पंडिता रमाबाई सरस्वती उन महिलाओं में से हैं जिन्होंने परंपराओं के खिलाफ जाकर लड़ाई लड़ी। वह नारीवादी और शिक्षिका थी, जिन्होंने 19वीं शताब्दी की भारत में रहने वाली एक महिला के रूप में बाधाओं और उम्मीदों को तोड़ा। 29 साल की उम्र में पंडिता रमाबाई ने द हाई कास्ट हिन्दू वीमेन नामक पुस्तक लिखी जिसमें उन्होंने पैट्रीआर्की के खिलाफ लिखा

image

उनके बारे में जानने के लिए कुछ बातें :

1 उनकी पुस्तक ‘ द हाई कास्ट हिन्दू ‘ में उन्होंने विशेष रूप से पितृसत्तात्मक संस्कृति के बारे में लिखा जैसे वह महाराष्ट्र में थी। एक महिला के लिए 19वीं सदी के अंत में अपने धर्म और जाती के नकारात्मक पहलुओं को खुले तौर पर लिखना करना कोई छोटी उपलब्धि नहीं है।

2 उन्होंने न केवल ब्रिटेन, बल्कि अमेरिका में भी पढ़ाई की है। पंडिता रमाबाई ने जापान और ऑस्ट्रेलिया में लेक्चर देने के साथ साथ संस्कृत और अपनी मातृभाषा मराठी की सिखायी।

3. रमाबाई ने पितृसत्ता की सीधे टक्कर देते हुए एक निचली जाति के व्यक्ति से शादी करने का फैसला लिया। अपनी शादी के 2 साल बाद विधवा हो गई, लेकिन वह तब बी अपना सर ऊँचा करके रहती रही, जो उन्हें की अन्य महिलाओं के लिए शक्ति और प्रेरणा का स्त्रोत बनाता है ।

4 अपनी पुस्तक से इकठ्ठा किये गए धन के साथ उन्होंने हिन्दू विधवाओं के लिए एक रेजिडेंशियल स्कूल खोला। उन्हीने विधवा महिलाओं को शिक्षा प्रदान की, जिन्हें समाज ने त्याग दिया था। यह विधवाओं को औपचारिक और नियमित स्कूली शिक्षा और वोकेशनल ट्रेनिंग देने वाला पहला संगठन था।

5 पंडिता रमाबाई ने चिकित्सा में महिलाओं के उपस्थिति की वकालत की। आज महिला रोगियों के लिए महिला चिकित्सक मौजूद होना आम प्रचलन है। हालाँकि, इसे सबसे पहले रमाबाई ने ही संबोधित किया था। उन्होंने यह भी मांग की कि महिलाओं के कुछ उपचारों के लिए चिकित्सा क्षेत्र में अधिक महिलाओं की उपस्थिति की आवश्यकता है।

6 पंडिता रमाबाई वास्तव में एक उल्लेखनीय महिला थी जिन्होंने महिलाओं की शिक्षा को बढ़ावा दिया और महिलाओं के अधिकारों और सशक्तिकरण के मिसाल पेश की। एक उच्च जाती की महिला के रूप में, जिन्होंने शिक्षा के प्रसार के लिए अपने विशेषाधिकार का इस्तेमाल किया।

7 1990 तक, पंडिता रमाबाई मुक्ति मिशन में 1550 से अधिक निवासी और 100 से अधिक मवेशी थे। यह आज तक भी एक्टिव है। यह विसधवों, अनाथों, अंधों और कई ज़रूरतमंद समुंहों के लिए आवास, शिक्षा, व्यावसायिक प्रशिक्षण और चिकित्सा सेवाएं प्रदान करता है।

Email us at connect@shethepeople.tv