फ़ीचर्ड

लड़कियों और महिलाओं के लिए इस दुनिया को बेहतर जगह कैसे बनायें

Published by
Udisha Shrivastav

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर शीदपीपल ने प्रेरणादायक महिलाओं से यह प्रश्न पुछा कि वे दुनिया को लड़कियों और महिलाओं के लिए एक बेहतर जगह बनाने के लिए क्या करेंगी?

उनका कहना है:

“एक चीज जो मैं दुनिया को लड़कियों के लिए बेहतर जगह बनाने और महिलाओं के विकास के लिए करूंगी, वह यह कि महिलाएं अन्य महिलाओं का समर्थन करें और उन्हें बढ़ावा दें। लोगों के लिए यह कहना आम है कि पुरुषों को महिलाओं के लिए उपयुक्त माहौल बनाना पड़ता है। लेकिन ईमानदारी से कहें तो यह महिलाएं हैं जो महिलाओं को बना या बिगाड़ सकती हैं। यदि कोई महिला अपने बेटे को बौद्धिक, भावनात्मक, पेशेवर और आध्यात्मिक रूप से विकसित होने के लिए अपने जीवन में महिलाओं के लिए सम्मान और प्रयास करना सिखाती है, तो समाज में परिवर्तन जरूर आता है”, एडवोकेट पुनीत भसीन, साइबर लॉ एक्सपर्ट फाउंडर कहती हैं।

“एक बात जो मैं दुनिया को लड़कियों और महिलाओं के लिए एक बेहतर जगह बनाने के लिए करुँगी, वह यह है कि हर जगह महिलाओं और लड़कियों के खिलाफ हिंसा के लिए एक सख्त शून्य सहिष्णुता की नीति लागू की जाए। कार्यस्थल, स्कूलों, सार्वजनिक स्थानों, आदि में कोई अपवाद न बनाया जाये।” सेफ्टीडॉटकॉम की संस्थापक डॉ श्रुति कपूर ने कहा।

महाबानू मोदी-कोतवाल, रंगमंच कलाकार और लैंगिक अधिकार कार्यकर्ता कहती हैं, “मेरे अनुसार, इस दुनिया को बनाने के लिए शिक्षा सबसे महत्वपूर्ण है और विशेष रूप से हमारे देश को हर लिंग के व्यक्ति के लिए एक बेहतर स्थान बनाने के लिए। शिक्षा केवल लड़कियों के लिए नहीं है, बल्कि लड़कों के लिए भी है। ताकि लैंगिक समानता, लैंगिक सम्मान और लैंगिक जागरूकता के बारे में उनका दृष्टिकोण उनके दिमाग को खोले और उन्हें पुराने लिंग पक्षपाती विचारों, रीति-रिवाजों, अनुष्ठानों आदि के बारे में पता चले।”

सारिका भट्टाचार्य जो ‘बियॉन्ड डाइवर्सिटी फाउंडेशन’ की सीईओ हैं, उन्होंने कहा, “आर्थिक स्वतंत्रता प्राप्त करने और अपने चुने हुए व्यवसायों में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए महिलाओं और लड़कियों को शिक्षित करना और उन्हें बेहतर बनाना ही हमारा लक्ष्य है।”

महिलाओं और लड़कियों को उनकी और उनकी आसपास की दुनिया से अवगत कराएं। उन्हें सांस्कृतिक पूंजी दें। चीखने-चिल्लाने और रोने के लिए उन्हें उनकी आवाज़ देने की ज़रूरत है। प्रिया मलिक, अभिनेत्री और स्पोकन वर्ड परफॉर्मर की संस्थापक कहती हैं।

“मैं यह सुनिश्चित करुँगी कि कई स्मार्ट और सफल रोल मॉडल युवा लड़कियों के आसपास रहें जो उन्हें सफल होने का विश्वास दिलाती रहें। ऐसा करने के लिए मैं सभी वरिष्ठ महिलाओं, विशेष रूप से उन लोगों से पूछूँगी जिन्होंने खुद को अधिक मुखर बनाने और सार्वजनिक स्थानों पर दिखाई देने के लिए बाधाओं और रूढ़ियों को दूर किया है”, अपूर्वा पुरोहित, जागरण प्रकाशन लिमिटेड की अध्यक्ष कहती हैं।

“यह उच्च समय है जब हमे अपनी दुनिया को महिला केंद्रित बनाने की ज़रूरत है। मैं यह सुनिश्चित करना चाहती हूं कि सरकार, न्यायपालिका, पुलिस, कॉरपोरेट्स, आदि में शीर्ष स्तर पर महिलाओं का प्रतिनिधित्व हर स्तर पर हो। यह सबसे तेज़ तरीका नहीं हो सकता है, लेकिन यह सही दिशा में एक शुरुआत होगी”, नीलम कुमार कहती हैं। नीलम एक लेखक, प्रेरक अध्यक्ष और जीवन कौशल कोच हैं।

लेखक एनी जैदी कहती हैं, ”मैं यह सुनिश्चित करूंगी कि संपत्ति, विशेष रूप से भूमि, बेटियों और बहनों के पास जाए। यदि हम दहेज, बेरोजगारी, कन्या भ्रूण हत्या, जबरन विवाह आदि से संबंधित मुद्दों को हल करना चाहते हैं, तो महिलाओं के लिए संपत्ति विरासत और आवास के अधिकारों को लागु कर देना चाहिए।”

इतिहासकार और लेखक इरा मुछोटी कहते हैं, “अगर मैं महिलाओं के जीवन को बेहतर बनाने के लिए एक काम कर सकती हूँ तो मैं महिलाओं को सभी महत्वपूर्ण भूमिकाओं और संस्थानों में प्रभारी बनाना चाहूंगी। महिलाओं के उन पदों पर स्थान देना चाहिए जहां वे कानून दे सकती हैं, न्याय दे सकती हैं, कानून बना सकती हैं, और सुरक्षित कामकाजी माहौल बना सकती हैं।

एक बात जो मैं दुनिया को महिलाओं और लड़कियों के लिए एक बेहतर जगह बनाने के लिए करुँगी, वह यह सुनिश्चित करना है कि हम लड़कों की परवरिश के तरीके को बदल दें। हमें यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि लड़कों और लड़कियों दोनों के पालन-पोषण में किसी भी प्रकार का लिंग पूर्वाग्रह न हो, तभी लड़कियों और महिलाओं को समान माना जाएगा। डॉ स्वाति पोपट वत्स, अध्यक्ष – पोडर एजुकेशन नेटवर्क कहती हैं।

Recent Posts

गौहर खान का खुलासा, पति ज़ैद दरबार नहीं करते शादी अगर नहीं मानती उनकी ये विश

एक्ट्रेस गौहर खान ने खुलासा किया कि पति जैद दरबार उनकी एक विश पूरी ना…

10 mins ago

कौन है अशनूर कौर ? इस एक्ट्रेस ने लाए 12वी में 94%

अशनूर कौर एक भारतीय एक्ट्रेस और इन्फ्लुएंसर हैं जिनका जन्म 3 मई 2004 में हुआ…

52 mins ago

कमलप्रीत कौर कौन हैं? टोक्यो ओलंपिक के फाइनल में पहुंची ये भारतीय डिस्कस थ्रोअर

वह युनाइटेड स्टेट्स वेलेरिया ऑलमैन के एथलीट के साथ फाइनल में प्रवेश पाने वाली दो…

2 hours ago

टोक्यो ओलंपिक 2020: भारतीय डिस्कस थ्रोअर कमलप्रीत कौर फ़ाइनल में पहुंची

भारत टोक्यो ओलंपिक में डिस्कस थ्रोअर कमलप्रीत कौर की बदौलत आज फाइनल में पहुचा है।…

3 hours ago

This website uses cookies.