, मैं शुरू से एक लिबरल सेटअप में रही हूँ जहाँ मुझपर कोई रेस्ट्रिक्शन्स नहीं थे। उस समय किसी भी अन्य घर की तरह कुछ बाधाएं थीं, लेकिन मैं मूल रूप से जो कुछ भी करना चाहती थी, मैं उसके लिए तैयार थी । सबसे महत्वपूर्ण कारक, मेरे माता-पिता ने मुझे कभी कोई कमी महसूस नहीं होने दी – एक लड़की के रूप में मुझे कोई समझौता नहीं करना पड़ा। विचार प्रक्रिया के बारे में आपके सवाल पर आते हुए, मेरी माँ के कार्यों ने मुझे काफी हद तक प्रेरित किया। जिस तरह से मेरी गृहिणी माँ ने घर के भीतर और बाहर सब बातों का ख्याल रखा, मुझे बहुत अच्छा लगा। मेरे माता-पिता ने अपने सभी निर्णय एक साथ किए, और मेरा मानना ​​है कि मेरे मन में समानता की नींव है।

मेरे माता-पिता ने एक साथ मिलकर अपनी ज़िन्दगी के फैसले किए, और यही मेरा मानना ​​है कि मेरे मन में समानता की नींव वही से बनी है।

आपने फैशन के क्षेत्र में भी काम किया है। कृपया हमें उस अनुभव के बारे में बताएं।

मैंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से फैशन डिजाइनिंग में डिप्लोमा किया, उसके बाद मैंने एक मर्चेंटडाइसर के रूप में कुछ एक्सपोर्ट हाउसेस में काम किया। हालांकि, मुझे एहसास हुआ, जल्द ही, कि मैं कुछ अलग करना चाहती थी। मैंने शादी करने से ठीक पहले इस काम को छोड़ दिया था।

आपको नृत्य के प्रति लगाव कैसे हुआ?

जब तक मैं याद रख सकती हूं, नृत्य मेरे जीवन का एक हिस्सा रहा है। जो भी हो, मैं नाच रही हूँ। जबकि मैंने कई शिक्षकों से सीखा है, सेल्फ-लर्निंग मेरे मामले में सबसे प्रभावी रहा है। मुझे स्कूल में अपना पहला प्रदर्शन याद है जब मैं पाँच साल की थी । जब भी मैं प्रदर्शन करती हूं, तब हमेशा यह एहसास बरकरार है।

मुझे स्कूल में अपना पहला प्रदर्शन याद है, जब मैं पाँच साल की  थी । मैं जब भी प्रदर्शन करती हूं, हमेशा यह एहसास बरकरार रहता है।

आप अपनी शादी के तुरंत बाद आप अमेरिका चली गई। विदेश जाने के दौरान करियर को आगे बढ़ाने के नजरिए को आपने कैसे दिशा दी ?

एक बेहतर कैरियर शिफ्ट के दृष्टिकोण से, यह एक बहुत बड़ा निर्णय नहीं था क्योंकि मैंने अपनी शादी से पहले अपनी नौकरी छोड़ दी थी। मुझे सबसे ज्यादा डर इस बात का था कि मैं बेरोजगार थी और पूरी तरह से एक अलग देश में थी। मुझे एक स्वतंत्र महिला बनने के लिए प्रेरित किया गया था, जो भारत में कई गतिविधियों में शामिल थी, और यहाँ मैं बिना नौकरी के थी। मेरे पति ने इसे समझा, और एक तरह से, उन्होंने मेरे जुनून को महसूस करने में मेरी मदद की। वहां एक बड़ा भारतीय समुदाय है और हमने अक्सर भारतीय गेट-टोगेदर्स और डांस पार्टियों का आयोजन किया, और यही से सभी की शुरुआत हुई।

कैसे माँ बनकर आप एक बेहतर कामकाजी महिला बनी हैं?

मेरी बेटी अपने जन्म से ही मेरी प्रेरणा और ताकत रही है। अब जब वह मेरी छात्रा है, तो सीखने के लिए एक और बेहतर बांड शेयर करते हैं। हम दोनों एक साथ नृत्य का आनंद लेते हैं और चूंकि बच्चे इन दिनों बहुत स्मार्ट हैं, वह मुझे नए ट्रेंड्स के साथ अपडेटेड रखती है।

वर्किंग मदर्स को अभी भी समाज ने स्वीकार नहीं किया है। इसपर आपका क्या कहना है ?

कई परिवारों में डुअलिटी है – वे महिला सशक्तिकरण के बारे में बोलते हैं लेकिन अपनी महिलाओं को आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित नहीं करते हैं। यही समस्या है। महिलाओं की क्षमता को महसूस करना एक बात है, उन्हें आगे बढ़ने के लिए समान मंच देना अलग बात। मेरा मानना ​​है कि महिलाएं मल्टीटास्किंग करने में एक्सपर्ट्स हैं। लोगों को लगता है कि महिलाएं केवल घर सँभालने के लिए ही सक्षम हैं पर अब ज़माना बदल रहा है और अब हम उतने पैरिअर्चल नहीं हैं जितने हम पहले थे

जो माएँ एन्त्रेप्रेंयूर्स बनना चाहती हैं उन्हें आप क्या सुझाव देंगी?

अपने जूनून को पहचाने और उसे फॉलो करें. मैं अक्सर कहती हूँ कि एक बच्चा बड़ा करना लगभग एक आर्गेनाईजेशन को मैनेज करने जैसे है। मेरा मतलब है कि हम यह कर सकते हैं, तो हम इस दुनिया में कुछ भी कर सकते हैं

Recent Posts

Fab India Controversy: फैब इंडिया के दिवाली कलेक्शन का लोग क्यों कर रहे हैं विरोध? जानिए सोशल मीडिया का रिएक्शन

फैब इंडिया भी अपने दिवाली के कलेक्शन को लेकर आए लेकिन इन्होंने इसका नाम उर्दू…

6 hours ago

Mumbai Corona Update: मुंबई में मार्च से अब तक कोरोना के पहली बार ज़ीरो डेथ केस सामने आए

मुंबई में लगातार कई महीनों से केसेस थम नहीं रहे थे। पिछली बार मार्च के…

7 hours ago

Why Women Need To Earn Money? महिलाओं के लिए फाइनेंसियल इंडिपेंडेंस क्यों हैं ज़रूरी

Why Women Need To Earn Money? महिलाएं आर्थिक रूप से स्वतंत्र हैं, तो वे न…

8 hours ago

Fruits With Vitamin C: विटामिन सी किन फलों में होता है?

Fruits With Vitamin C: विटामिन सी सबसे आम नुट्रिएंट्स तत्वों में से एक है। इसमें…

8 hours ago

How To Stop Periods Pain? जानिए पीरियड्स में पेट दर्द को कैसे कम करें

पीरियड्स में पेट दर्द को कैसे कम करें? मेंस्ट्रुएशन महिला के जीवन का एक स्वाभाविक…

9 hours ago

This website uses cookies.