What Is Uric Acid? शरीर मे अधिक मात्रा से हो सकते हैं यह नुकसान

What Is Uric Acid? शरीर मे अधिक मात्रा से हो सकते हैं यह नुकसान What Is Uric Acid? शरीर मे अधिक मात्रा से हो सकते हैं यह नुकसान

Sanjana

20 Aug 2022

यूरिक एसिड खून में पाया जाने वाला एक व्यर्थ पदार्थ होता है। यह शरीर में केमिकल के टूटने से उत्पादित होता है। अधिकतर यूरिक एसिड खून में भूल जाते हैं और किडनी के जरिए फिल्टर होकर पेशाब के साथ बाहर निकल जाते हैं। जिन केमिकल के टूटने से यह बनता है वे अधिकतर कुछ फूड और ड्रिंक में पाए जाते हैं।

समुद्री फूड, लाल मीट और फ्रुक्टोज कॉर्न सीरप वाले फूड और ड्रिंक का सेवन करने से शरीर में यूरिक एसिड की मात्रा बढ़ सकती है। एल्कोहल भी इसका अहम सोर्स है। शरीर में यूरिक एसिड की अधिक मात्रा होने के कारण hyperuricemia हो सकता है। हाय कैसी कंडीशन है जिसमें यूरिक एसिड के क्रिस्टल बनने लगते हैं। यह क्रिस्टल घटना में बैठ जाते हैं जिसके कारण आर्थराइटिस भी हो सकता है। यह काफी दर्दनाक भी हो सकता था है।

यूरिक एसिड की अधिक मात्रा से होते हैं यह नुकसान

1.hyperuricemia

शरीर में अत्यधिक यूरिक एसिड होने के कारण hyperuricemia हो सकता है। यह एक ऐसी कंडीशन है जिसमें यूरिक एसिड के क्रिस्टल बनने लगते हैं। यह क्रिस्टल घटना में जाकर जमा हो जाते हैं। एक तरह के अर्थराइटिस को जन्म देता है जो काफी दर्दनाक होता है। यह क्रिस्टल किडनी में जाकर भी बैठ सकते हैं जिसके कारण पथरी की समस्या उजागर हो सकती है।

2. दिल की बीमारी

यूरिक एसिड की अधिक मात्रा होने के कारण यह क्रिस्टल बन कर ह्रदय और किडनी से संबंधित बीमारियों की वजह बनती हैं। यहां तक कि यह भी देखा गया है केवल शुगर की अधिक मात्रा से नहीं बल्कि यूरिक एसिड की अधिक मात्रा से भी डायबिटीज होने का खतरा होता है। 

Hyperuricemia के कारण

1. किडनी

जब आपकी किडनी सही तरह से ब्लड को सही कर करके उसमें से यूरिक एसिड बाहर नहीं निकाल पाती है तो यह यूरिक एसिड शरीर में ही घूमता रहता है। इसके कारण देखते ही देखते शरीर में यह जमा होता जाता है और इसकी मात्रा बढ़ जाती है। इसकी अधिक मात्रा के कारण स्वास्थ्य संबंधी कई बीमारियां भी हो सकती है।

2. कीमोथेरेपी

कैंसर का इलाज करने वाली कीमोथेरेपी इस समस्या का कारण बन सकती है। यह सेल्स की मृत्यु दर बढ़ा देती है। कीमोथेरेपी के कारण अक्सर शरीर में यूरिक एसिड लेवल बढ़ जाता है। इसके बाद भी शरीर में काफी सेल डैमेज हो जाते हैं और ट्यूमर लाइसेंस सिंड्रोम होने की संभावना बढ़ जाती है। किडनी की बीमारी के कारण यह समस्या हो सकती है। कैंसर जैसी बीमारियों के इलाज में प्रयोग की गई दवाइयां यूरिक एसिड के लेवल को बढ़ा सकती हैं।

अनुशंसित लेख