शर्मिला टैगोर आयी एक्टिंग में वापस, जानिए इनकी फेमस फिल्मों के बारे में

शर्मिला टैगोर आयी एक्टिंग में वापस, जानिए इनकी फेमस फिल्मों के बारे में शर्मिला टैगोर आयी एक्टिंग में वापस, जानिए इनकी फेमस फिल्मों के बारे में

Swati Bundela

11 May 2022

शर्मिला ने एक्टिंग में वापस आने पर कहा “After a considerable gap, I am very happy to be in the familiar and well-loved ambience of a film set. I agreed almost immediately to be a part of Team Gulmohar – after the moving narration of this heartwarming and beautifully written story/ script." इनको फिल्म कीस्क्रिप्ट बहुत पसंद आयी थी इसलिए इन्होंने तुर्रंत हाँ कर दी थी।  

शर्मिला टैगोर की फेमस फिल्में - 

कश्मीर की कली 

शम्मी कपूर और शर्मिला टैगोर ने पहली डेब्यू फिल्म कश्मीर की कली नाम से की थी।  यह एक रोमांटिक फिल्म है और 1964 में रिलीज़ हुई थी।  इस फिल्म में प्रान, धूमल, नज़ीर हुसैन और अनूप कुमार भी हैं।  इस फिल्म में राजीव भागकर कश्मीर चले जाते हैं क्योंकि यह शादी नहीं करना चाहते हैं और फिर इन्हें एक कश्मीरी लड़की से प्यार हो जाता है जिसका रोल टैगोर प्ले करती हैं।  

सत्यकाम 

यह सत्यकाम फिल्म एक ड्रामा फिल्म है और 1969 में रिलीज़ की गयी थी।  इस फिल्म की कास्ट में धर्मेंद्र, टैगोर, सजीव कुमार और अशोक कुमार थे। सत्यप्रिय आचार्य एक इंजीनियरिंग स्टूडेंट होते हैं फिल्म में जो कि बहुत अड़ियल होते हैं और सच नहीं मानते हैं।  टैगोर फिल्म में रंजना के रोल में हैं जो कि सत्यप्रिय से शादी कर लेती हैं।  इसके बाद यह एक बच्चे को जन्म देती हैं जिसके पिता गुमनाम होते हैं।  

अराधना

अराधना एक लव फिल्म है और 1969 में रिलीज़ की गयी थी। शर्मिला के साथ फिल्म में राजेश खन्ना हैं।  फिल्म में अरुण और वंदना की स्टोरी है जिनको एक दूसरे से बहुत प्यार होता है लेकिन राजेश खन्ना यानि अरुण की एक प्लेन हादसे में मौत हो जाती है।  इसके बाद कोई भी इनकी शादी को नहीं मानता है और यह प्रेग्नेंट होती हैं।  वंदना अपने बच्चे को अनाथआश्रम  में दे देती हैं और फिर वहां आया का काम करती हैं ताकि यह अपने बच्चे के पास रह सकें।  

अमर प्रेम 

अमर प्रेम एक बहुत ही फेमस फिल्म है।  यह एक रोमांटिक ड्रामा फिल्म है जो कि 1972 में रिलीज़ हुई थी। फिल्म में शर्मिला एक प्रोस्टीटूट यानि वैश्य के रोल में होती हैं जिनका दिल सोने का होता है। इस फिल्म में राजेश खन्ना एक अकेले उद्यमी होते हैं।  फिल्म में एक ऐसी औरत की कहानी बताई गयी है जो कि अपने हस्बैंड के छोड़ देने के बाद वैश्यालय में घुस जाती हैं न चाहते हुए भी।  

गुलमोहर फिल्म किस बारे में है?

रिपोर्ट्स के हिसाब से फिल्म बत्रा फैमिली के ऊपर है जिस में कई जनरेशन के लोग हैं।  यह एक ही घर में पिछले 34 साल से साथ में रह रहे होते हैं और घर बदलने वाले होते हैं।  लेकिन मुश्किल जब खड़ी होती है जब इन्हे अपने सारे पुराने अच्छे और बुरे दिन याद आते हैं।  यह एक दूसरे के साथ बिताया हुआ वक़्त फिर से याद करते हैं।  कैसे एक दूसरे के सीक्रेट और असुरक्षा यह आपस में छुपकर रखते हैं।  

इससे पहले शर्मिला ने आखिरी फिल्म सन 2010 में की थी। इसका नाम था ब्रेक के बाद और इस में इन्होंने नायिका आलिया खान की माँ का रोल प्ले किया था। आलिया खान के रोल में इस में दीपिका पादुकोण थीं। 


अनुशंसित लेख