Does PCOS Darken Skin ? स्किन डार्कनिंग के पीछे क्या हैं कारण

Does PCOS Darken Skin ? स्किन डार्कनिंग के पीछे क्या हैं कारण Does PCOS Darken Skin ? स्किन डार्कनिंग के पीछे क्या हैं कारण

Sanjana

03 Jun 2022

अगर आपने भी आपकी गर्दन के पिछले हिस्से पर डार्कनिंग और पिगमेंटेशन जैसे कुछ लक्षण महसूस किये है तो आपको बता देते है कि हेल्थ के क्षेत्र में इसको अकान्थोसिस निग्रिकान्स का नाम दिया गया है  इस तरह की समस्या में आपकी स्किन के फोल्ड्स यानि आपके शरीर पर जहाँ जहाँ आपकी स्किन मुड़ी हुई होती है जैसे कि आपकी गर्दन, बगल, जांघ और घुटने पर आपकी स्किन का मलिनीकरण हों जाता है

ये स्थिति कैसे उत्पन्न होती है-


इन्सुलिन रेजिस्टेंस - ये समस्या अधिकांश उन लोगों को होती है जो इन्सुलिन रेजिस्टेंस यानि इन्सुलिन के प्रति प्रतिरोधी होते है। इन्सुलिन पेनक्रिआज द्वारा सीक्रेट होने वाला एक हार्मोन है और अकान्थोसिस निग्रिकान्स से पीड़ित व्यक्तियों के लिए सबसे घातक साबित होने वाला कारक है आपके रक्तप्रवाह में इन्सुलिन की ज्यादा मात्रा होना । 
जब आप कुछ कहते हैं तो आपकी बॉडी कार्बोहाइड्रेट्स को शुगर मोलेक्युल्स यानि ग्लूकोस जैसे पदार्थों में बदलना शुरू कर देती है


जिसकी वजह से आपके शरीर की कोशिकाएं इसमें से कुछ ग्लूकोस को एनर्जी के लिए इस्तेमाल कर लेती है और बाकी बचे हुए ग्लूकोस को आपकी बॉडी स्टोर कर लेती है। 


मोटापे से ग्रस्त लोगों की बॉडी समय के साथ इन्सुलिन से रेजिस्टेंस बना लेती है हालाँकि अग्नयाशय इन्सुलिन बनता है लेकिन बॉडी इन्सुलिन का सही तरीके से इस्तेमाल नहीं कर पाती जिसकी वजह से  आपके रक्तप्रवाह में ग्लूकोस इकठ्ठा होना शुरू हों जाता है और इसके ही कारण आपके रक्तप्रवाह में ब्लड ग्लूकोस और इन्सुलिन दोनों की ही मात्रा अत्यधिक रूप से बढ़ जाती है। 

⁠⁠⁠⁠⁠⁠⁠
इन्सुलिन की अधिक मात्रा स्किन सेल्स के नंबर को तेज़ गति से बढ़ने का कारण बनती है  और इन नयी बनने वाली स्किन सेल्स में पहले की तुलना में अधिक मेलेनिन होता है।  और  सेल्स में मेलेनिन के बढ़ने के कारण आपकी स्किन पर गहरे रंग के धब्बे बनना शुरू हों जाते है और यह धब्बे अपने आस पास की स्किन से ज्यादा डार्क होते हैं ।

अकान्थोसिस निग्रिकान्स का उपचार - अकान्थोसिस निग्रिकान्स कोई बीमारी नहीं है, लेकिन यह एक लक्षण है किसी दूसरी गंभीर बीमारी जैसे डायबिटीज की और यह आपको बताता है कि आपको डॉक्टर से जाँच करने की आवश्यकता है। 
अगर आप इस समस्या से प्रभावित अपनी त्वचा को लेकर चिंतित है तो आप  कॉस्मेटिक ट्रीटमेंट भी ले सकते है।  इस तरह कि ट्रीटमेंट में शामिल होते है -
1 - रेटिन - ए , 20 प्रतिशत यूरिया, अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड्स, एंड सैलिसिलिक एसिड जैसे स्किन लाइटनर्स। 
2 - ओरल एक्ने मेडिकेशन्स 
3 - लेज़र थेरेपी।

अनुशंसित लेख