Advertisment

जानें क्या कहा पलक तिवारी ने मॉम श्वेता के संघर्ष के दौर के बारे

इस ब्लॉग में, हम श्वेता तिवारी की यात्रा के बारे में गहराई से जानेंगे और उन चुनौतियों के बारे में जानेंगे, जिनसे वह आज एक सफल अभिनेत्री बन पाई हैं, जैसा की उनकी बेटी पलक ने एक इंटरव्यू में शेयर किया है। जानें अधिक इस बॉलीवुड ब्लॉग में-

author-image
Vaishali Garg
New Update
Shweta Tiwari And Palak Tiwari  koimoi

Shweta Tiwari And Palak Tiwari (image credit: koimoi)

Shweta Tiwari Journey To Success: श्वेता तिवारी एक ऐसा नाम है जिसे किसी परिचय की आवश्यकता नहीं है। उन्होंने अपने शक्तिशाली प्रदर्शन के साथ वर्षों से हमारा मनोरंजन किया है और कुछ सबसे प्रतिष्ठित शो का हिस्सा रही हैं। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है की अत्यधिक कॉम्पिटीटर टेलिविजन इंडस्ट्री में सफलता हासिल करने के लिए क्या करना पड़ता है? हाल ही में, उनकी बेटी पलक तिवारी ने बड़े होने और अपने सपनों को हासिल करने के दौरान अपनी माँ के सामने आए कई संघर्षों के बारे में बात की।

Advertisment

इस ब्लॉग में, हम श्वेता तिवारी की यात्रा के बारे में गहराई से जानेंगे और उन चुनौतियों के बारे में जानेंगे, जिनसे वह आज एक सफल अभिनेत्री बन पाई हैं, जैसा की उनकी बेटी पलक ने Etimes के एक इंटरव्यू में शेयर किया है।

Shweta Tiwari Struggles: जानें क्या कहा पलक तिवारी ने मॉम श्वेता के संघर्ष के दौर के बारे 

Palak Tiwari, जो की 'बिजली बिजली' और 'किसी का भाई किसी की जान' जैसे गानो से मशहूर है, हाल ही में मीडिया के सामने अपने जीवन के बारे में खुलासा किया है। अपनी मां और टेलीविजन की सुपरस्टार श्वेता तिवारी के साथ व्यतीत होने वाले उनके जीवन के संघर्ष के बारे में भी बताया है।

Advertisment

पलक ने बताया की उनकी मां श्वेता तिवारी को जीवन में सफलता हासिल करने के लिए काफी मेहनत करनी पड़ी है। उनकी मां एक समय एक छोटे से एक कमरे के फ्लैट में रहती थी जहां उनके नाना, नानी, मामा, उनकी बेटी पलक और श्वेता सभी एक साथ रहते थे। लेकिन आज उनकी मां एक सफल अभिनेत्री हैं।

पलक ने बताया की उन्हें पता है की कुछ चीज़ें आसानी से मिलती नहीं हैं और उन्हें हर चीज के लिए शुक्रदान देना चाहिए। उन्हें लगता है की उनकी मां श्वेता की सफलता के पीछे कई साल की मेहनत और लगन है, जिससे उन्हें धैर्य की वैल्यू समझने में मदद मिली है।

पलक ने बताया की जब उनकी मां अपने करियर की शुरुआत कर रहीं थी तब उनके परिवार वाले उन्हें इस पेशे में सफलता हासिल करने से रोकते थे, लेकिन श्वेता तिवारी ने अपने सपनों को हकीकत में बदला और उन्हें पूरा किया। आज जब उनकी बेटी पलक भी उनके कदमों में चल रही है, तो उनकी मां के संघर्ष का भी एहसास है।

इस कहानी से हमें ये बात सीखने को मिलती है की संघर्ष का सामना हर किसी को करना पड़ता है और जीवन में सफलता हासिल करने के लिए मेहनत और लगन बहुत जरूरी है।

Shweta Tiwari Journey To Success Shweta Tiwari पलक तिवारी Palak Tiwari
Advertisment