हार्मोनल एक्ने का मतलब है एक्ने जो आपके हार्मोनल फ्लुक्टुएशन्स के कारण होता है। ये आपको किसी भी उम्र में एफेक्ट कर सकता है। आम तौर पर महिलाओं को इसकी शिकायत ज़्यादा होती है। शोध बताते हैं की 20 से लेकर 29 उम्र की 50 प्रतिशत महिलाओं को एक्ने की समस्या होती है। प्यूबर्टी में होने वाले एक्ने का कारण ज़्यादातर होर्मोनेस है लेकिन एडल्ट्स में एक्ने का कारण है हार्मोनल इम्बैलेंसेस। जानिए इसके बारे में और बातें।

हार्मोनल एक्ने की क्या है विशेषताएं?

अगर हार्मोनल एक्ने प्यूबर्टी में हो तो ये आम तौर पर आपके चेहरे के टी-सेक्शन में होता है। इसका मतलब एक्ने आपके फोरहेड, नाक और चिन पे होगा। एडल्ट्स में  आम तौर पर ये आपके जॉलाइन में होता है। कई बार ये ब्लैकहेड्स और वाइटहेड्स के रूप में भी आपके स्किन में आ सकता है। कई बार पोल्य्सिस्टिक ओवरी सिंड्रोम और मेंस्ट्रुएशन के कारण भी हॉर्मोन में आये इंफ्लक्स के वजह से भी एक्ने हो सकता है।

क्या है हार्मोनल एक्ने डाइट?

हार्मोनल एक्ने से बचने के लिए आपको अपनी डाइट में कुछ विशेष प्रकार की चीज़ों को शामिल करना होता है। ऐसी कुछ चीज़ें हैं पत्तेदार सब्ज़ियां जैसे फूलगोबी और पालक, प्लांट बेस्ड डेरी अल्टरनेटिव्ज जैसे की आलमंड मिल्क और कोकोनट योगहर्ट, हेल्दी फैट्स जैसे एग्स और ओलिव ऑइल और हाई कंटेंट प्रोटीन डाइट।

क्या है हार्मोनल एक्ने का इलाज?

अपने एक्ने को सुधारने के लिए आप ओरल कॉन्ट्रासेप्टिव्स ले सकती हैं। इनमें एथीनिलेस्ट्राडिओल होता है जो उन होर्मोनेस को टारगेट करते हैं जिनसे आपको एक्ने की समस्या हो रही है। अगर आपकी हाई ब्लड प्रेशर या ब्लड क्लॉट्स की हिस्ट्री है तो ये आपके लिए सही नहीं रहेगा। इसके अलावा आप एंटी एण्ड्रोजन ड्रग्स जो मेल हॉर्मोन एण्ड्रोजन की मात्रा घटाते हैं या फिर रेटिनॉइड्स का इस्तेमाल कर सकती हैं।

क्या है  इसको ट्रीट करने के नेचुरल तरीकें?

अगर आपको माइल्ड प्रॉब्लम है तो आपके लिए सबसे बेहतर उपाय है नेचुरल तरीकों से इसका इलाज करना। नेचुरल इलाज के लिए सबसे कारगर है टी ट्री ऑइल जो आपके इंफ्लमैशन को कम कर सकता है। इसमें आपकी अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड्स भी बहुत सहायता कर सकते हैं जो प्लांट बेस्ड साइट्रस फ्रूट्स से बनाए जाते हैं। इसलिए अगर आपको माइल्ड एक्ने की तकलीफ है तो अपने डॉक्टर से सलाह लेकर आप अपने लिए सही ट्रीटमेंट चुन सकती हैं।

Email us at connect@shethepeople.tv