फ़ीचर्ड

क्या नौकरी बदलने का समय आ गया है ? जानिए 4 Signs

Published by
Harshita Pandey

आज के इस दौर में, महिलाएँ बेहद सक्षम और मजबूत हो गई हैं। वो घर के कामों के साथ, अपनी नौकरी को भी बखूबी रूप से मैनेज  करती हैं। और हर काम में बेहद सफल भी रहती हैं।

मगर कई बार महिलाएँ अपनी जॉबनौकरीसे बेहद परेशान और तनाव ग्रस्त हो जाती हैं। और कई मामलों में तो वो अपने तनाव का कारण भी समझ नहीं पाती कि ऐसा क्यों हो रहा है। अपनी जॉब से होने वाले तनाव को न समझ पाना कोई इतनी अलग बात नहीं है, यह बेहद मामूली है। और यह सोचना बेहद सामान्य कि इतनी अच्छी नौकरी है, सैलरी है तो जरूर तनाव का कारण कुछ दूसरा होगा। मगर ध्यान रहें, चीज़े हकीकत से उलट भी हो सकती हैं ।

नीचे 4 signs बताये गए है, अगर आप इन signs को खुद के जीवन से जुड़ा पाती है तो आपके तनाव का कारण आपकी नौकरी हो सकती है। और आपको अपनी जॉब बदल लेने की जरूरत है।

1. हर वक्त चिढ़चिढ़ा रहना ।

अगर आप अपने काम के वक्त हमेशा चिढ़चिढ़ी रहती है तो इसका मतलब है कि आपका अपनी जॉब में मन नहीं लगता है। और आप अपनी नौकरी से खुश नही हैं।

यदि चीज़े आपने ठीक समय से नहीं बदली तो आप इस कारण काफ़ी परेशान हो जाएंगी और तनाव से भी ग्रस्त हो सकती हैं। आपको जरूरत है इस काम को छोड़, उस काम को करने कि जिसमें आप खुश रह सकें। ऐसा करने से आपका स्वभाव भी आसानी से शांत हो जाएगा।

2. सैटिस्फैक्शन ( satisfaction ) न मिलना ।

दिनभर काम करने के बाद भी, यदि आपको अपने काम से खुशी न मिलें। और संतुष्टि के बजाये आपका मन और ज्यादा परेशान हो जाये तो समझ लें आप अपने प्रेजेंट जॉब से खुश नहीं हैं। और अब आपको जरूरत है अपनी नौकरी बदलने की ।

3. छोटा काम भी बोझ लगना ।

यह बेहद सामान्य बात है कि जिस काम को करने में आपको खुशी मिलती है , वो काम कभी भी आपको बोझ नहीं लगेगा। क्योंकि आप उस काम को करने में बेहद खुश हैं।

अब यदि आपको अपनी प्रेजेंट नौकरी में हर छोटा काम भी बोझ लगता है, और उसको करने का बिल्कुल मन नहीं करता है तो इसका साफ मतलब है कि आप अपनी इस नौकरी में खुश नही हैं। और आपको इस नौकरी को छोड़ने की जरूरत है।

4. जॉब में जाने का मन न करना ।

एक छोटा बच्चा अपने स्कूल जाते वक्त बहुत रोता है और तरह-तरह के बहाने बनाते है, ताकि वो स्कूल न जा पाएँ। वो ऐसा इसीलिए करता है क्योंकि उसे उस माहौल की अभी आदत नहीं पड़ी हैं और वो अपने घर के लोगो से दूर नहीं जाना चाहता है। लेकिन यहाँ पर यह भी साफ़ है कि उस छोटे बच्चे को अभी स्कूल जाने के महत्त्व का नहीं पता है।

पर यहाँ जब हम बड़ों के जॉब से दूर भागने की बात करते है तो वो थोड़ी अलग और जटिल होती है।

बड़े अपनी नौकरी पर जाने के महत्व को अच्छे से समझते है मगर फिर भी अगर उनका मन वहाँ जाने को नहीं करता तो यह साफ है कि उन्हें अपनी जॉब अपने अनुरूप नहीं लगती है। इसपर उन्हें जरूरत है अपनी प्रेजेंट जॉब को छोड़, उस काम की खोज़ में निकलने की जिसमें उनका मन लग सके और वो आगे खुश रह पाएँ।

पढ़िए : क्या आप Online Jobs ढूंढ रहे हैं ?

Recent Posts

बच्चों को कोरोना कितने दिन तक रहता है? लांसेट स्टडी में आए सभी जवाब

कोरोना की तीसरी लहर जल्द ही शुरू होने वाली है और एक्सपर्ट्स का ऐसा कहना…

15 mins ago

गहना वशिष्ठ वायरल वीडियो : कैमरे के सामने नग्न होकर दर्शकों से पूछा कि क्या वह अश्लील लग रही है ?

वशिष्ठ ने कैमरे के सामने नग्न होकर अपने दर्शकों से पूछा कि क्या वह अश्लील…

41 mins ago

अक्षय कुमार और लारा दत्ता की फिल्म बेल बॉटम (Bell Bottom) से जुड़ीं 10 बातें

इस फिल्म में एक्ट्रेस लारा दत्ता इंदिरा गाँधी का किरदार निभा रही हैं और अक्षय…

47 mins ago

दिल्ली कैंट गर्ल रेप केस: राहुल गाँधी बच्ची के परिवार से मिलने पहुंचे

परिवार से मिलने के कुछ समय बाद, गांधी ने हिंदी में ट्वीट किया और कहा…

1 hour ago

बेल बॉटम ट्रेलर : ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा लारा दत्ता ट्रांसफॉर्मेशन (Bell Bottom Trailer)

दत्ता ट्रेलर में पहचान में न आने के कारण ट्विटर पर ट्रेंड कर रही हैं।…

2 hours ago

लवलीना का ओलंपिक सेमीफाइनल देखने के लिए 30 मिनट के लिए स्थगित रहेगी असम विधानसभा

असम विधानसभा के चल रहे बजट सत्र की कार्यवाही बुधवार को टोक्यो ओलंपिक में असम…

2 hours ago

This website uses cookies.