ज़िंदगी की रफ़्तार इस कदर बढ़ गई है कि हम ना अपने लिए समय निकल पाते हैं, और न ही अपनों को समय दे पाते हैं। सुबह ऑफिस जाने की जल्दी, शाम को ऑफिस से घर आने की जल्दी, और घर आकर घर के काम निपटने की जल्दी। और तो और, यह सब खत्म हो तो जल्दी सोने, क्योंकि भई जल्दी सोयेंगे तभी तो अगले दिन ऑफिस जाने के लिए जल्दी उठ पाएंगे! और यह सिलसिला रोज़ चलता ही रहता है।

image

अब रही बात छुट्टी के दिन की, तो छुट्टी का दिन या तो हफ्ते भर की थकान उतारने में या घर के बाकी काम करने में निकल जाता है।

लेकिन क्या आपको नहीं लगता इस सब के बीच आपके बच्चों को आप समय दे पाते हैं? ज़्यादातर लोगों का उत्तर होगा, नहीं। क्या कभी आपने सोचा है अपने बच्चों के साथ समय बिताना क्यों ज़रूरी है? अगर नहीं, तो आइये जानते हैं:

1। वह आपसे सब कुछ शेयर करने में हिचकिचाएंगे नहीं

जितना ज़्यादा आप उनके साथ समय बिताएंगे, उतना ही वह आपसे कम्फर्टेबल हो पाएंगे। इसके चलते, वह आपसे सब कुछ शेयर कर पाएंगे, जो की काफी अच्छी बात है, न केवल उनके लिए पर आपके लिए भी।

2। बच्चे की ओवरॉल डेवलपमेंट पर आपका ध्यान रहता है

उनकी पढ़ाई, उनके दोस्त कैसे हैं, आप हर चीज़ का ध्यान रख सकते हैं। ऐसे में, बच्चों के बिगड़ने के चान्सेस कम हो जाते हैं।

3। आप उनके पेरेंट्स से पहले उनके दोस्त बनते हैं

क्योंकि उन्हें आपसे हिचकिचाहट नहीं होगी, आप उनके पेरेंट्स से पहले उनके दोस्त बन जाते हैं। यकीन मानिये, यह कोई ब्लैसिंग से कम नहीं है।

4। बच्चे अकेलापन महसूस नहीं करते

अगर उनके बैस्ट फ्रैंड्स उनके साथ समय बिताएंगे, तो वह भला अकेला क्यों महसूस करेंगे? इसलिए, बनिये उनके बैस्ट फ्रैंड और उनके साथ ज़्यादा-से-ज़्यादा समय बिताएं।

5। बच्चों को ख़ुशी मिलती है

एक माँ-बाप के लिए सबसे ज़्यादा ज़रूरी क्या होता है? अपने बच्चे की ख़ुशी, है ना? एक बच्चे के लिए उसके माँ-बाप ही उसकी दुनिया होते हैं। ऐसे में, अगर आप उनके साथ समय बिताते हैं, तो देखिएगा उन्हें कितनी ख़ुशी मिलती है। आपके बच्चे के चेहरे पर आयी मुस्कराहट से आपके पूरे हफ्ते की थकन यूँ ही उतर जाएगी

Email us at connect@shethepeople.tv