अक्सर औरतों में सेक्स के समय इंटरकोर्स के दौरान वेजाइना में दर्द की समस्या पाई जाती है। इस दर्द को औरतें मामूली दर्द समझकर नजरअंदाज कर देती हैं पर यह एक बड़ी समस्या में तब्दील हो सकता है। तो आइए जानते हैं वजाइना में दर्द होने का मुख्य कारण क्या होता है

वजाइना में दर्द का मुख्य कारण इस प्रकार है

अक्सर औरतों को अपने  वजाइना में इन एक्टिविटीज के दौरान दर्द का सामना करना पड़ता है जैसे

  1.  सेक्स या इंटरकोर्स,
  2. पीरियड के दौरान टैंपोन का इस्तेमाल करने से,
  3. वजाइना के आस पास के हिस्से को छूने से

यह सब समस्या आपको Vaginismus की बीमारी होने के कारण भी देखनी पड़ सकती हैं

Vaginismus क्या है ?

यह एक प्रकार का sexual dysfunction है जो औरतों में अक्सर कई कारणों से और कई बार बिना किसी कारण से भी हो सकता है।

Vaginismus दो प्रकार के होते हैं –

  • Primary vaginismus – जब पहले कभी इस दर्द का सामना न किया हो या penetration हो ही ना पाया हो।
  • secondary vaginismus – जब पहले एक दो बार penetration हो गया हूं लेकिन अब इन्हीं समस्याओं के कारण पेनिट्रेशन में दिक्कतें आने लगी हैं।

कुछ औरतों में यह समस्या मेनोपॉज के बाद आती है।

Vaginismus के कारण

ऐसे तो इसके ज्यादा कारण नहीं देखे जाते पर फिर भी कई महिलाओं में इसके कारण कुछ इस प्रकार है

  • अतीत में सेक्सुअल ट्रौमा
  • अतीत में दर्दनाक सेक्सुअल इंटरकोर्स
  •  इमोशनल फैक्टर

कई केस में इस प्रकार का कोई कारण नहीं देखा जाता।

Vaginismus के लक्षण

  • शुरुआत में वजाइना के मसल का टाइट होना ही इसका लक्षण होता है लेकिन धीरे-धीरे यह समस्या बढ़ने लगती है। वजाइना के टाइट होने के कारण पेनिट्रेशन बहुत मुश्किल हो जाता है।
  • अगर आपको Vaginismus है तो आप अपने वेजाइना के टाइट होने को रोक नहीं सकते।
  • इस समस्या के दौरान आप सेक्सुअल डिजायर को पहले से कम महसूस करेंगे।

अगर आपको भी वजाइना में दर्द महसूस होता है या फिर दर्द की समस्या बहुत ज्यादा है तो अपने डॉक्टर को जरूर दिखाएं।

Email us at connect@shethepeople.tv