वाईएस शर्मिला रेड्डी : आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस जगन मोहन रेड्डी की बहन वाईएस शर्मिला रेड्डी ने तेलंगाना सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। यह राज्य में विभिन्न सरकारी नौकरियों के लिए नौकरी की अधिसूचना जारी करने की मांग करने के लिए किया गया था। शर्मिला ने एएनआई को बताया, “मैं तेलंगाना सरकार के खिलाफ भूख हड़ताल पर बैठी हूं। क्योंकि तेलंगाना सरकार सरकारी नौकरियों को भरने के लिए अधिसूचना जारी करने में विफल रही।” उन्होंने यह भी कहा कि उनकी भूख हड़ताल का उद्देश्य तेलंगाना सरकार पर बेरोजगारी को प्राथमिकता देने के लिए दबाव डालना और बेरोजगार लोगों, खासकर युवाओं के लिए अधिक नौकरियां पैदा करना है।

तेलंगाना राज्य लोक सेवा आयोग में रिक्त पदों के बारे में वाईएस शर्मिला रेड्डी ने बताया

हालांकि, नगरपालिका प्रशासन और शहरी विकास मंत्री कलवकुंतला तारक रामा राव ने कहा कि 1,32,000 से अधिक लोगों को पहले ही नौकरी दी जा चुकी है।

वाईएस शर्मिला रेड्डी ने तब उनके बयान पर सवाल उठाते हुए कहा कि कुछ रिपोर्टों में दावा किया गया था कि 1,91,000 सरकारी नौकरियां अभी भी खाली हैं। उन्होंने तब दावा किया कि कई योग्य युवा उम्मीदवार लोग बेसब्री से नौकरी के नोटिफिकेशन का इंतजार कर रहे हैं और “आत्महत्या” भी कर रहे हैं।

वाय एस शर्मिला रेड्डी ने कहा पिछले 7 (सात) वर्षों से, राज्य सरकार ने किसी नौकरी की अधिसूचना जारी नहीं की है और तेलंगाना में लगभग 30 लाख बेरोजगार युवा हैं। उसने आगे दावा किया कि युवा इन सभी वर्षों के इंतजार के बाद बेचैन हो गए हैं और वे अब आत्महत्या कर रहे हैं।

वाईएस शर्मिला रेड्डी ने तब तेलंगाना राज्य लोक सेवा आयोग (TSPSC) के बारे में भी बताया। उनके अनुसार, TSPC जो आमतौर पर एक अध्यक्ष और 10 सदस्यीय समिति द्वारा संचालित होता है पर वास्तव में एक व्यक्ति द्वारा प्रबंधित की जा रही है। फिर उन्होंने कहा कि ऐसी रिक्तियों को जल्द ही भरा जाना चाहिए ताकि बेरोजगारी के असली मुद्दे की जांच की जा सके।

शर्मिला ने गुरुवार को पैदल मार्च करने के लिए पुलिस हिरासत में लिए जाने पर आपत्ति जताई। यह उनकी चल रही भूख हड़ताल का पहला दिन था। शर्मिला ने कहा ‘जब तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव एक सार्वजनिक बैठक कर सकते हैं तो हमें विरोध प्रदर्शन करने की अनुमति क्यों नहीं दी जा सकती है और पुलिस ने हमें ऐसा करने की अनुमति क्यों नहीं दी है।’

Email us at connect@shethepeople.tv