हमारे घरों के आँगन एवं छतों पर पाई जाने वाली तुलसी, हिंदू मान्यताओं के अनुसार पूजनीय होती है। इसके घर में होने से सकारात्मक ऊर्जा की प्राप्ति होती है। आयुर्वेद में तुलसी का महान योगदान है। इसमें बहुत से रोगों से लड़ने की क्षमता होती है। शायद इसलिए इसे ‘क्वीन ऑफ हर्ब्स’ कहा जाता है। भारत में तुलसी विवाह की भी बहुत मान्यता है।

तुलसी के फायदे

तुलसी एक ऐसा पौधा है जिसे जड़ों से लेकर फूलों तक उपयोग में लिया जा सकता है। उसके नवीन फूलों से ब्रोंकाइटिस जैसी बीमारी ठीक होती है। उसकी पत्तियों, बीजों और काली मिर्च तीनों को मिलाकर मलेरिया जैसी बीमारी ठीक होती है। तुलसी में ऐसे आवश्यक तेल होते हैं जिनसे इंसेंट बाइट को ठीक किया जा सकता है। तुलसी में कुछ पोषक तत्व होते हैं जैसे विटामिन A, C, आयरन, जिंक, कैल्शियम आदि।

1) तुलसी से बढ़ती है इम्यूनिटी

तुलसी के बीजों में फ्लैवोनोइड्स और फेनोलिक शामिल होते हैं जो हमारे शरीर में इम्यूनिटी को मजबूत बनाते हैं। तुलसी एंटीऑक्सीडेंट गुणों से भरपूर होती है जो शरीर को फ्री-रेडिकल्स से होने वाले नुकसान से बचाती है। इम्यूनिटी सिस्टम स्ट्रांग होने से हमें बीमारियां कम लगती हैं और हम बीमारियों से मुकाबला करने में सक्षम होते हैं।

2) स्ट्रेस को करे दूर

इस भागदौड़ भरी जिंदगी में कई लोग मानसिक परेशानियों से जूझ रहे होते हैं। तुलसी के पत्तों में एंटी- स्ट्रेस एजेंट (Adaptogen) होते हैं, जो हमारे शरीर में मानसिक परेशानी और तनाव को ठीक करते हैं। तुलसी के सेवन से स्ट्रेस की वजह से पैदा होने वाले नकारात्मक विचारों से लड़ने में भी मदद मिलती है। तुलसी के फायदे

3) कैंसर से लड़ने में मददगार

कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी का भी इलाज आयुर्वेद में मौजूद है। तुलसी में यूजेनॉल कंपाउंड और फाइटोकेमिकल्स पाए जाते हैं, जो शरीर में कैंसर के सेल्स को बढ़ने से रोकते हैं। नियमित रूप से तुलसी का सेवन करने से स्किन, लिवर, ओरल और लंग कैंसर होने की संभावना बहुत कम होती है। तुलसी के फायदे

4) जुकाम और सर्दी में दे राहत

देखा जाए तो सर्दी-जुकाम बहुत आम बीमारी है। लेकिन लोगों को अक्सर इससे काफी परेशानी होती है। एंटीस्पास्मोडिक प्रभाव वाली तुलसी सर्दी और जुकाम से परेशान लोगों की मदद करती है। वहीं इसके सेवन से बुखार में भी राहत मिल सकती है।

5) कीड़ों को रखें दूर

कई सदियों से, सूखे हुए तुलसी के पत्तों को दल व अन्य अनाज के साथ रखा जाता है ताकि उनमें कीड़े ना पड़े और वे खराब भी ना हो।

** ऊपर दी गई जानकारी कई सूत्रों से ली गई है। तुलसी से कई लोगों को एलर्जी भी हो सकती है। अतः इसके सेवन से पहले अपने डॉक्टर की एडवाइस जरूर लें।

Email us at connect@shethepeople.tv