रेप और हत्या की कोशिश का आरोप लगाने वाली एक्ट्रेस Pori Moni खुद ड्रग्स मामले में गिरफ्तार

रेप और हत्या की कोशिश का आरोप लगाने वाली एक्ट्रेस Pori Moni खुद ड्रग्स मामले में गिरफ्तार रेप और हत्या की कोशिश का आरोप लगाने वाली एक्ट्रेस Pori Moni खुद ड्रग्स मामले में गिरफ्तार

SheThePeople Team

06 Aug 2021


पोरी मोनी ड्रग्स केस (Pori Moni drugs case) : लोकप्रिय बांग्लादेशी अभिनेत्री पोरी मोनी ने 8 जून को बोट क्लब में बलात्कार और हत्या करने का आरोप लगाया था। लेकिन अब पुलिस की elite anti-crime यूनिट Rapid Action Battalion (RAB) ने उन्हें ही हिरासत में लिया है।

पोरी मोनी ड्रग्स केस : पोरी मोनी की घर पड़ा छापा , ड्रग्स और शराब हुई बरामद

RAB के कानूनी और मीडिया विंग के डायरेक्टर कमांडर खांडाकर अल मोइन ने आईएएनएस को पुष्टि की, ढाका के बनानी में उनके आवास पर चार घंटे की छापेमारी के बाद बुधवार रात करीब 9 बजे उन्हें इलीट फाॅर्स के मुख्यालय ले जाया गया। उसे हिरासत में लेने से पहले, RAB ने दावा किया था कि उन्होंने छापेमारी के दौरान उसके कब्जे से ड्रग्स और शराब बरामद की थी। गुरुवार सुबह उसे ढाका की एक अदालत में पेश किया जाएगा।

पोरी मोनी ने इस व्यक्ति पर लगाया था यौन उत्पीड़न का आरोप

पोरी मोनी के नाम से मशहूर शमसुन्नहर स्मृति ने दावा किया था कि 8 जून को बोट क्लब के पूर्व अध्यक्ष और बिज़नेसमैन और राजनेता गुलशन ऑल कम्युनिटी क्लब के डायरेक्टर नासिर उद्दीन महमूद ने उन पर हमला किया था। उसने महमूद पर बोट क्लब में यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया। लेकिन वह कोई मामला दर्ज नहीं करा पाई, क्योंकि आरोपी बांग्लादेश की Inspector General of Police बेनजीर अहमद का करीबी दोस्त है।

महमूद को पुलिस की जासूसी शाखा ने तीन महिलाओं और उसके करीबी सहयोगी तुहिन सिद्दीकी ओमी, एक ड्रग डीलर के साथ गिरफ्तार किया था, जब उन्होंने महिला तस्करी और ड्रग डीलिंग के अपने अपराधों को कबूल कर लिया था। एक हफ्ते बाद, पोरी मोनी पर 7 जून की रात गुलशन ऑल कम्युनिटी क्लब में के.एम. क्लब के अध्यक्ष आलमगीर इकबाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी।

ढाका मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट मोहम्मद जशीम ने नारकोटिक एक्ट के तहत दर्ज मामले में जमानत का आदेश दिया। इसके बाद, महमूद और उसके सहयोगियों लिपि अख्तर, सुमी अख्तर और नजमा अमीन स्निग्धा को रिहा कर दिया गया। महमूद जेल में नहीं था, बल्कि करीब 15 दिनों से पुलिस हिरासत में था।

पोरी मोनी ने पर मांगी थी मदद

डेली स्टार की रिपोर्ट के अनुसार, समसुन्नहर स्मृति (जिसका मंच का नाम पोरी मोनी है) ने शाम 4 बजे के आसपास एक फेसबुक लाइव किया जिसमे, उन्होंने पुलिस से मदद मांगी। "मैं दरवाजा खोलने से डरती हूं," उसने अपने लाइव में कहा, यह आरोप लगाते हुए कि कोई नकली पुलिस बन के उसे मारने के लिए उसके घर गया था। उसने पुलिस को फोन करने का दावा किया, लेकिन उनसे कोई पॉजिटिव रिस्पॉन्स नहीं मिला। "क्या तुम मेरे मरने के बाद आओगे? मैं सिर्फ दिल का दौरा या स्ट्रोक से मर सकती हूं, ”उसने अपने दर्शकों से लाइव पर कहा, रिपोर्टों के अनुसार।

आधे घंटे के बाद आरएबी ने उसके आवास की चार घंटे तक तलाशी ली। मॉडल और मीडिया हस्तियों सहित 'सिंडिकेट' ऑपरेशन में पहले ही कई गिरफ्तारियां की जा चुकी हैं। पोरी मोनी ड्रग्स केस पोरी मोनी ड्रग्स केस पोरी मोनी ड्रग्स केस


अनुशंसित लेख