वजाइनल इन्फेक्शन होने की वजह से महिलाओं को बहुत अजीब महसूस होने लगता है और अपनी नॉर्मल लाईफ जीने में भी काफी परेशानियां होने लगती हैं। इसके कारण उन्हें अपने दैनिक कार्य करने में भी दिक्कत आती है। तो, आज हम आपको इस इन्फेक्शन को खत्म करने के लिए डॉ तान्या द्वारा सुझाए गए कुछ सुझावों के बारें में बताते हैं जो आपको वेजाइनल इंफेक्शन से छुट्टी दिलाने में मदद करेंगें। डॉ तान्या के अनुसार वेजाइनल इंफेक्शन होने का कारण हमारी लाइफस्टाइल, खाना-पान, पहनावा और लापरवाही जिम्मेदार है।

वेजाइनल इंफेक्शन क्या है?

डॉ तान्या के अनुसार वजाइनल इंफेक्शन एक तरह का फंगस होता है जो काफी कम मात्रा में वेजाइना में पाया जाता है। अगर आपकी वजाइना में फंगस ज्यादा हो जाए तो उससे संक्रमण या इंफेक्शन हो सकता है। ऐसे इंफेक्शन होने पर वेजाइना में खुजली बहुत ज़्यादा बढ़ जाती है। वैसे तो पुरुषों को भी इसका एक्सपीरियंस हो सकता है लेकिन यह समस्या महिलाओं में ज्यादा आम है। वजाइनल इंफेक्शन से महिलाओं की वजाइना पर सफेद रंग के निशान पड़ जाते हैं और वहां से होने वाले डिस्चार्ज से बदबू आती है।

वेजाइनल इंफेक्शन के कारण

-ज्यादा एंटीबायोटिक्स लेना
-एस्ट्रोजन लेवल में बढ़ोत्तरी
-हाई डायबिटीज़ वाली महिलाएं
-कमजोर रजिस्टेंस पावर
-सेक्शुअली एक्टिव होना

वजाइनल इंफेक्शन के लक्षण

महिलाओं को अपने जीवन में कभी न कभी इससे रूबरू जरूर होना पड़ता है। बहुत सी महिलाएं तो दो या इससे भी ज्यादा तरह के वजाइनल इंफेक्शन से भी अफेक्टेड होती हैं। लेकिन सभी महिलाओं को वजाइनल इन्फेक्शन के लक्षण महसूस नहीं होते हैं या फिर नॉर्मल खुजली की तरह लगते हैं। डॉ तान्या के अनुसार अगर आपको नीचे बताएं हुए लक्षण महसूस होते हैं तो आपको एक बार डॉक्टर से जरूर मिलना चाहिए।

-वजाइना में या उसके आसपास खुजली और दर्द होना
-वजाइना के आसपास की जगह पर रैशेज, दाने होना
-सेक्स के दौरान वेजाइना में दर्द होना
-वेजाइना से अत्यधिक बदबू का आना

वजाइनल इंफेक्शन से छुटकारा पाने के लिए डॉ तान्या के ये सुझाव आ सकते हैं आपके काम

डॉ तान्या और एक्सपर्ट्स का मानना है कि प्राइवेट पार्ट के आस-पास साफ-सफाई न रखने से वेजाइना में इन्फेक्शन होने का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए सबसे पहला काम आपको यही करना है कि आप अपने शरीर और वेजाइना की साफ-सफाई का खास ख्याल रखें।

-अच्छी तरह से सुखे कपड़ो का उपयोग करें।

-अधिक कसे कपड़े या पॉलिएस्टर और नायलॉन के बने कपड़े पहनने से बचें, क्योंकि इन कपड़ो में नमी जमा हो जाती है। सूती के कपड़ों को ज्यादा इस्तेमाल करें।

– दूसरों की चीज़ों को इस्तेमाल करने से बचना चाहिए, क्योंकि यह एक फंगल इंफेक्शन होने का कारण बन सकता है।

-वजाइना को बहुत अधिक बार धोनें से बचें।

-लास्ट में, किसी भी तरह के इंफेक्शन से बचने के लिए खान-पान का विशेष ध्यान रखना चाहिए। विटामिन और प्रोटीन वालें फल-सब्जियां ज्यादा खानें चाहिए।

पढ़िए : क्या आप अपनी Vagina से जुड़ी ये 5 बातें जानते हैं ?

Email us at connect@shethepeople.tv