मेंस्ट्रूअल कप क्या है – महिलाओं को हर महीने पीरियड का सामना करना पड़ता हैं। वही खून से बचाव के लिए ज्यादातर महिला पैड का इस्तेमाल करती हैं। जिसके कारण कई बार में कपड़ों में खून के धब्बे और रैशेज जैसी समस्या होती हैं। साथ ही यह पर्यावरण के लिए भी अच्छा नहीं है। पीरियड से बचने का पैड एकमात्र उपाय नहीं है, इसके अलावा मेंस्ट्रूअल कप का इस्तेमाल भी किया जा सकता है। यह सिर्फ पर्यावरण के लिए अच्छी नहीं है बल्कि यह कई समस्याओं से भी राहत देती हैं।

1. मेंस्ट्रूअल कप क्या है ?

यह सिलिकॉन या लैटेक्स से बना हुआ उपकरण है, जो कोन के आकार का होता है। इसे पीरियड्स के दौरान योनि में डाला जाता है और खून को इसमें इकट्ठा किया जाता है। यह कप अलग अलग आकार में आते हैं, इसके साइज का चुनाव सर्विक्स के माप के अनुसार किया जाता है।

2. मेंस्ट्रूअल कप को कैसे इस्तेमाल करें ?

मेंस्ट्रूअल कप का इस्तेमाल करने से पहले अपना हाथ धो लें। फिर उसे C आकार में मोर लें और योनि में डाल दें, यह आपकी योनि की बाहरी लेयर में फिट हो जाता है। इसे अच्छी तरह फिट करने के लिए डालने के बाद एक बार हल्का सा घुमाएं। शुरुआत में इससे योनि में डालने में दिक्कत हो सकती है लेकिन एक बार इस्तेमाल करने के बाद यह आसान लगने लगती है।

3. इसका सही साइज कैैेसे चुनें ?

मेंस्ट्रूअल कप खरीदते समय इसका साइज का विशेष रूप से ध्यान रखें। गलत साइज लगाने से योनि में दिक्कत भी हो सकती है। इसके साइज का चुनाव अपने उमर और सर्विस के मैप के अनुसार करें। जैसे कि आपका सर्विक्स लंबा या छोटा है, कितना ज्यादा फ्लो होता है। छोटा मेंस्ट्रूअल कप 30 साल से कम उम्र वाली महिलाओं के लिए होता हैं। और बड़़ा मेंस्ट्रूअल कप 30 साल से ज्यादा उम्र वाली महिलाओं के लिए होता हैं।

4. पीरियड्स में मेंस्ट्रूअल कप इस्तेमाल करने के फायदे –

1. इसे बार-बार पैड की तरह चेंज करने की कोई जरूरत नहीं होती। इसे लगातार 12 घंटे तक इस्तेमाल किया जा सकता है।

2. हर महीने इसे पैड की तरह खरीदने के लिए पैसे बर्बाद नहीं करना पड़ते। एक बार खरीदने के बाद 2 साल तक आराम से इस्तेमाल किया जा सकता है।

3. यह ब्लड को निकलने से पहले ही अपने अंदर लें लेता है। जिसके कारण बदबू नहीं आती और रैशेज की समस्या से भी राहत मिलती है।

4. पर्यावरण के लिए भी अच्छा है। क्योंकि इसे बार-बार इस्तेमाल किया जा सकता है।

5. यह TSS( Toxic Shock Syndrome) से राहत देता है। यह एक बैक्टीरियल बीमारी है जो टेेंपोंस और पैड के इस्तेमाल करने से होती हैं।

Disclaimer – यह सार्वजनिक रूप से एकत्रित जानकारी है। यदि आपको किसी विशिष्ट सलाह की आवश्यकता है तो कृपया डॉक्टर से परामर्श करें ।

Email us at connect@shethepeople.tv