ब्लॉग

Sushma Swaraj Death Anniversary: जानिये सुषमा स्वराज के बारे में 10 लाइफ फैक्ट्स

Published by
Ayushi Jain

पिछले साल ठीक इसी दिन सुषमा स्वराज की कार्डियक अरेस्ट के कारण मृत्यु हो गई थी। सुषमा स्वराज भारत  की जानी मानी पोलिटिकल लीडर और सुप्रीम कोर्ट लॉयर थी।  सुषमा स्वराज सबसे कम उम्र की हरयाणा की कैबिनेट मिनिस्टर बनी थी । वह इंदिरा गांधी के बाद कार्यालय संभालने वाली दूसरी महिला थीं। वह सात बार संसद सदस्य और तीन बार विधान सभा सदस्य के रूप में चुनी गई। 1977 में 25 वर्ष की आयु में, वह भारतीय राज्य हरियाणा की सबसे कम उम्र की कैबिनेट मंत्री बनी। उन्होंने 1998 में थोड़े समय के लिए दिल्ली की 5 वीं मुख्यमंत्री के रूप में सेवा की और दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री बनी।

एक्सटर्नल अफेयर्स मिनिस्टर रहते हुए उन्होंने विदेश में फंसे हुए बहुत सारे लोगों की मदद की और उन्हें सही सलामत भारत वापस लाने में कामयाब रही। इसी कारण वो लोगों में काफी लोकप्रिय भी रही। सुषमा स्वराज के इस अपनेपन से व्यवहार के कारण जनता उनसे काफी जुडी हुई थी। सुषमा भी लोगों की अपनी होने के कारण हर समय सभी की मदद के लिए तत्पर रहती थी। पूरी दुनिया में जहाँ भी भारतीय फंसे होते थे बस एक गुहार से अपने वतन वापस लौटने की उम्मीद को  जगाये रखते थे और सुषमा स्वराज उनकी उम्मीद पर हमेशा खरी उतरती थी।

सुषमा स्वराज के बारे में दस लाइफ फैक्ट्स

आज उनकी पहली पुण्यतिथि पर हम जानेंगे उनके बारे में कुछ इंटरेस्टिंग फैक्ट्स।

  1. सुषमा स्वराज का जन्म 14 फरवरी 1952 को अम्बाला में हुआ था।
  2. उन्होंने सनातन धर्म कॉलेज अम्बाला से संस्कृत और पोलिटिकल साइंस में ग्रेजुएशन किया था।
  3. उन्होंने पंजाब यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़ से लॉ की पढ़ाई की।
  4. उन्होंने एक स्टेट लेवल कम्पटीशन में तीन साल तक बेस्ट हिंदी स्पीकर का पुरुस्कार जीता।

  5. उन्होंने 1973 में सुप्रीम कोर्ट में एडवोकेट के रूप में अपनी लॉ प्रैक्टिस शुरू की।
  6. उन्होंने अपना पोलिटिकल करियर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के साथ 1970 में शुरू किया था।
  7. वो दिल्ली की चीफ मिनिस्टर बनने वाली पहली महिला थी ।
  8. वो काफी समय तक इनफार्मेशन और ब्राडकास्टिंग मिनिस्टर भी रही थी।
  9. 2003 में सुषमा हेल्थ और फॅमिली वेलफेयर मिनिस्टर भी रही थी।
  10. 2014 -2019 तक सुषमा एक्सटर्नल अफेयर्स मिनिस्टर थी।
  11. सुषमा स्वराज को 2019 में पद्मा विभूषण से भी सम्मानित किया गया था।

सुषमा स्वराज ने देश के प्रति अपने फ़र्ज़ को बखूभी निभाया और अपने राजनीतिक करियर में उन्होंने बार -बार यह साबित किया की महिलाएं किसी से कम नहीं है। सुषमा भारत की महिलाओं की प्रगति के लिए एक बेहतरीन उदहारण हैं। राजनीती के आलावा भी सुषमा ने महिला सशक्तिकरण जैसे कई सामाजिक मुद्दों पर देश वासियों को प्रेरित किया है।

और पढ़ें: मिलिए साल 2019 में दुनिया को अलविदा कहनेवाली शानदार हस्तियां

Recent Posts

Justice For Delhi Cantt Girl : जानिये मामले से जुड़ी ये 10 बातें

रविवार को दिल्ली कैंट एरिया के नांगल गांव में एक नौ वर्षीय लड़की का बलात्कार…

38 mins ago

ट्विटर पर हैशटैग Justice For Delhi Cantt Girl क्यों ट्रैंड कर रहा है ? जानिये क्या है पूरा मामला

दक्षिण-पश्चिम दिल्ली में दिल्ली कैंट के पास श्मशान के एक पुजारी और तीन पुरुष कर्मचारियों…

1 hour ago

दिल्ली: 9 साल की बच्ची के साथ बलात्कार, हत्या, जबरन किया गया अंतिम संस्कार

दिल्ली में एक नौ वर्षीय लड़की का बलात्कार किया गया, उसकी हत्या कर दी गई…

2 hours ago

रानी रामपाल: कार्ट पुलर की बेटी ने भारत को ओलंपिक में एक ऐतिहासिक जीत दिलाई

भारतीय महिला हॉकी टीम ने सोमवार (2 अगस्त) को तीन बार की चैंपियन ऑस्ट्रेलिया को…

17 hours ago

टोक्यो ओलंपिक: गुरजीत कौर कौन हैं ? यहां जानिए भारतीय महिला हॉकी टीम की इस पावर प्लेयर के बारे में

मैच के दूसरे क्वार्टर में गुरजीत कौर के एक गोल ने भारतीय महिला हॉकी टीम…

17 hours ago

मंदिरा बेदी ने कहा जब बेटी तारा हसने को बोले तो मना कैसे कर सकती हूँ?

मंदिरा ने वर्क आउट के बाद शॉर्ट्स और टॉप में फोटो शेयर की जिस में…

17 hours ago

This website uses cookies.