फ़ीचर्ड

क्या हैं वो 5 बातें जो आपको कंगना रनौत की ज़िन्दगी से सीखनी चाहिए?

Published by
Jayanti Jha

बॉलीवुड़ ने हमें कई महान अभिनेता और अभिनेत्रियों से अवगत करवाया। कई लोगों को हमने बस उनके एक्टिंग की वजह से जाना तो कुछ को हमने एक्टिंग और उनके स्वभाव को भी जाना। ये स्वभाव समाज की सेवा, बेझिझक बोलने में और दूसरों की मदद करने में दिखती है। एक ऐसी ही अभिनेत्री हैं कंगना रनौत जिन्होंने बॉलीवुड को हिला दिया। आईये देखते हैं कैसे कंगना रनौत का शुरुआती बॉलीवुड सफ़र आसान नहीं रहा। कंगना ने 2006 में फ़िल्म गैंगस्टर से शुरुआत की। उसके लिए उन्हें फ़िल्मफ़ेरे नेशनल अवार्ड फ़ॉर बेस्ट डेब्यू मिला। इसके बाद का सफर उनके लिये काफ़ी कठिन रहा। उनकी फिल्में नहीं चली और जो भी रोल उन्होंने इस समय में किये, उसके लिए उन्हें काफ़ी ताने मिले। इसके बावजूद भी साल 2014 में उन्होंने क्वीन नामक फ़िल्म की जहां उन्हें काफ़ी प्रशंशा मिली। ये दर्शाता है कि आपको कभी हार नही मनना चाहिए और तूफान में भी डट के खड़े रहना चाहिए।

खुल के बोलने वाला जिगर

कंगना को अपने बेबाक बोलने के लिए जाना जाता है। हृतिक रोशन और अपने रिश्ते के ऊपर उन्होंने जो कुछ भी किया वो दर्शाता है कि वो किसी से नही डरती और अपने साथ हुए गलत भर्तव को नही झेलेगी। आदित्य पंचोली द्वारा किये गए दुष्कर्मो को मीडिया के सामने रखा।वो दूसरी लड़कियों को बाहर आने के लिए प्रेरित करती है। बॉलीवुड में हो रहे नेपोटिसम पे उन्होंने ने ही बेहेस छेड़ी। ये बेबाकपन उनकी शक्ति है और उनकी निडरता दिखाती है।

अपने आप को नई चीज़े करने के लिए मजबूर करना

कहने को तो कंगना एक अभिनेत्री हैं पर 2018 में आई मणिकर्णिका में पहली बार निर्देशन किया और फ़िल्म प्रोड्यूस की। वो नए नए काम करने के लिए उत्सुक हैं और सब में निपुण बनाना चाहती हैं। ये स्वभाव दर्शाता है कि सीखने की कोई उम्र नहीं होती और ये की आपको अपने आप पे रोक नहीं लगाना चाहिए। अगर आपकी इच्छा है तो आपको आगे बढ़ना चाहिए।

एक्टिंग की बात करें तो अब वो अलग अलग किसम के रोल अदा करती है जैसे क्वीन, तनु वेड्स मनु और सिमरन। उनकी फिल्म करने की कला बहुत ही अलग और आश्चर्यजनक है।

समाज की दिक्कतों को सुलझाना

कंगना की बहन रंगोली एक एसिड अटैक सर्वाइवर हैं और कंगना ने उन लोगों की दिक्कते समझी जो इस से गुज़र रही है और उनकी आर्थिक तौर से सहायता की और उन्हें शरण दिया। ये उनकी महानता दर्शाता है और उनका बद्दप्पन दिखाता है।

बोलने का ढंग नहीं बल्कि आप क्या महसूस करते हैं वो ज़रूरी है

कंगना को उनके अंग्रेज़ी बोलने के अजीब ढंग पे बहुत टिप्पणी झेलना पड़ा। भम्भाला, हिमाचल प्रदेश से आई एक छोटे परिवार की लड़की को जब उसके अंग्रेज़ी बोलने पे कहा गया, बुरा मानने के बजाए उहनों ये भाषा सीखी और अब वो इस भाषा में काफ़ी सरल तरह बोल लेती हैं और उन्होंने लोगों को ये बता दिया कि जो आप महसूस करते हैं, उसकी तीव्रता आप अपने बोलने के ढंग से कम नहीं कर सकते।

Recent Posts

टोक्यो ओलंपिक: पीवी सिंधु का सामना आज सेमीफाइनल में चीनी ताइपे की Tai Tzu Ying से होगा

आज के मैच में जो भी जीतेगा उसका सामना आज दोपहर 2:30 बजे चीन के…

23 mins ago

COVID के समय में दोस्ती पर आधारित फिल्म बालकनी बडीज इस दिन होगी रिलीज

एक्टर अनमोल पाराशर और आयशा अहमद के साथ बालकनी बडीज में दिखाई देंगे। इस फिल्म…

32 mins ago

COVID-19 डेल्टा वैरिएंट है चिकनपॉक्स जितना खतरनाक, US की एक रिपोर्ट के मुताबित

यूनाइटेड स्टेट्स के सेंटर फॉर डिजीज कण्ट्रोल की एक स्टडी में ऐसा सामने आया कि…

37 mins ago

किसान मजदूर की बेटी ने CBSE कक्षा 12 के रिजल्ट में लाये पूरे 100 प्रतिशत नंबर, IAS बनकर करना चाहती है देश सेवा

उत्तर प्रदेश के बडेरा गांव की एक मज़दूर वर्कर की बेटी अनुसूया (Ansuiya) ने केंद्रीय…

58 mins ago

गौहर खान का खुलासा, पति ज़ैद दरबार नहीं करते शादी अगर नहीं मानती उनकी ये विश

एक्ट्रेस गौहर खान ने खुलासा किया कि पति जैद दरबार उनकी एक विश पूरी ना…

2 hours ago

कौन है अशनूर कौर ? इस एक्ट्रेस ने लाए 12वी में 94%

अशनूर कौर एक भारतीय एक्ट्रेस और इन्फ्लुएंसर हैं जिनका जन्म 3 मई 2004 में हुआ…

2 hours ago

This website uses cookies.