साल का पहला सूर्य ग्रहण अब से कुछ ही समय में देखने को मिलेगा। इसके आज होने की पुष्टि खुद नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (नासा) ने की है। इस वार्षिक होने वाले सूर्य ग्रहण में “रिंग ऑफ़ फायर” भी बनेगा। ये रिंग चन्द्रमा के सराउंड करता है जो सूर्य के हैलो के रूप में नज़र आता है। इस साल ये रिंग ऑफ़ फायर कुल 3 मिनट और 51 सेकंड के लिए दिखेगा। इस ब्लॉकिंग से पृथ्वी पर एक शैडो बनती है। जानिए ग्रहण के बारे में तमाम जानकारी:

कब होगा ग्रहण?

सूर्य ग्रहण गुरुवार को दोपहर बाद शुरू होगा। इसके शुरुवात का समय 1:42 PM बताया जा रहा है। इसका पीक टाइम आएगा 4:16 PM में जब सूर्य और चन्द्रमा कंजंक्ट करेंगे 25 डिग्रीज पर तौरस साइन में। इसके बाद ये फेनोमेनन धीरे-धीरे घटता चला जायेगा और फाइनली 6:41 PM में ग्रहण समाप्त हो जाएगा।

कहाँ दिखेगा सूर्य ग्रहण?

ये वार्षिक ग्रहण ज़्यादातर नॉर्थर्न हेमीस्फेर में ही दिखेगा। ये प्रोमिनेंटली उत्तर-पूर्वी कनाडा, ग्रीनलैंड और सिबेरिया में दिखेगा। इस ग्रहण को लोग यूनाइटेड किंगडम और आयरलैंड में भी पार्शियली देख पाएंगे। भारत में कुछ चुनिंदा शहरों को छोड़ कर ये ग्रहण नहीं देखा जा सकेगा।

भारत में कहाँ दिखेगा ग्रहण?

आज होने वाले सूर्य ग्रहण को हम भारत में ज़्यादातर नहीं ही देख पाएंगे। लेकिन कुछ ऐसे स्थान हैं जहाँ ग्रहण देखा जाए सकता है। लद्दाख के कुछ एक्सट्रीम इलाके और अरुणाचल प्रदेश में इस ग्रहण को दोपहर बाद देखा जा सकता है।

किन बातों का रखें ध्यान?

नासा ने ग्रहण देखने के लिए कई प्रीकॉशन्स अपनी वेबसाइट पर जारी किये हैं। इसमें से सबसे ज़रूरी बात है की की ग्रहण को डायरेक्टली ना देखें। अगर आप ग्रहण देखना चाहते हैं तो सोलर व्यूइंग या एक्लिप्स स्पेशल ग्लासेज को ही यूज़ करें। आप चाहे तो इसे देखने के लिए टेरेस्ट्रियल बाईनौक्युलर्स का प्रयोग भी कर सकते हैं।

कहाँ देख सकते हैं ग्रहण को?

भारत में जहाँ ग्रहण नहीं देखा जा सकता वहां के लोग इससे नासा की ऑफिशियल वेबसाइट पर लाइव स्ट्रीमिंग के ज़रिए देख सकते हैं। ये लाइव स्ट्रीमिंग 2:30 PM के बाद स्टार्ट होगी और इससे आप उसके बाद देख सकते हैं। इसे आप यूट्यूब पर भी देख सकते हैं।

Email us at connect@shethepeople.tv