Intimate hygiene: शरीर की अंदरूनी सफाई के लिए अपनाएं यह 5 टिप्स

कुछ बेसिक हाइजीन की बातों को ध्यान में रखकर आप अपने साथ-साथ अपनों की भी सेहत का ख़्याल रख सकते हैं। आइए समझते हैं इंटिमेट हाइजीन के बारे में इस हैल्थ संबंधी ब्लॉग में।

Aastha Dhillon
12 Dec 2022
Intimate hygiene: शरीर की अंदरूनी सफाई के लिए अपनाएं यह 5 टिप्स

Intimate hygiene

Intimate hygiene: हाइजीन का अर्थ है स्वस्थ रहने का तरीका। यह न केवल शारीरिक, बल्कि मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी ज़रूरी है, क्योंकि इसका सीधा असर आपके मन-मस्तिष्क पर पड़ता है। इसकी अनदेखी से जहां एक ओर आपको शारीरिक परेशानियां हो सकती हैं, वहीं दूसरी ओर आप किसी संक्रामक बीमारी की चपेट में भी आ सकते हैं। कुछ बेसिक हाइजीन की बातों को ध्यान में रखकर आप अपने साथ-साथ अपनों की भी सेहत का ख़्याल रख सकते हैं। आइए समझते हैं इंटिमेट हाइजीन के बारे में इस हैल्थ संबंधी ब्लॉग में।

आइए जानिए इंटिमेट हाइजीन को बरकरार रखने के लिए 5 टिप्स(Tips to Maintain Intimate Hygiene)

1. फैब्रिक(Fabric) का रखें ख्याल

जैसा कि, वजाइना की स्किन बहुत नाजुक होती है और यह एक बहुत ही संवेदनशील पार्ट है। इसीलिए, वजाइना को कवर करने के लिए आरामदायक और सूती कपड़े के अंडरवेयर पहनने की सलाह दी जाती है। कॉटन के कपड़े पहनने से पसीना आसानी से सूख सकता है। जबकि, नायलॉन या स्पैन्डेक्स जैसे सिंथेटिक फैब्रिक से बनने वाले अंडरगार्मेंट्स पहनने से स्किन को नुकसान पहुंच सकता है। जबकि, अंडरगार्मेंट्स की बनावट के लिए लगाए गए लेस और अन्य डिजाइनर चीजों की वजह स्किन को खरोंच लग सकती है।

2. कपड़ों की सफाई के लिए इस्तेमाल करें माइल्ड या सॉफ्ट साबुन

अंडरवेयर सबसे सॉफ्ट होते हैं और ये शरीर के सबसे सेंसिटिव एरिया के सम्पर्क में आते हैं। ऐसे में अगर किसी हार्श या कठोर साबुन का इस्तेमाल इनकी सफाई के लिए करते हैं तो इससे वजाइनल हेल्थ को नुकसान हो सकता है। कठोर साबुन और केमिकल युक्त फैब्रिक क्लिंजर से अंडरवेयर धोने से वजाइना में एलर्जी, खुजली, इरिटेशन और रैशेज हो सकते हैं।

​3. आगे से पीछे की ओर पोछें

टॉयलेट सुविधाओं का उपयोग करने के बाद इंफेक्शन को दूर रखने के लिए आप जिस दिशा में पोंछते हैं, वह महत्वपूर्ण है। अक्सर देखा गया है कि महिलाएं पूछने पर अधिक ध्यान नहीं देती जिसकी वजह से इंफेक्शन एवं रेशेज के खतरे बढ़ जाते हैं। विशेषज्ञ सुरक्षा और प्रभावशीलता के लिए हमेशा आगे से पीछे की ओर पोंछने की सलाह देते हैं।

4. Douche का यूज न करें

वजाइना को साफ करने के लिए नियमित रूप से Douche का इस्तेमाल करने से इसका पीएच लेवल प्रभावित हो सकता है। इसकी अम्लता के स्तर को नुकसान पहुंच सकता है, जिससे आप कई तरह के रोगाणुओं के संपर्क में आ जाते हैं, जो स्वास्थ्य की स्थिति और UTI जैसे संक्रमण के लिए जिम्मेदार है।

​5. सुगंधित जेल, वाइप्‍स और साबुन का इस्तेमाल न करें

आपकी वजाइना में पीएच स्तर और बैक्टीरिया का संतुलन बड़ा नाजुक होता है। लेकिन यह तब असंतुलित हो सकता है जब आप केमिकल युक्त प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल वजाइना को साफ करने के लिए करते हैं। इसलिए आप अपने अंतरंग क्षेत्रों को धोते समय खुशबू वाले व्हाइप्स, स्प्रे, पाउडर, सरंबुल और जैल से बचना चाहिए।
इसके बजाय ऐसे फॉम और वॉश का यूज करें, जो खासतौर से आपके जननांग को साफ करने के लिए ही डिजाइन किए गए हो।

Read The Next Article