आश्रिता वी ओलेटी नए कीर्तिमान बनाते हुए देश की पहली महिला फ्लाइट टेस्ट इंजीनियर बनी है। इंडियन मिलिट्री में पहली बार इंडियन एयर फाॅर्स (IAF) की एक महिला अफसर ने एयर फाॅर्स के पायलट स्कूल से ग्रेजुएशन पास किया है। इस बात की जानकारी पायलट स्कूल में कार्यरत इंडियन एयर फाॅर्स की ऑफिसर्स ने रविवार को दी।

1. कौन है आश्रिता वी ओलेटी ?

स्क्वाड्रन लीडर आश्रिता वी ओलेटी कर्नाटक की रहने वाली है। वे चामराजनगर, कोल्लेगल की निवासी है। उन्होंने अपनी इंजीनियरिंग की पढ़ाई बेंगलुरु के एम वी जे कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग से की है। पायलट स्कूल की 43rd फ्लाइट स्कूल की फ्लाइट टेस्ट कोर्स ऑफ़ एयरक्राफ्ट एंड सिस्टम्स टेस्टिंग इस्टैब्लिशमेंट (ASTE) के पूरे एक साल के कोर्स के बाद वो अपने बैच से अकेली महिला है जिन्होनें ये कोर्स पास किया है। आश्रिता ने ये कोर्स एयर फाॅर्स टेस्ट पायलट्स स्कूल (AFTPS) जो खुद ASTE का एक हिस्सा है और इंडियन एयर फाॅर्स का प्रीमियर यूनिट है से पास किया है।

2. क्या होगा आश्रिता का काम ?

स्क्वाड्रन लीडर आश्रिता वी ओलेटी अब देश की पहली महिला फ्लाइट टेस्ट इंजीनियर है। इसके तहत उन्हें एयरक्राफ्ट और एयरबोर्न सिस्टम्स का निरिक्षण करना पड़ेगा। उनके निरिक्षण को सफलतापूर्वक पास करने के बाद ही ये एयरक्राफ्ट और एयरबोर्न सिस्टम्स को आर्म्ड फोर्सेज में शामिल किया जा सकेगा।

3. क्या कहा आश्रिता के परिवार ने ?

आश्रिता के परिवार में सभी लोग उनकी इस सफलता से काफी खुश हैं। उन्होंने बताया की जब से इस कोर्स की शुरुवात 1973 में हुई है तबसे लेकर आज तक इसे केवल 275 लोग ही ग्रेजुएट कर पाएं हैं। ऐसे में उनकी बेटी इस कोर्स को पास करने वाली पहली महिला बनी है ये उन सब के लिए बहुत ही गर्व की बात है।

4. क्या है इंडियन मिलिट्री में महिलाओं की स्तिथि ?

इंडियन मिलिट्री के मेडिकल विंग में महिलाओं ने बरसों से अपनी सेवा दी है। इसके अलावा भी इंडियन आर्मी में अभी 6807 महिला अफसर कार्यरत हैं। इंडियन एयर फाॅर्स में कुल 1607 और इंडियन नेवी में कुल 703 महिला ऑफिसर्स हैं। परसेंटेज के हिसाब से देखा जाये तो ये आकड़े बहुत कम है जिन में दिन-प्रतिदिन सुधर हो रहा है। ऐसी परिस्थिति में आश्रिता वी ओलेटी का देश की पहली महिला फ्लाइट टेस्ट इंजीनियर बनाना एक काफी पॉजिटिव न्यूज़ है।

Email us at connect@shethepeople.tv