AIR India Denies Women Her Seat: एयर इंडिया ने 85 वर्षीय महिला की सीट देने से इनकार किया, कन्फर्म सीट रिजर्वेशन के बावजूद, बोर्डिंग से इनकार किया 

AIR India Denies Women Her Seat: एयर इंडिया ने 85 वर्षीय महिला की सीट देने से इनकार किया, कन्फर्म सीट रिजर्वेशन के बावजूद, बोर्डिंग से इनकार किया  AIR India Denies Women Her Seat: एयर इंडिया ने 85 वर्षीय महिला की सीट देने से इनकार किया, कन्फर्म सीट रिजर्वेशन के बावजूद, बोर्डिंग से इनकार किया 

SheThePeople Team

17 Nov 2021


AIR India Denies Women Her Seat:  एक 85 वर्षीय महिला, जो एक अमेरिकी नागरिक और जोधपुर की मूल निवासी है, को सीट से वंचित कर दिया गया। महिला को कन्फर्म सीट रिजर्वेशन के बावजूद, बोर्डिंग से इनकार किया गया। महिला अकेले ट्रैवल कर रही थी और जब प्लेन में बैठने से इंकार किया गया तब उन्होंने अपने बेटे को संपर्क किया। जानिए क्यों माना किया एयर इंडिया ने महिला को प्लेन में जाने से।

क्या हुआ महिला के साथ एयरपोर्ट पर? 

कमानी भंडारी अपने घर जोधपुर जा रही थी। वह सोमवार को जोधपुर के लिए एक कनेक्टिंग फ्लाइट के साथ सैन फ्रांसिस्को से नई दिल्ली के लिए एयर इंडिया की फ्लाइट ले रही थी। कामिनी भंडारी को उनके बेटे ने एयरपोर्ट पर छोड़ा और फिर कामिनी एयरपोर्ट सिक्योरिटी चेकिंग के लिए चली गईं। उसके पास एक्जीक्यूटिव क्लास का टिकट, सुरक्षा मंजूरी और एक नकारात्मक कोविड -19 रिपोर्ट थी। लेकिन फिर भी उन्हें बोर्डिंग से मना कर दिया गया। 

वह अकेले यात्रा कर रही थी, उसने खुद को डिस्ट्रेस्ड, स्ट्रांडेड और अपमानित पाया और अपने बेटे को एयरपोर्ट पर दुबारा बुलाया। कामिनी ने बताया की, "मुझे पता नहीं चल रहा था की क्या हो रहा है। मेरा बेटा एयरपोर्ट आया और मैंने राहत की सांस ली।"

कामिनी भंडारी के बेटे संजय ने क्या बताया? 

85 वर्षीय कमानी भंडारी के बेटे संजय भंडारी जो एक आईटी प्रोफेशनल है ने बताया कि, "मेरी माँ कमानी भंडारी (85) सोमवार को सैन फ्रांसिस्को से नई दिल्ली के लिए उड़ान भर रही थीं, जो रात 8:30 बजे प्रस्थान करेगी और 17 नवंबर को दोपहर 1 बजे नई दिल्ली पहुंचेगी। मेरे द्वारा उन्हे छोड़ने के बाद, उन्होंने सुरक्षा जांच की और उनके पास एक वैध कोविड नेगेटिव रिपोर्ट थी। उन्हे बोर्डिंग पास भी दिया गया था। हालांकि, बोर्डिंग से कुछ मिनट पहले, एयरपोर्ट पर अधिकारियों ने उन्हें मना कर दिया, और कहा कि फ्लाइट बुकिंग अधिक हो गई थी और सीटें अनसर्विसेब थीं। मेरी माँ अनजान थी और फिर उन्होंने मुझे सूचित किया।"

इसके साथ ही, उसने यह भी कहा कि, "वह (कमानी) एक अमेरिकी नागरिक है और उसके पास भारत की विदेशी नागरिकता का कार्ड है और वह हमारे गृह नगर जोधपुर का जा रही थी।" संजय ने यह भी बताया की उसने अथॉरिटीज को उन्हे अगली फ्लाइट में डालने को कहा लेकिन उन्हें दिल्ली जाने का विकल्प दिया लेकिन वहां से कोई कनेक्टिंग फ्लाइट जोधपुर की नहीं होगी।" 

https://twitter.com/funartster/status/1460576670922928130?s=20

एयर इंडिया का क्या रिएक्शन है इस पर ? 

एयर इंडिया के एक स्पोकपर्सन ने कहा, "फ्लाइट की सभी सीट फुल थी और एक सीट अनुपयोगी थी। हमने अनुरोध किया था कि क्या कोई अपनी यात्रा पोस्टपोन कर सकता है क्योंकि उड़ान अधिक बुक थी और एक सीट सेवा योग्य नहीं थी। उनके बेटे की सहमति से एक और व्यवस्था की पेशकश की गई। सैन फ्रांसिस्को में एयर इंडिया के एयरपोर्ट के मैनेजर ने यात्री को एक अलग एयरलाइन पर दूसरी उड़ान प्राप्त करने में सुविधा प्रदान की, जो मंगलवार शाम को प्रस्थान करने वाली थी।" 

"हालांकि, एयर इंडिया के पास जोधपुर के लिए रोज उड़ान नहीं होती, इसलिए हम जल्द से जल्द उसके लिए एक ऑल्टरनेटिव और आरामदायक व्यवस्था करने की कोशिश कर रहे हैं। साथ ही, अमेरिका ट्रांसपोर्ट विभाग के नियमों के अनुसार, हम इस असुविधा के लिए उन्हें 1550 डॉलर का भुगतान कर रहे हैं।"


अनुशंसित लेख