फ़ीचर्ड

मैं लॉकडाउन में भी खुश हूँ। जानिए क्यों

Published by
STP Hindi Editor

COVID-19 ने हम सभी को अपने डेली लाइफ के रूटीन से अनएक्सपेक्टेड ब्रेक दे दिया है। शायद से सब लोग मेरी एक बात से सहमत होंगे कि पहले तो रविवार भी कभी रविवार की तरह नहीं लगता था क्योंकि हम कुछ न कुछ करने में व्यस्त रहते ही थे । लेकिन अब, हमारे पास बहुत टाइम है; अब हम आराम कर सकते हैं और नए रिलेशनशिप्स भी बना सकते हैं

लेकिन हर टाइम नेगेटिव न्यूज़ सुनना हमारे मेन्टल हेल्थ के लिए ख़राब भी हो सकता है । इसी वजह से हमे ही लॉकडाउन के पॉजिटिव साइड पे भी ध्यान देना चाहिए । जैसे की, वैदर रिपोर्ट्स देखना। अब वो इतनी पॉजिटिव हैं की मैं भी आपको क्या बताऊं। कुछ रेपर्टस से ये पता चला है की अब हमारे वर्ल्ड का मौसम धीरे धीरे ठीक होता जा रहा है और पॉलुशन लेवल बहुत हद तक कंट्रोल भी हुआ है । इतने टाइम से हम लोग एक ज़हरीली हवा में रह रहे थे, लेकिन अब वो साफ़ हो गयी है जो की हमारी हेल्थ के लिए अच्छा है ।

इस लॉक डाउन मेरी ज़िन्दगी में तो बहुत बदलाव लाया है । वो भी कई पॉजिटिव बदलाव जैसे की

कई गैप्स भरे

ये ऐसा टाइम है जहा कोई भी इंसान कोई कन्वर्सेशन अधूरी छोड़ कर किसी भी बहाने से भाग नहीं सकता, इसी चीज़ का फायदा उठाते हुए मैंने कई गलतफ़हमियों को क्लियर किया और नयी रिलेशनशिप्स बिल्ड अप की । ये सब हमारे डेली रूटीन में नहीं हो पाता । कई बार ऐसा भी होता है की आप गलतफहमियां क्लियर करना चाहते हो लेकिन सामने वाले के पास टाइम न हो, अब ऐसा कुछ होने की वजह ही नहीं है ।

खुद के लिए सोचा

आज कल मेरे पास ऑनलाइन क्लासिस अटेंड करने के अलावा कुछ नहीं बचा, इसलिए मैंने बचह हुआ टाइम अपने ऊपर इन्वेस्ट करने की सोची। मुझे इससे एक क्लियर अंडरस्टैंडिंग मिली की अब ग्रेजुएशन के बाद क्या करना है और कैसे करना है। उस चीज़ को ध्यान में रखते हुए, मैंने अपनी कमज़ोरियों पर काम करना शुरू कर दिया है।

कुछ नयी चीज़े स्टार्ट करना

ये टाइम ऐसी चीज़े करने के लिए सबसे सही है जो आप पहले नहीं कर सकते थे, क्योंकि आपके पास कोई समय नहीं था । खैर अब आपके पास बहुत टाइम है और आपको जज करने वाला कोई नहीं है। इसलिए अगर आप नयी चीज़ करने में पास न भी हो तो आपके पास उससे ठीक करने का बहुत टाइम है।

फैमिली टाइम

जब हमारी लाइफ एक रूटीन से चल रही होती है तब हमारे पास फैमिली के साथ स्पेंड करने ही टाइम नहीं होता था । पर अब, कोई ऑफिस नहीं है, कोई कॉलेज नहीं है, दोस्तों के साथ कोई पार्टी नहीं है तो हमारे पास परिवार के साथ स्पेंड करने के लिए काफी टाइम है ।

(यह आर्टिकल महिमा गुप्ता द्वारा लिखा गया है)

Recent Posts

गहना वशिष्ठ का वीडियो सोशल मीडिया पर हुआ वायरल : इंस्टाग्राम पर नग्न होकर दर्शकों से पूछा कि क्या यह अश्लीलता है?

गंदी बात अभिनेत्री गहना वशिष्ठ (Gehana Vasisth) की एक इंस्टाग्राम लाइव वीडियो सोशल मीडिया पर…

2 hours ago

बच्चों को कोरोना कितने दिन तक रहता है? लांसेट स्टडी में आए सभी जवाब

कोरोना की तीसरी लहर जल्द ही शुरू होने वाली है और एक्सपर्ट्स का ऐसा कहना…

2 hours ago

गहना वशिष्ठ वायरल वीडियो : कैमरे के सामने नग्न होकर दर्शकों से पूछा कि क्या वह अश्लील लग रही है ?

वशिष्ठ ने कैमरे के सामने नग्न होकर अपने दर्शकों से पूछा कि क्या वह अश्लील…

3 hours ago

अक्षय कुमार और लारा दत्ता की फिल्म बेल बॉटम (Bell Bottom) से जुड़ीं 10 बातें

इस फिल्म में एक्ट्रेस लारा दत्ता इंदिरा गाँधी का किरदार निभा रही हैं और अक्षय…

3 hours ago

दिल्ली कैंट गर्ल रेप केस: राहुल गाँधी बच्ची के परिवार से मिलने पहुंचे

परिवार से मिलने के कुछ समय बाद, गांधी ने हिंदी में ट्वीट किया और कहा…

3 hours ago

बेल बॉटम ट्रेलर : ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा लारा दत्ता ट्रांसफॉर्मेशन (Bell Bottom Trailer)

दत्ता ट्रेलर में पहचान में न आने के कारण ट्विटर पर ट्रेंड कर रही हैं।…

4 hours ago

This website uses cookies.